Home » States » Delhi11 Plane with engines of A320 Neo Series

नियो इंजन वाले 11 प्‍लेन की उड़ान पर रोक, हवा में बंद हो रहा था इंजन

डीजीसीए ने एयरबस के ए-320 प्लेन के उन विमानों को उड़ाने से रोक लगा दी है जिनमें नियो सीरीज के इंजन लगे हैं।

11 Plane with engines of A320 Neo Series

 

नई दिल्ली. डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने एयरबस के ए-320 प्लेन के उन विमानों को उड़ाने से रोक लगा दी है जिनमें नियो सीरीज के इंजन लगे हैं। इन इंजन वाले विमानों में टेकऑफ से ठीक पहले या हवा में उड़ान के दौरान अपने-आप बंद हो जाने की शिकायत आ रही थीं। सोमवार को भी अहमदाबाद से लखनऊ जा रहे इंडिगो के एक प्लेन का इंजन हवा में बंद हो गया था। देश में इस वक्त इंडिगो और गोएयर के पास ए-320 नियो सीरीज के इंजनों वाले 11 प्लेन हैं। इन एयरलाइंस से कहा गया है कि इन प्लेन में नए इंजन का इस्तेमाल करें।

 

 

किस एयर लाइंस के पास कितने प्लेन हैं?

11 प्लेन में से 8 इंडिगो के और 3 गोएयर के पास हैं। इनमें खराब प्रैट और व्हिटनी (पीएंडडब्ल्यू) इंजन लगे हुए हैं। डीजीसीए ने इन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।

 

इंजन नहीं किए दुरुस्त

डीजीसीए का कहना है कि इंडिगो और गोएयर दोनों ने अपने इन इंजनों को दुरुस्त नहीं किया है। सिविल एविएशन सेक्रेटरी आरएन चौबे ने इस बारे में पहले ही संकेत दे दिए थे डीजीसीए के मुताबिक, यात्रियों की सुरक्षा के साथ किसी तरह समझौता नहीं किया जाएगा। डीजीसीए ने 13 फरवरी को कहा था कि वह खामियों को तलाश रहा है।

 

 

अहमदाबाद में आपात लैंडिंग के बाद लिया फैसला

डीजीसीए इंडिगो एयरबस ए-320 की अहमदाबाद में आपात लैंडिंग के कुछ घंटे बाद ही यह फैसला लिया। इंडिगो के एक प्लेन का सोमवार को उड़ान भरने के कुछ ही मिनटों बाद ही इंजन फेल हो गया था। विमान में 186 लोग सवार थे। डीजीसीए ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। डीजीसीए ने तत्काल प्रभाव से पीडब्ल्यू 1100 इंजन वाले ए320 नियो के अलावा ईएसएन 450 को भी हटाने के निर्देश दिए हैं।

 

 

इंडिगो ने क्या सफाई दी?

इंडिगो का कहना है कि डीजीसीए ने जो नंबर तय किए हैं उनका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। जरूरी बदलाव के बाद प्रभावित इंजन वाले किसी भी प्लेन का ऑपरेशन नहीं किया जाएगा। पैसेंजर्स को जो परेशानी हुई है उसके लिए हमें खेद है। हमें डीजीसीए की ओर से अभी निर्देश नहीं मिले हैं। हम डीजीसीए के निर्देशों का सख्ती से पालन करेंगे।

 

 

39.7 फीसदी है इंडिगो का मार्केट शेयर

इंडिगो का मुख्यालय हरियाणा के गुरुग्राम में है। यात्रियों के हिसाब से यह भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन है। जनवरी 2018 में कंपनी का मार्केट शेयर 39.7 फीसदी था। लो-कॉस्ट कैरियर की बात करें तो यह एशिया में सबसे बड़ी है। इंडिगो देश और विदेश में 50 स्थानों के लिए अपनी सेवाएं देती है।

 

 

ईएएसए भी कर चुका है खारिज

यूरोपियन रेग्यूलेटर ईएएसए ने कुछ दिन पहले ए-320 नियो प्लेन की उड़ान को लेकर कुछ दिशा-निर्देश दिए थे। इसमें उड़ान के दौरान इंजनों के बंद होने की घटनाओं का हवाला दिया गया था। ए320 नियो फैमिली के प्लेन्स को यूरोप में टेक-ऑफ करने की इजाजत नहीं दी गई थी।

 

 

सुरेश प्रभु ने आज ही लिया है चार्ज

सुरेश प्रभु ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय का सोमवार को कार्यभार संभाला। चार्ज संभालने के तुरंत बाद उन्होंने डीजीसीए, एएआई, एयर इंडिया, पवन हंस के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। टीडीपी के अशोक गजपति राजू के इस्तीफा देने के बाद प्रभु को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। प्रभु ने ऐसे वक्त इस मंत्रालय का चार्ज लिया है, जब सरकार एयर इंडिया में विनिवेश को लेकर तेजी से काम कर रही है।


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss