बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiबेमौसम आंधी-तूफान से 28 की मौत, 48 घंटे तक खतरा कायम

बेमौसम आंधी-तूफान से 28 की मौत, 48 घंटे तक खतरा कायम

उत्तर भारत समेत कई राज्यों में रविवार को आंधी-तूफान और बिजली गिरने के चलते 28 लोगों की जान चली गई।

Squall dust storm lash Delhi rail air operations hit

 

नई दिल्ली. उत्तर भारत समेत कई राज्यों में रविवार को आंधी-तूफान और बिजली गिरने के चलते 28 लोगों की जान चली गई। उत्तर प्रदेश और आंध्र में सबसे ज्यादा 9-9 मौतें हुई हैं। प. बंगाल में 8 लोगों की मौत हुई, इनमें से 4 बच्चे हैं। दिल्ली में भी 2 लोगों की जान गई। दिल्ली में मेट्रो, रेलवे और फ्लाइट पर असर पड़ा है। 40 से ज्यादा फ्लाइट डायवर्ट की गईं। पंजाब और हरियाणा में भी तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई। मौसम विभाग ने अगले 48 से 72 घंटे तक पूरे उत्तर भारत में तूफान आने की आशंका जताई है। राजस्थान में भी बवंडर उठ सकता है। बता दें कि मई के पहले हफ्ते में उत्तर प्रदेश और राजस्थान में आंधी-तूफान से हुए हदासों में 120 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी।

 

किस राज्य में कितनी मौतें

 

उत्तर प्रदेश: 9 लोगों की मौत हुई है और 34 लोग घायल हैं।

दिल्ली: 2 लोगों की मौत, 18 घायल।

आंध्र प्रदेश: आंध्र प्रदेश आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, राज्य के कई जिलों में तूफान ने तबाही मचाई है। यहां अलग-अलग हादसों में रविवार को 9 लोगों की मौत हुई।

प. बंगाल: बिजली गिरने से 8 लोगों की मौत हो गई, इनमें 4 बच्चे शामिल हैं।

 

दिल्ली में 109 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलीं हवाएं

दिल्ली और नेशनल कैपिटल रीजन (एनसीआर) में 109 किलोमीटर/घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। यहां शाम 4.30 बजे धूलभरी आंधी चली और अंधेरा छा गया। विजिबिलिटी कम होने की वजह से दिन में ही चालकों को वाहन की लाइट जलानी पड़ी। आंधी और बारिश के चलते दिल्ली के तापमान में करीब 10 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

 

उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी-तूफान का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) के असर से उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी-तूफान का खतरा बना हुआ है। मौसम विभाग ने 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तूफान आने की चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही राजस्थान में कुछ जगहों पर सोमवार को धूल बवंडर उठ सकता है। मंगलवार को मौसम फिर से पूरी तरह साफ हो जाएगा, साथ ही पारा भी बढ़ेगा।

 

आंधी तूफान के असर से 5 दिन पहले आ सकता है मानसून

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, उत्तर भारत में आए आंधी-तूफान और दक्षिण भारत में बढ़ते तापमान की वजह से इस बार मानसून 4-5 दिन पहले दस्तक दे सकता है। बारिश भी अच्छी होगी। आंधी-तूफान के कारण मानसून कम-ज्यादा नहीं होगा, बल्कि इसके समय में बदलाव हो सकता है।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट