बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhi#YogaDay : योग ने खड़े किए 5 बिजनेस, हजारों करोड़ का है कारोबार

#YogaDay : योग ने खड़े किए 5 बिजनेस, हजारों करोड़ का है कारोबार

दुनिया में जिस तेजी से योग का प्रचार-प्रसार हो रहा है, उसी तेजी से इससे जुड़ा कारोबार भी बढ़ रहा है।

Big opportunity in yoga related business

 

नई दिल्‍ली. दुनिया में जिस तेजी से योग का प्रचार-प्रसार हो रहा है, उसी तेजी से इससे जुड़ा कारोबार भी बढ़ रहा है। दुनिया भर में योग एक्सेसरी का कारोबार करीब 5.37 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है, जिसमें से अकेले अमेरिका में ही 69 हजार करोड़ रुपए का योग से जुड़ी किताबों और एसेसरी का कारोबार हो रहा है। भारत में एक रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक योग से जुड़ा कारोबार 12 हजार करोड़ रुपए के पार निकल गया है।

 

योग टीचर

एसोचैम की रिपोर्ट के मुताबिक योग सीखाने वाले ट्रेनर्स की डिमांड सालाना 35% फीसदी की दर से बढ़ रही है। योग सीखाने का काम देश भर में करीब 2.5 हजार करोड़ रुपए पहुंच चुका है। इसमें देश के तमाम योग बाबाओं के लगाए जाने योग शिविर, कॉरपोरेट्स कंपनी को दी जाने वाली ट्रेनिंग और प्राइवेट ट्रेनिंग शामिल है। देश में योग सिखने वालें लोगों की संख्या दुनिया में करीब 20 करोड़ है, जिनमें आधे भारतीय हैं।

 

 

कंपनियां अपने कर्मचारियों को दे रही हैं योग ट्रेनिंग

कॉरपोरेट कल्चर में कंपनियां अपने कर्मचारियों को योग सिखाने के लिए ट्रेनर बुलाती हैं। वह घंटे के हिसाब से फीस लेते हैं। अब ये योग सीखाने वाले ट्रेनर के लिए कमाई का अच्छा जरिया बनता जा रहा है। कंपनियों को लगता है कि इससे कर्मचारी हेल्दी बनते हैं जिससे वह और अच्‍छा काम कर सकते हैं।

 

बढ़ रहा है आयुर्वेद रिजॉर्ट का कॉन्सेप्ट

कॉरपोरेट्स में योग को लेकर बढ़ते रुझान के कारण आयुर्वेद रिजॉर्ट, हॉलीडे योग शिविर, कॉरपोरेट योग ट्रेनिंग आदि के रूप में अरबों रुपए का बाजार खड़ा हो चुका है।

 

योग ड्रेस

योग के दौरान पहने जाने वाले कपड़ों का बाजार ही 1,000 करोड़ रुपए पहुंच चुका है। योग कपड़ों के सेक्टर में भुसत्व, फॉरएवर योग, अर्बन योग जैसी कई कंपनियां योग से जुड़े कपड़े बनाने के कारोबार में उतर चुकी हैं। अगले एक से दो साल में ये कारोबार दोगुना हो सकता है। योग कपड़े ऑफलाइन और ऑनलाइन काफी तेजी से बिक रहे हैं।

 

योग से संबंधित अन्‍य प्रॉडक्‍ट

योग ट्रेनिंग के अलावा इससे जुड़े प्रोडक्ट तक कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। इसमें योग मैट (चटाई), जूते,  योग सीडी, योग डीवीडी, बैंड, एक्सेसरीज की डिमांड तेजी से बढ़ी है। ई-कॉमर्स कंपनियां स्पेशल योग थीम स्टोर भी लेकर आई हैं। वह योग के प्रोडक्ट ऑनलाइन बेच रही हैं। इन पर कस्टमर को स्पेशल डिस्काउंट ऑफर्स भी दे रही हैं। दुनिया भर में योग एक्सेसरी का कारोबार करीब 5.37 लाख करोड़ रुपए का है। अकेले अमेरिका में 69 हजार करोड़ रुपए योग से जुड़ी किताबों और एसेसरी पर खर्च करते हैं। एसोचैम ने वर्ष 2016 में एक रिसर्च रिपोर्ट तैयार की थी जिसमें बताया गया था कि भारत में योग से जुड़ा कारोबार 12 हजार करोड़ रुपए का हो चुका है। रिपोर्ट के मुताबिक इसमें आगे भी अच्‍छी ग्रोथ की संभावना जताई गई थी।

 

ऑनलाइन अधिक बिक रही है एक्सेसरी

फ्लिपकार्ट के मुताबिक एक साल में योग के लिए उपयोग में लाए जाने वाले मैट की मांग में 80 फीसदी और योग कपड़ों की डिमांड में 40 से 50 फीसदी का का इजाफा हुआ है।

 

 

योग आर्ट  

योग सेंटर्स और कंपनियां अपनी दीवारों पर लगाने के लिए योग से जुड़ी पेंटिंग्स अधिक खरीद रही हैं। योग पेंटिंग कारोबार का टर्नओवर करीब 500 करोड़ रुपए का है। ये कारोबार लगातार बढ़ रहा है। दिल्ली में आर्टमॉल के एमडी नरेंद्र जैन ने बताया कि योग सेंटर, कंपनी और होटल योग से जुड़ी पेंटिंग सबसे ज्यादा खरीद रही है। इससे उनके सेंटर में योग का माहौल बनाने में मदद मिलती है।

 

हेल्थ प्रोडक्ट

आयुर्वेदिक और हेल्थ प्रोडक्ट के नाम पर योग सीखाने वाले गुरू भी अच्छी कमाई कर रहे हैं। रामदेव का पतंजलि का टर्नओवर 2 हजार करोड़ रुपए के पार पहुंच चुका है। कंपनी ने इस वित्त वर्ष के लिए 5 हजार करोड़ तक पहुंचने का टारगेट रखा है। ‘खादी’ ब्रांड भी कॉरपोरेट्स के बीच फेमस हो चुका है। राज्य सरकार खादी नाम से हेयर ऑयल, शैंपू, फेसवॉश जैसे प्रोडक्ट मार्केट में लेकर आई हुई है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट