Home » States » Delhiसत्‍ता के 4 साल : गरीबों और उद्योगों को समर्पित है मोदी सरकार, अमित शाह ने गिनाईं उपलब्धियां

मोदी के 4 साल : अमित शाह ने कहा गरीबों और उद्योगों को समर्पित है सरकार, गिनाईं उपलब्धियां

अमित शाह ने सत्‍ता में आने के 4 साल पूरे होने पर कहा है कि यह सरकार गरीबों और उद्योगों को समर्पित सरकार है।

सत्‍ता के 4 साल : गरीबों और उद्योगों को समर्पित है मोदी सरकार, अमित शाह ने गिनाईं उपलब्धियां

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अमित शाह ने सत्‍ता में आने के 4 साल पूरे होने पर कहा है कि यह सरकार गरीबों और उद्योगों को समर्पित सरकार है, जो 24 घंटे काम करती है।  उन्‍होंने सरकार की उपलब्धियां गिराने के लिए   बुलाई प्रेस कांफ्रेंस में कहाकि मोदी सरकार गांव, पिछड़े, गरीबों और उद्योगों के लगातार काम कर ही है। बता दें कि 26 मई, 2014 को मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।
 
 
इस सरकार ने कई सख्त फैसले किए
अमित शाह ने कहा, "हमने कड़े फैसले करने वाली, गरीबों के हित करने वाली सरकार दी है। भाजपा की मोदी सरकार बनते ही सवाल उठा कि ये गरीबों की सरकार है या उद्योगों के लिए समर्पित सरकार है। हमारी सरकार ने किसानों के साथ उद्योगों के लिए भी काम किया। मोदी सरकार ने सिद्ध कर दिया कि ग्रामीण विकास के लिए काम करने के साथ ही शहरों के लिए भी काम किया जा सकता है।"
"मोदी सरकार ने इस बात को साबित किया कि दुनिया के सभी देशों से दोस्ती बनाई जा सकती है और अपने रक्षा हितों को सर्वोपरि रखा जा सकता है।"
 

राहुल से और क्‍या उम्‍मीद करेंगे
राहुल गांधी के विरोधी रुख के बारे में पूछे एक सवाल पर शाह ने कहा, आप राहुल गांधी से और क्या उम्मीद रखते हैं? वे विपक्ष में हैं तो उन्हें ऐसा करना ही पड़ेगा। वो हमारी तारीफ तो नहीं करेंगे। हमने लोगों के सामने तथ्य और आंकड़े रख दिए हैं, जो कोई चाहे इसे चुनौती दे सकता है।


 

कांग्रेस के शुरुआती 3 सालों में पेट्रो उत्‍पादों के इतने ही थे दाम 
तेल की बढ़ती कीमतों के बारे में उन्होंने कहा, कांग्रेस राज के शुरुआती तीन साल में भी इतने पेट्रोल और डीजल के इतने ही दाम थे, लेकिन हमारी सरकार में बढ़ी कीमतों पर वे (कांग्रेस) मात्र तीन महीने में ही परेशान हो गए। उन्‍होंने कहा कि सरकार इस बारे में गंभीरता से सोच रही है और जल्द ही कोई दीर्घकालिक उपाय किया जाएगा। 

 
देश को 18 घंटे काम करने वाला प्रधानमंत्री मिला
अमित शाह ने कहा, "मैं पार्टी की ओर से मोदीजी को बहुत बधाई देता हूं। उनकी सरकार के सदस्यों को भी बधाई देता हूं।"  
"2014 में मिला जनादेश कई मायने में ऐतिहासिक था। 30 साल की अस्थिरता की बाद देश ने मोदीजी की स्थिर सरकार को चुना। आजादी के बाद पहली बार पूर्ण जनादेश की गैर-कांग्रेसी सरकार बनी।"
"जब मोदीजी को एनडीए के संसदीय दल का नेता चुना गया। तब उन्होंने कई बातें की थीं। एक- ये सरकार गांव, पिछड़े, गरीबों को समर्पित सरकार है। दूसरा- हम देश को ऊपर ले जाने का काम करेंगे। मोदी जी इन वादों को पूरा करने में खरे उतरे हैं।"
"देश को एक दिन में 18 घंटे काम करने वाला प्रधानमंत्री मिला है। हमने दुनिया में सबसे लोकप्रिय जननेता देने का काम किया है।"
 
 
इस सरकार ने कई सख्त फैसले किए
अमित शाह ने कहा, "हमने कड़े फैसले करने वाली, गरीबों के हित करने वाली सरकार दी है। भाजपा की मोदी सरकार बनते ही सवाल उठा कि ये गरीबों की सरकार है या उद्योगों के लिए समर्पित सरकार है। हमारी सरकार ने किसानों के साथ उद्योगों के लिए भी काम किया। मोदी सरकार ने सिद्ध कर दिया कि ग्रामीण विकास के लिए काम करने के साथ ही शहरों के लिए भी काम किया जा सकता है।"
"मोदी सरकार ने इस बात को साबित किया कि दुनिया के सभी देशों से दोस्ती बनाई जा सकती है और अपने रक्षा हितों को सर्वोपरि रखा जा सकता है।"

 
देश के 70% भूभाग और 65% आबादी पर भाजपा-सहयोगियों की सरकार
शाह ने कहा, "एक समय में अखबार में 12 लाख करोड़ के भ्रष्टाचार की हेडिंग लगती है, आज विकास की हेडिंग लगती है। हमने राजनीति में स्थिरता लाने के साथ सरकार में भी स्थिरता लाने का प्रयास किया है।"
"देश के गौरव बढ़ाने में अग्रसर मोदी की ये सफलता है कि देश के 70% भूभाग और 65% आबादी पर भाजपा-सहयोगियों की सरकार है। इसे मोदी के काम पर जनता की मुहर कहा जा सकता है।"
"रोजगार के मामले में स्वरोजगार लाने में मोदी सरकार ने काम किया है। सरकार ने करोड़ों लोगों को रोजगार देने का काम किया है। 9 करोड़ लोगों को रोजगार देने का काम किया है। 7 करोड़ महिलाओं को सम्मान के साथ जीने का मौका दिया है। भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत 53 हजार किमी राजमार्ग बनाने का काम पूरा हुआ।"
"ढोला-सादिया का सबसे लंबा पुल हमारी सरकार ने बनाया है। सरकार देश में पहली बार बुलेट ट्रेन लाने जा रही है। नमो हेल्थ केयर में 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य बीमा हुआ है।"
 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट