बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiअरबपतियों के भी आते हैं ऐसे दिन, कर्मचारियों से उधार मांग रहा है ये अमीर

अरबपतियों के भी आते हैं ऐसे दिन, कर्मचारियों से उधार मांग रहा है ये अमीर

अरबपति अक्सर अपनी लग्जरी लाइफ और अनापशनाप खर्च की वजह से सुर्खियों में रहते हैं।

1 of

नई दिल्ली. अरबपति अक्सर अपनी लग्जरी लाइफ और अनापशनाप खर्च की वजह से सुर्खियों में रहते हैं। लेकिन इन दिनों देश का एक अमीर दूसरी ही वजह से चर्चा में है। यह अरबपति इन दिनों दिवालिया होने की कगार पर है। इसलिए इस शख्स को कुछ ऐसा करना पड़ा, जिसने सभी को हैरत में डाल दिया है। दरअसल उसने अपने कई प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए कर्मचारियों से ही उधार मांगने का फैसला किया है।

 

 

कर्ज लौटाना हो रहा मुश्किल

 

हम बात कर रहे हैं जेपी ग्रुप के चेयरमैन मनोज गौर की। उनके ग्रुप पर अरबों का कर्ज है। मीडिया रिपोर्ट्स के बीते साल सितंबर तक ग्रुप की तीनों लिस्टेड कंपनियों पर लगभग 40 हजार करोड़ रुपए का कर्ज था। जेपी ग्रुप के लिए फिलहाल उसके लिए बैंकों से लिया गया कर्ज चुकाना मुश्किल हो रहा है। उसके कई प्रोजेक्ट्स को पूरा करने का काम सरकार अब दूसरी कंपनियों को सौंपने की योजना बना रही है। आगे भी पढ़ें- कोर्ट ने दिया है 2 हजार करोड़ जमा कराने का आदेश

 

 

 

 

 

कोर्ट ने दिया है 2 हजार करोड़ जमा कराने का आदेश

 

हाल में सुप्रीम कोर्ट ने जेपी ग्रुप को 2000 करोड़ रुपये जमा कराने के आदेश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट ने लोगों को उनके घर न दे पाने बाद जेपी ग्रुप के खिलाफ चल रहे मामले की सुनवाई करते वक्त ये आदेश सुनाया था। पैसा भरने के लिए कंपनी ने अपनी कुछ संपत्ति बेचने की पेशकश की थी, लेकिन कोर्ट उसके लिए राजी नहीं हुआ।

 

आगे भी पढ़ें- अब कर्मचारियों से उधार मांगने की आई नौबत

अब कर्मचारियों से उधार मांगने की आई नौबत

जे पी एसोसिएट्स ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि वो अपनी अपनी क्षमता के मुताबिक कंपनी को पैसा उधार दें। जे पी एसोसिएट्स ने कहा है कि वो जनवरी से 9 किस्तों में कर्माचरियों का पैसा लौटा देगी। इसके बाद अब कंपनी मदद के लिए अपने कर्मचारियों का मुंह देख रही है। कंपनी ने कर्मचारियों से उधार देने की अपील की है।आगे भी पढ़ें- 

 

फंसे हुए प्रोजेक्ट्स के लिए दौड़ में 20 कंपनियां

 

जेपी ग्रुप की कंपनी जेपी इन्फ्राटेक के अटके हुए रियल एस्टेट प्रोजेक्ट्स के प्रोजेक्ट्स के लिए जेएसडब्ल्यू स्टील और लोढा ग्रुप सहित 20 कंपनियां दौड़ में हैं। इन कंपनियों ने जेपी के रियल्टी प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए 2 हजार करोड़ रुपए के निवेश की इच्छा जाहिर की है। इसका ग्रुप को खासा फायदा मिला है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट