Home »States »Madhya Pradesh» Operation Clean Money: Govt To Issue Notice To Non-Respondents

ऑपरेशन क्लीन मनी में जवाब नहीं देने वालों पर होगा एक्शन, I-T भेजेगा नोटिस

नई दिल्ली.ऑपरेशन क्लीन मनी के तहत इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बड़ा एक्शन लेने को तैयार है। डिपार्टमेंट ऐसे लोगों को लीगल नोटिस जारी करेगा, जिन्होंने नोटबंदी के बाद किए गए कैश डिपॉजिट्स के बारे में एसएमएस और ईमेल के माध्यम से की गई पूछताछ पर कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया। समय पर जवाब नहीं देने वालों पर होगा एक्शन...
 
- सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने एक गाइडलाइन में कहा कि वक्त से रिमाइंडर भेजने के बावजूद ऑनलाइन रिस्पॉन्स नहीं देने वालों को इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 133 (6) के तहत नोटिस जारी किया जाएगा।
- हालांकि सीबीडीटी ने कहा कि यह नोटिस कम से कम एक इनकम टैक्स कमिश्नर लेवल के अधिकारी या डायरेक्टरेट से मंजूरी लेने के बाद ही जारी किया जा सकता है।
 
भेजे थे18 लाख एसएमएस-ईमेल
- टैक्स डिपार्टमेंट ने 8 नवंबर को हुए 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने के फैसले के बाद किए संदिग्ध डिपॉजिट्स पर बड़ी संख्या में क्वेरीज भेजी थीं।
- ऑपरेशन क्लीन मनी के तहत ऐसे लोगों को 18 लाख एसएमएस और ईमेल जारी किए गए थे, जिन्होंने 30 दिसंबर को समाप्त 50 दिन की नोटबंदी के ड्यूरेशन के दौरान 5 लाख या उससे ज्यादा के संदिग्ध डिपॉजिट्स किए थे।
 
मिले थे9 लाख जवाब
- ऐसे मामलों में आईटी डिपार्टमेंट के ई-फाइलिंग पोर्टल पर अभी तक 9 लाख जवाब आए हैं और डिपार्टमेंट जल्द ही बाकी लोगों को नोटिस जारी करेगा।
- संदिग्ध डिपाजिट्स का जिक्र ‘वेरिफिकेशन के दायरे में व्यक्ति’ के रूप में किया गया था। इन लोगों से कैश के सोर्स के बारे में बताने के लिए कहा गया था।
- सही क्लैरिफिकेशंस को मानकर उन मामलों को खत्म भी मान लिया गया। 
 
जवाब नहीं देने वालों पर होगा एक्शन
- सीबीडीटी ने कहा, ‘वक्त पर किसी तरह का रिस्पॉन्स नहीं मिलने के मामले में एसेसिंग ऑफिसर उस शख्स के खिलाफ कार्रवाई का सुझाव दे सकता है।’
- सेक्शन 133 (6) डिपार्टमेंट को जांच का अधिकार देता है, जिसमें बैंकों सहित दूसरे आउटसाइडर्स से एसेसी के बारे में जानकारियां मांगी जा सकती हैं।

 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY