Home » States » DelhiMehbooba Mufti resigns after BJP pulls out of alliance with PDP in Jammu and Kashmir

BJP ने पीडीपी से समर्थन वापस लिया, जम्मू-कश्‍मीर में महबूबा सरकार गिरी

जम्मू और कश्मीर में बीजेेेेने पीडीपी के साथ चल रही गठबंधन सरकार से समर्थन वापस ले लि‍या है।

Mehbooba Mufti resigns after BJP pulls out of alliance with PDP in Jammu and Kashmir
नई दि‍ल्‍ली. जम्मू और कश्मीर में बीजेेेेपी पीडीपी के साथ चल रही गठबंधन सरकार से समर्थन वापस ले लि‍या है। वहींं, बीजेपी के समर्थन वापस लेने के बाद सीएम महबूबा मुफ्ती ने राज्‍यपाल को अपना इस्‍तीफा सौंप दि‍या है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता और महासचि‍व राम माधव ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से जम्‍मू सरकार की पूरी मदद की गई। लेकि‍न राज्य सरकार हालात को सुधारने में नाकाम रही।
 
उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में हालात तेजी से खराब होते चले गए, अब राष्ट्रीय सुरक्षा और एकता को ध्यान में रखते हुए गठबंधन सरकार से अलग होने का फैसला लिया गया। बता दें कि‍, 87 सदस्‍यीय जम्‍मू और कश्‍मीर वि‍धानसभा में पीडीपी के 28 और बीजेपी के 25 वि‍धायक हैं। जबकि‍ नेशनल कॉन्फ्रेंस के पास 15 और कांग्रेस के पास 12 और अन्य दलों के पास 7 सीटें हैं। 
 
कांग्रेस ने सरकार बनाने से किया इनकार 
इस बीच राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी नैशनल कॉन्फ्रेंस नेता और पूर्व सीएम उमर अबदुल्ला ने राज्यपाल से मुलाकात की। वहीं, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीडीपी के साथ कांग्रेस के सरकार बनाने का सवाल ही नहीं उठता। लेकिन, भाजपा पीडीपी सरकार के सिर पर सारी तोहमत मढ़कर भाग नहीं सकती है। इस सरकार में सबसे ज्यादा जवान शहीद हुए। पीडीपी के प्रवक्ता रफी अहमद मीर ने कहा कि हमने सरकार चलाने के लिए भरपूर कोशिश की। यह हमारे लिए काफी चौंकाने वाला था क्योंकि हमें उनके फैसले के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। 
 
बीजेपी ने बताई वजहें 
बीजेपी ने मतभेद की वजह भी बताई। बीजेपी का कहना है कि रमजान के दौरान सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन रोक दें, इसे लेकर भाजपा-पीडीपी में मतभेद थे। महबूबा के दबाव में केंद्र ने सीजफायर तो किया लेकिन इस दौरान घाटी में 66 आतंकी हमले हुए, जो पिछले महीने से 48 ज्यादा थे। ऑपरेशन ऑलआउट को लेकर भी भाजपा-पीडीपी में मतभेद था। वहीं, पीडीपी चाहती थी कि केंद्र सरकार हुर्रियत समेत सभी अलगाववादियों से बात-चीत करे। लेकिन, भाजपा इसके पक्ष में नहीं थी।
 
सभी बड़े नेताओं को बुलाया था दि‍ल्‍ली 
इससे पहले बीजेपी अध्‍यक्ष अमि‍त शाह ने राज्‍य के सभी बड़े नेताओं को दि‍ल्‍ली बुलाया था। इसके बाद बैठक में तय कि‍या गया कि‍ अब आगे पीडीपी के साथ चलना मुश्‍कि‍ल होगा। ऐसे में सरकार से समर्थन वापस लेना ही होगा। बीजेपी नेता राम माधव की ओर से कहा गया है कि‍ पीडीपी ने आतंकि‍यों से नि‍पटने के अपने वादे को पूरा नहीं कि‍या, जि‍ससे घाटी के हालात और खराब हो गए हैं। 
 
बीजेपी के सभी मंत्रि‍यों ने दि‍या इंस्‍तीफा 
जम्मू और कश्मीर में बीजेपी के बड़े नेता और उपमुख्‍यमंत्री कवि‍ंद्र गुप्‍ता ने कहा कि‍ बीजेपी के सभी मंत्रि‍यों ने अपना इस्‍तीफा मुख्‍यमंत्री को भेज दि‍या है। गुप्ता ने आगे कहा कि‍ राज्यपाल को इस निर्णय के बारे में सूचित किया जा रहा है। अब राज्यपाल ही संवैधानिक तरीके से तय करेंगे कि‍ राज्य में अगला कदम क्‍या होगा। 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट