बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiभारतीय पैसे से डरा चीन, फिर देने लगा धमकियां

भारतीय पैसे से डरा चीन, फिर देने लगा धमकियां

चीन एक बार फिर धमकियां देने लगा है। इस बार वजह वियतनाम बना है।

1 of

बीजिंग. चीन एक बार फिर धमकियां देने लगा है। इस बार वजह वियतनाम बना है। दरअसल वियतनाम ने भारत को अपनी सीमा में आने वाले साउथ चाइना सी में तेल एवं गैस क्षेत्र में निवेश के लिए न्यौता दिया है। बौखलाए चीन ने इसका कड़ा विरोध करते हुए कहा है कि वह ऐसे किसी भी कदम का विरोध करेगा, जिससे साउथ चाइना सी में उसके हित प्रभावित हों।

 

यह भी पढ़ें-अंबानी से 19 गुनी दौलत संभालता है यह शख्स, प्लेन में कटते हैं साल के 250 दिन

 

 

वियतनाम के बयान पर बौखलाया चीन

भारत में वियतनाम के एम्बेसडर तोन सिन्ह तान्ह ने हाल में मीडिया से बातचीत में कहा था कि उनका देश साउथ चाइना सी में भारतीय निवेश का स्वागत करेगा। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्समैन लू कांग ने कहा, 'चीन अपने पड़ोसी देशों के बीच सामान्य द्विपक्षीय संबंधों के विकास का विरोध नहीं करता।'

लू ने कहा, 'लेकिन यदि कोई देश इसे चीन के कानूनी अधिकारों और साउथ चाइना में उसके हितों के को प्रभावित करने के लिए इस्तेमाल करता है तो चीन उसका सख्ती से विरोध करेगा। ऐसे किसी भी कदम से क्षेत्रीय शांति और स्थायित्व को खतरा पैदा होगा।'

 

 

वियतनाम के लिए मददगार हो सकता है भारत

वियतनाम के एम्बेसडर ने कहा था कि भारत और वियतनाम के बीच रक्षा क्षेत्र भागीदारी का एक एक अहम और प्रभावी क्षेत्र है। साथ ही वियतनाम की रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने में भारत खासा मददगार हो सकता है।

 

 

साउथ चाइना सी पर दावा करता रहा है चीन

चीन वर्षों से भारतीय कंपनी ओएनजीसी द्वारा साउथ चाइना सी में वियतनाम के दावे वाले इलाकों में तेल की खोज का विरोध करता रहा है। भारत जोर देकर कहता रहा है कि ओएनजीसी वहां कमर्शियल ऑपरेशन में लगी हुई है और इसका किसी विवाद से कोई लेना-देना नहीं है।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

वियतनाम में हो चुके हैं चीन विरोधी दंगे

 

चीन जहां साउथ चाइना सी पर दावा करता रहा है, वहीं वियतनाम, फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई और ताइवान भी इस पर अपना दावा करते रहे हैं। वियतनाम-चीन संबंधों के लिहाज से तेल एक्सप्लोरेशन एक संवेदनशील मुद्दा है। कुछ समय पहले जब वियतनाम के दावे वाले इलाकों में चीन ने अपने ऑयल रिग्स तैनात करने की कोशिश की तो वियतनाम में चीन विरोध दंगे शुरू हो गए थे।

 

साउथ चाइना सी से होता है अरबों डॉलर का ट्रेड

 

भारत जहां वियतनाम के साथ अपने संबंधों को मजबूती दे रहा है, वहीं साउथ चाइना सी में स्वतंत्र आवाजाही की मांग करता रहा है, जिससे हर साल अरबों डॉलर का ट्रेड होता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट