बिज़नेस न्यूज़ » States » DelhiFICCI की बैठक में पीएम मोदी : NPA यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला

FICCI की बैठक में पीएम मोदी : NPA यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला

मोदी ने आज वाणिज्य एवं उद्योग मंडल फिक्की की सालाना आम बैठक में देश के शीर्ष उद्योगपतियों को संबोधित किया।

1 of

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को वाणिज्य एवं उद्योग मंडल फिक्की की सालाना आम बैठक में देश के शीर्ष उद्योगपतियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्‍होंने कांग्रेस की यूपीए सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने NPA को  यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला करार दिया। उन्‍होंने कहा कि NPA कॉमनवेल्थ, 2 जी, कोयला,सभी से कहीं ज्यादा बड़ा घोटाला था। 

 

यूपीए सरकार पर हमला 

पीएम ने यूपीए सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, आप देखेंगे कि सरकार देश के नौजवानों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए फैसले ले रही है, योजनाएं बना रही है। इसका बिल्कुल विपरीत आपको पिछली सरकार में देखने को मिलेगा। उस दौरान कुछ बड़े उद्योगपतियों को लाखों करोड़ के लोन दिए गए, बैंकों पर दबाव डालकर पैसा दिलवाया गया। 

 

 NPA पिछली सरकार की देन 

उन्‍होंने कहा, मुझे जानकारी नहीं है कि पहले की सरकार की नीतियों ने जिस तरह बैंकिंग सेक्टर की दुर्दशा की, उस पर फिक्की ने कोई सर्वे किया है या नहीं? ये आजकल NPA का जो हल्ला मच रहा है, वो पहले की सरकार में बैठे अर्थशास्त्रियों की, इस सरकार को दी गई सबसे बड़ी देनदारी है। 

 

फिक्‍की पर भी उठाए सवाल 

पीएम ने आगे कहा कि जब सरकार में बैठे कुछ लोगों द्वारा बैंकों पर दबाव डालकर कुछ विशेष उद्योगपतियों को लोन दिलवाया जा रहा था, तब फिक्की जैसी संस्थाएं क्या कर रही थीं?पहले की सरकार में बैठे लोग जानते थे,बैंक भी जानते थे, उद्योग जगत भी जानता था,बाजार से जुड़ी संस्थाएं भी जानती थीं कि गलत हो रहा है। 


NPA यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला 
पीएम ने कहा - ये NPAs यूपीए सरकार का सबसे बड़ा घोटाला था। कॉमनवेल्थ, 2 जी, कोयला,सभी से कहीं ज्यादा बड़ा घोटाला। ये एक तरह से सरकार में बैठे लोगों द्वारा उद्योगपतियों के माध्यम से जनता की कमाई की लूट थी। जो लोग मौन रहकर सब कुछ देखते रहे, क्या उन्हें जगाने की कोशिश, किसी संस्था द्वारा की गई। 


- पीएम ने कहा कि बैंकिंग सिस्टम की इस दुर्दशा को ठीक करने के लिए, बैंकिंग सिस्टम को मजबूत करने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। बैंकों का हित सुरक्षित होगा, ग्राहकों का हित सुरक्षित होगा, तभी देश का हित भी सुरक्षित रहेगा

 

- पीएम ने कहा कि FRDI को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं। सरकार ग्राहकों के हित सुरक्षित करने के लिए, बैंकों में जमा उनकी पूंजी को सुरक्षित रखने के लिए काम कर रही है, लेकिन खबरें इसके ठीक उलट फैलाई जा रही हैं। भ्रमित करने वाली ऐसी कोशिशों को नाकाम करने में फिक्की जैसी संस्था का योगदान जरूरी है। 

 

MSME का पैसा समय पर चुकाया जाए 

 

पीएम ने कहा कि मेरी एक और अपेक्षा आपसे है कि MSME का जो पैसा बड़ी कंपनियों पर बकाया रहता है, वो समय पर चुकाया जाए, इसके लिए भी कुछ करिए। नियम है लेकिन ये भी सच है कि छोटे उद्यमियों का पैसा ज्यादातर बड़ी कंपनियों के पास अटका रहता है। 

 

 

गरीबों की सरकार 

 

 

- इस दौरान उन्‍होंने कहा कि हमारे यहां एक ऐसा सिस्टम है जिसमें गरीब हमेशा इस सिस्टम से लड़ता ही रहता था। छोटी-छोटी चीजों के लिए उसे संघर्ष करना पड़ रहा था। गरीब को बैंक अकाउंट खुलवाना है, उसे गैस कनेक्शन चाहिए, तो सिस्टम आड़े आ जाता था। अपनी ही पेंशन, स्कॉलरशिप पाने के लिए कमीशन देना होता था।

- उन्‍होंने आगे कहा कि सिस्टम के साथ इस लड़ाई को बंद करने का काम ये सरकार कर रही है। हम एक ऐसे सिस्टम का निर्माण कर रहे हैं, जो ना सिर्फ पारदर्शी हो बल्कि संजीदा भी हो। एक ऐसा सिस्टम जो लोगों की आवश्यकताओं को समझे।  

- पीएम ने कहा कि हम गरीब की एक-एक आवश्यकता, एक-एक समस्या को सुलझाने के लिए काम कर रहे हैं।  गरीब महिलाओं को लगातार शर्मिंदगी का सामना न करना पड़े, उनके स्वास्थ्य और सुरक्षा पर असर न हो, इसलिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत 5 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनवाए गए।  

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट