बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhi3 टेंट कारोबारियों के यहां I-T डिपार्टमेंट के छापे, 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी

3 टेंट कारोबारियों के यहां I-T डिपार्टमेंट के छापे, 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कुछ बड़े टेंट कारोबारियों पर छापेमारी के बाद 100 करोड़ की टैक्स चोरी का खुलासा किया है।

1 of

 

नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने नेशनल कैपिटल रीजन में कुछ बड़े कैटरिंग और पंडाल (टेंट) ऑपरेटर्स पर छापेमारी के बाद 100 करोड़ से ज्यादा की ब्लैकमनी और अघोषित आय का खुलासा किया है। इन कारोबारियों के 15 बैंक अकाउंट भी जब्त किए गए हैं। यह छापेमारी वीकेंड के दौरान की गई थी। अधिकारियों ने कहा कि टैक्स डिपार्टमेंट ऐसे हाई-प्रोफाइल क्लाइंट्स की लिस्ट की भी जांच कर रहा है, जिन्होंने इन कैटरर्स और पंडाल सर्विसेस से कैश में लेनदेन किया। 

 

 

3 टेंट कारोबारियों के 43 परिसरों पर छापेमारी 
अधिकारियों ने कहा कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की दिल्ली की विंग ने 3 मई के बाद 3 बड़े टेंट और कैटरिंग ऑपरेटर्स के 43 परिसरों पर छापेमारी (तलाशी और सर्वे) की और वहां से 1.82 करोड़ रुपए कैश और 2.4 करोड़ रुपए की ज्वैलरी बरामद की गई। 
एनसीआर में बड़ी और आलीशान शादियों के आयोजन के बिजनेस व अन्य पारिवारिक कार्यक्रमों से जुड़े कैटरिंग, टेंट और पंडाल ऑपरेटर्स की पहचान की गई है।

 

 

कारोबारियों के मोबाइल फोन भी जब्त 
डिपार्टमेंट ने पाया कि ऑपरेटर्स बड़े स्तर पर ‘कैश डीलिंग’ कर रहे थे और इस दौरान उनसे वे मोबाइल फोन भी जब्त किए गए, जिन्हें वे एसएमएस और वाट्सऐप चैट के माध्यम से अपने क्लाइंट्स के साथ डीलिंग में इस्तेमाल करते थे। 
अधिकारियों ने कहा, ‘मोबाइल फोन पर ये सभी मैसेज और डॉक्यूमेंट से अघोषित कैश के लेनदेन का पता चलता है। इन्हें जब्त कर लिया गया है और जांच की जा रही है।’ एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया, ‘ये बिजनेसमैन अपनी सेल्स और सर्विस चार्ज को कम दिखाकर कई साल से टैक्स की चोरी कर रहे थे।’

 

 

100 करोड़ रु की ब्लैकमनी का खुलासा 
अधिकारियों ने कहा कि इन कारोबारियों के 15 बैंक लॉकर भी जब्त किए गए हैं और इस मामले में प्रथमदृष्ट्या लगभग 100 करोड़ रुपए की ब्लैकमनी या अघोषित आय का खुलासा हुआ है। 
अधिकारी ने कहा, ‘इनमें से कुछ एंटिटीज ने शेल कंपनियों की खरीद के तौर पर भारी भरकम खर्च का दावा भी किया है।’ उन्होंने कहा कि कुछ मामलों में कमाई की तुलना में 100 फीसदी टैक्स की चोरी की गई है।


 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट