बिज़नेस न्यूज़ » States » DelhiSterlite प्लांट में हिंसाः मद्रास हाईकोर्ट ने स्मेल्टर के कंस्ट्रक्शन पर लगाया स्टे

Sterlite प्लांट में हिंसाः मद्रास हाईकोर्ट ने स्मेल्टर के कंस्ट्रक्शन पर लगाया स्टे

तूतिकोरिन स्थित प्लांट में हिंसा भड़ने के बाद अब मद्रास कोर्ट ने उसकी नई कॉपर स्मेल्टर के कंस्ट्र

1 of

तूतिकोरिन (तमिलनाडु). स्टरलाइट इंडस्ट्रीज के तूतिकोरिन स्थित प्लांट में हिंसा भड़ने के बाद अब मद्रास हाई कोर्ट ने उसकी नई कॉपर स्मेल्टर के कंस्ट्रक्शन पर स्टे लगा दिया है। एक दिन पहले ही स्थानीय लोगों द्वारा किए जा रहे आंदोलन के हिंसक होने के बाद यह कार्रवाई की गई है। इस हिंसा में लगभग 11 लोग मारे जा चुके हैं। माहौल अब भी तनावपूर्ण बना हुआ है। स्टरलाइट इंडस्ट्रीज, वेदांता ग्रुप की कंपनी है।

 

11 लोगों की मौत, 30 घायल

तमिलनाडु में मंगलवार को हुई पुलिस गोलीबारी में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई और 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए। पुलिस ने एक बार फिर प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े हैं। बताया जा रहा है कि तूतीकोरिन में जनरल हॉस्पिटल के बाहर स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच झड़प हुई। स्टरलाइट इंडस्ट्रीज के खिलाफ कल प्रदर्शन में घायल हुए लोगों का इसी अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं पुलिस फायरिंग की जांच के लिए तमिलनाडु सरकार ने सेवानिवृत्त न्यायाधीश अरुणा जगदीसन को नियुक्त किया है। केन्द्र सरकार ने तमिलनाडु सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

 

प्लांट बंद करने की मांग कर रहे हैं स्थानीय लोग

बंदरगाह शहर तूतीकोरिन में एक स्टरलाइट प्लांट (तांबा गलाने वाले संयंत्र) को स्थायी रूप से बंद कराने की मांग कर रहे हजारों लोग हिंसक प्रर्दशन पर उतर आए। थूथुकुडी में धारा 144 लागू है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। वहीं मद्रास हाईकोर्ट के मदुरै पीठ ने स्टरलाइट कंपनी के विस्तार पर रोक लगा दी है। प्रदर्शनकारी तीन महीने से भी ज्यादा समय से स्टरलाइट संयंत्र के खिलाफ विरोध कर रहे हैं। लोग इस प्लांट को भूजल प्रदूषण के लिए दोषी मान रहे हैं।

 

राज्यपाल ने दिया शोक संदेश

राज्यपाल ने अपने शोक संदेश में कहा कि 11 लोगों की मौत हुई है। सरकार ने अपने बयान में कहा, "हिंसा पर काबू पाने के लिए, अपरिहार्य परिस्थितियों में, पुलिस को कार्रवाई करनी पड़ी। कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तूतीकोरिन भेजा गया है।

 

 

दुनिया की सबसे बड़ी खनन कंपनियों में से एक है वेदांता

'वेदांता' दुनिया की सबसे बड़ी खनन कंपनियों में से एक है। इसके मालिक बिहार के पटना में जन्मे अनिल अग्रवाल हैं। मुबंई में उन्होंने 'वेदांता' नाम से एक कंपनी बनाई जिसे उन्होंने लंदन स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर्ड कराया। वेदांता समूह की ही एक कंपनी का नाम स्टरलाइट है। स्टरलाइट तमिलनाडु के तूतीकोरिन और सिलवासा (केंद्र शासित प्रदेश दादरा नागर हवेली की राजधानी) में ऑपरेट करती है। तूतीकोरिन वाले कारखाने में हर साल चार लाख टन तांबे का उत्पादन होता है। साल 2017 में इस कंपनी का टर्नओवर 11.5 अरब डॉलर था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक राजधानी चेन्नई से 600 किलोमीटर दूर तूतीकोरिन में करीब 5 हजार प्रदर्शनकारी एक स्थानीय चर्च में इकट्ठा हुए। स्टरलाइट संयंत्र तक रैली निकालने की अनुमित नहीं मिलने पर उन्होंने जिला कलेक्टर के दफ्तर तक रैली निकालने की मांग करने लगे।

 

रजनीकांत का है सपोर्ट

सुपरस्टार रजनीकांत और अभिनेता-राजनेता कमल हासन ने यहां चल रहे विरोध प्रदर्शनों को अपना समर्थन दिया है। उन्होंने शांतिपूर्ण विरोध की अनदेखी के लिए सरकार को दोषी ठहराया है। कमल हासन ने कहा, "नागरिक अपराधी नहीं हैं।" लोगों की मौत के लिए रजनीकांत ने भी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। रजनीकांत ने ट्वीट किया, "सरकार की बेपरवाही की वजह से हुई फायरिंग में लोंगो की मौत से मुझे दुख हुआ है।"

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट