बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiइस लेडी की वजह से डूब रहा एक देश, राष्‍ट्रपति भी हुए नजरबंद

इस लेडी की वजह से डूब रहा एक देश, राष्‍ट्रपति भी हुए नजरबंद

आदमी की सफलता के पीछे किसी महिला का अहम रोल होता है। लेकिन जिम्‍बाब्‍वे के राष्‍ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के साथ ऐसा नहीं है।

1 of
नई दिल्‍ली... नई दिल्‍ली। कहते हैं हर आदमी की सफलता के पीछे किसी न किसी महिला का अहम रोल होता है। लेकिन जिम्‍बाब्‍वे के राष्‍ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के साथ ऐसा नहीं है। गरीबी से जूझ रहे जिम्‍बाब्‍वे के 94 साल के राष्‍ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे पर इन दिनों मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है। वह इन दिनों अपनी कुर्सी बचाने में जुटे हैं। वहीं जिम्‍बाब्‍वे की सेना ने मुगाबे को नजरबंद कर दिया है। इन मुश्किलों के लिए देश की मीडिया राष्‍ट्रपति की पत्‍नी ग्रेस मुगाबे को दोषी मान रही है।   तो आइए जानते हैं कि आखिर कैसे पत्‍नी की वजह से मुश्किलों में राष्‍ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे । आगे पढ़ें - क्‍या है फसाद की असल जड़  
 
 
 
 
क्या है फसाद की जड़ 
 
वैसे तो जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे रहे हैं लेकिन सत्ता का असली जड़ उनकी पत्नी और देश की प्रथम महिला ग्रेस मुगाबे ही थीं। दरअसल,  सारे फसाद की जड़ भी ग्रेस मुगाबे ही हैं। ग्रेस अपने पति और 94 साल के राष्‍ट्रपति‍ रॉबर्ट मुगाबे से सत्ता हथियाना चाहती थीं। इसकी बुनियाद उपराष्ट्रपति और सुरक्षा प्रमुख इमरसन मनंगावा को कुछ महीने पहले बर्खास्त करने के साथ रखी जा चुकी थी। यह फैसला ग्रेस मुगाबो के कहने पर ही राष्‍ट्रपति ने लिया था। अब सेना के हस्तक्षेप से खेल बिगड़ता दिख रहा है। आगे पढ़ें - राष्‍ट्रपति की दूसरी बीवी हैं ग्रेस मुगाबे 
 
कौन है ग्रेस मुगाबे 
 
ग्रेस कभी राष्ट्रपति कार्यालय में सचिव हुआ करती थीं। शादीशुदा मुगाबे से उनका अफेयर हुआ जिसके कुछ सालों बाद दोनों ने शादी कर ली । मुगाबे की पहली पत्नी की किडनी की बीमारी के कारण 1992 में मौत हो गई। ग्रेस से मुगाबे के दो बच्चे हैं। 
 
तो लाश के साथ लड़ेंगी चुनाव 
पिछले कुछ सालों से ग्रेस का रसूख सत्ता के गलियारों में बढ़ा। हाल ही में दिए एक बयान में अपनी मंशा जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि अगले चुनाव से पहले अगर उनके बीमार पति की मौत हो जाती है तो वो लाश के साथ चुनाव में उतरेंगी। आगे पढ़ें - करप्‍शन की महारानी हैं ग्रेस  
करप्‍शन की महारानी
 
जिम्‍बाब्‍वे की मीडिया में ग्रेस मुगाबे को करप्‍शन की महारानी के नाम से पॉपुलर हैं। देश को गरीबी और भुखमरी की हालत में पहुंचाने के लिए स्‍थानीय मीडिया ग्रेस को जिम्‍मेदार ठहराती हैं। ग्रेस मुगाबे पर अकसर ऐशो-आराम की जिंदगी जीने के आरोप लगते रहे हैं । इसके अलावा देश के डायमंड माइंस से डायमंड की अवैध खरीद- बिक्री का भी आरोप है। 
 
बदनाम है राष्‍ट्रपति का परिवार 
 
जिम्‍बाब्‍वे में राष्‍ट्रपति का परिवार अपनी हरकतों की वजह से बदनाम है। इसी हफ्ते ग्रेस के एक बेटे की तस्वीर सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना कर रही थी जिसमें वह नाइटक्लब में एक महंगी घड़ी पर शैंपेन गिराते नजर आ रहे थे। ग्रेस मुगाबे की छवि तब भी खराब हुई थी जब इसी साल सितंबर में उनपर जोहांसबर्ग में एक मॉडल के साथ लड़ाई करने का आरोप लगा था। इस वाकये के बाद ग्रेस मुगाबे को राजनयिक प्रतिरक्षा के तहत दक्षिण अफ्रीका से वापस जिम्बाब्वे जाने दिया गया था।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट