Home » States » Delhiknow what is sugar relationship with rich professionals

भारत में भी आ गईं शुगर बेबीज, अमीरों के साथ के बदले मिलती है लाखों की रकम

शुगर रिलेशनशिप के मामले में अब भारत के मेट्रो शहरों के प्रोफेशनल्स का भी जिक्र शुरू हो गया है।

1 of

नई दिल्‍ली. अमीरों में अब डेटिंग का रूप बदल रहा है। नए ट्रेंड में शुगर रिलेशनशिप भी शामिल है। अब इसमें भारत के बड़े शहरों की लड़कियों की भी एंट्री हो गई है। इन्हें शुगर बेबीज का नाम दिया जा रहा है। रिपोर्ट की मानें तो शुगर रिलेशनशिप में 20 से 25 साल की लड़कियों की संख्‍या बढ़ रही है। इसके बदले इन्हें न केवल लाखों रुपयों की फाइनेंशियल हेल्प मिल रही है, बल्कि ये अपनी सारी जरूरतें भी पूरी कर रही हैं। इसमें उनकी हॉयर एजुकेशन से लेकर मेट्रो शहरों में बेहतर लाइफ जीने तक का खर्च शामिल है। यह ट्रेंड अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में बहुत ज्यादा है, जहां इसे बोल्डनेस के रूप में देखा जाता है। 

 

 

क्या है शुगर रिलेशनशिप
असल में शुगर रिलेशनशिप में कोई युवा लड़की किसी ज्यादा उम्र के अमीर या प्रोफेशनल के साथ प्रोफेशनली जुड़ती है। वह उनके साथ बिजनेस टूर से लेकर हॉलीडे टूर में साथ होती है। दोनों के बीच कुछ शर्तें होती हैं, जिसे दोनों को मानना होता है। इसके बदले अमीर पुरूष की ओर से शुगर बेबीज को मोटी रकम दी जाती है। उसके सारे खर्चों का भी ध्‍यान रखा जाता है। विदेशों में युवा लड़कियां इसे जरा भी बुरा नहीं 

 

विदेशी महिला ने भी किया ब्लॉग में जिक्र
शुगर रिलेशनशिप का ट्रेंड बंगलुरू जैसे मेट्रो शहरों में ये ट्रेंड बढ़ रहा है। इस बारे में अमेरिका से भारत आई एक महिला एंजेला कारसॉन ने अपने ब्लॉग में भी जिक्र किया है। उनके अनुसार शुगर बेबीज और शुगर डैडी का ट्रेंड अब भारत में भी आ चुका है। उन्होंने खुद ऐसी पार्टियों का जिक्र किया है, जहां से यंग गर्ल्स और मिडिल एज वाले अमीर पुरूषों के बीच यह रिश्‍ता शुरू होता है। एक मीडिया रिपोर्ट में भी इस बात का जिक्र हुआ है कि भारत में भी शुगर बेबीज का ट्रेंड शुरू हो गया है, जिसमें इंटरनेट का खास योगदान है। एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार बेंगलुरू जैसे शहरों में 21-22 साल से 24-25 साल की तमाम मॉडर्न लड़कियां अब शुगर बेबीज बनने से परहेज नहीं कर रही हैं। आईटी इंडस्ट्री में यह ट्रेंड ज्यादा होने की भी बात कही गई है। 

आगे पढ़ें, क्या है शुगर बेबीज बनने की डील .......

 

पैसे के बदले सिर्फ साथ 
इसमें अधिक उम्र के पुरुष साथ के बदले शुगर बेबीज को बड़ी रकम चुकाते हैं। इस रिश्‍ते में एक लिमिट होती है, इसलिए वहां की लड़कियां इसे एक प्रोफेशन मान रही हैं। इनमें शामिल पुरुषों को शुगर डैडी नाम दिया गया है। इसमें ज्यादातर लड़कियां 25 से 30 साल की होती हैं। वहीं, पुरूषों की उम्र 45-50 साल से अधिक। 

 

रिलेशन को लेकर कोई बंधन नहीं
-शुगर बेबी एक ही समय में 1 से ज्यादा अमीरों के साथ इस रिलेशनशिप में रह सकती हैं। अमीर पुरुषों के साथ ऐसा रिलेशन बना सकती हैं।
-इस रिलेशनशिप में एक दूसरे का सम्मान करना जरूरी होती है। 
-अक्सर शुगर डैडीज अपने बिजनेस टूर या वैकेशन टूर में शुगर बेबीज को साथ ले जाते हैं। वे अमीर पुरुषों के साथ उनकी लग्जरी लाइफ का पार्ट भी बनती हैं।  
 -वेबसाइट सीकिंग अरेंजमेंटडॉटकॉम के अनुसार शुगर डैडीज में 26 फीसदी कारोबारी हैं। 
-31 फीसदी प्रोफेशनल या एग्जीक्यूटिव हैं। शुगर बेबीज स्टूडेंट्स से लेकर नौकरीपेशा भी हो सकती हैं। 
आगे पढ़ें, रिलेशनशिप का एक और पहलू ........

 

 

अमीरों से कर रही हैं ये डील
-यूएस, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में कॉलेज जाने वाली तमाम लड़कियां एक वेबसाइट के जरिए इस ट्रेंड में शामिल हो रही हैं। ये लड़कियां अब खुलकर सामने आ रही हैं और बता रही हैं कि वे बड़े शहर में रहकर पढ़ने या खर्च चलाने के लिए इस गेम का हिस्सा बन रही हैं।

 
-एससी टाइम्स में छपी रिपोर्ट के अनुसार शुगर बेबीज के गेम में कॉलेज स्टूडेंट्स की संख्‍या एक साल में 60 फीसदी बढ़ी है। इसके बदले हर एक को औसतन साल भर में 1.7 करोड़ रुपए तक पे किया जा रहा है। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार उनके लुक पर अरबपति साल में 15 लाख तक खर्च कर दे रहे हैं। 


-अंग्रेजी अखबार मिरर की रिपोर्ट के अनुसार 28 साल की क्रिस्टिना अमेरिका के किसी बड़े शहर में रहकर टॉप कॉलेज से मैनेजमेंट की पढ़ाई करना चाहती थी। लाखों की फीस के साथ बड़े शहर में रहने का खर्च उसके पास नहीं था। उसने ऐसा रास्ता चुना, जिससे उसे सिर्फ 2 साल में 60 लाख रुपए मिल गए। इससे न सिर्फ पढ़ाई पूरी हुई, बल्कि ऐशो-आराम की जिंदगी भी बिताई। क्रिस्टिना ने शुगर बेबी बनने का फैसला किया। 

सोर्स: अंग्रेजी अखबार मिरर, वेबसाइट सीकिंग अरेंजमेंटडॉटकॉम, US न्यूज वेबसाइट SC टाइम्स, निजी ब्लॉग

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट