Advertisement
Home » States » DelhiBS Yeddyurappa resign before trust vote

कर्नाटक: फ्लोर टेस्‍ट से पहले येदियुरप्पा ने दिया इस्‍तीफा, नहीं जुटा पाए बहुमत

कर्नाटक के सियासी ड्रामा पर आज ब्रेक लग गया है और फ्लोर टेस्‍ट से पहले मुख्‍यमंत्री येदियुरप्पा ने पद से इस्‍तीफा दिया

1 of

नई दिल्‍ली.... कर्नाटक के सियासी ड्रामा पर आज ब्रेक लग गया है और फ्लोर टेस्‍ट से पहले मुख्‍यमंत्री बीएस  येदियुरप्पा ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है।  अब येदियुरप्पा राज्यपाल से मिलकर इस्तीफा सौपेंगे। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीएम येदियुरप्पा को आज शाम 4 बजे सदन में बहुमत साबित करना था। 

येदियुरप्पा ने दिया भावुक भाषण 

 

फ्लोर टेस्‍ट से पहले येदियुरप्पा ने भावुक भाषण दिया। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस और जेडीएस के खिलाफ जनादेश है। भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी है। उन्‍होंने कहा कि अगर हमें 113 सीटें मिली होती तो आज स्थिति कुछ और होती। 

 

लोकसभा में सभी 28 सीट लेकर आएंगे

 

 

उन्‍होंने कहा कि मैंने दो सालों तक राज्‍य के अलग - अलग हिस्‍सों में सफर किया। इस दौरान मैंने लोगों के चेहरे पर दर्द देखा। मैं लोगों के प्‍यार और  समर्थन का सम्‍मान करता हूं। येदियुरप्‍पा ने आगे कहा कि मैं अगर सत्‍ता में नहीं रहूंगा तब भी मेरे पास खोने को कुछ नहीं है। मेरी जिंदगी आम लोगों के लिए है। उन्‍होंने भरोसा जताया कि  हम लोकसभा में सभी 28 सीट लेकर आएंगे। 

 

 

येदियुरप्पा ने 17 मई को शपथ ली थी

 

इससे पहले भाजपा, कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने शनिवार सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक शपथ ली। जबकि येदियुरप्पा ने 17 मई को सीएम पद के लिए शपथ ली थी। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस-जेडीएस की प्रोटेम स्पीकर के तौर पर केजी बोपैया की नियुक्ति पर रोक लगाने की याचिका को खारिज कर दिया।

 

 

कांग्रेस ने कहा- येदियुरप्पा 15 करोड़ या मंत्री पद ऑफर कर रहे
- इससे पहले कांग्रेस नेता वीएस उग्रप्पा ने दावा किया कि उन्होंने (बीजेपी के बीवाई विजेंद्र) ने कांग्रेस एमएलए की पत्नी को फोन किया और कहा कि वे अपने पति से कहें कि येदियुरप्पा के फेवर में वोट करें। हम आपके पति को मंत्री पद या 15 करोड़ रुपए देंगे।

 

 

सुप्रीम कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट करने को कहा था

- कांग्रेस और जेडीएस की याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार शाम 4 बजे फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए थे। इस तरह शीर्ष अदालत ने राज्यपाल वजूभाई वाला के उस फैसले को पलट दिया, जिसमें उन्होंने बीएस येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया था।

- कर्नाटक के राज्यपाल द्वारा विनिषा नेरो को विधानसभा में एंग्लो इंडियन सदस्य के तौर पर मनोनीत किए जाने को भी कांग्रेस-जेडीएस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्यपाल फ्लोर टेस्ट होने तक इस सदस्य को मनोनीत ना करें।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss