बिज़नेस न्यूज़ » States » Delhiमोदी सरकार ने 400% तक बढ़ाई डाक सेवकों की सैलरी, 20 तक कर सकते हैं आवेदन

मोदी सरकार ने 400% तक बढ़ाई डाक सेवकों की सैलरी, 20 तक कर सकते हैं आवेदन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार ने डाक विभाग के 2.60 लाख ग्रामीण डाक सेवकों के लिए बड़ा फैसला किया है।

1 of

 

 

 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार ने डाक विभाग के 2.60 लाख ग्रामीण डाक सेवकों के लिए बड़ा फैसला किया है। इसके तहत उनकी सैलरी 3 से 4 गुनी बढ़ गई है। दरअसल कैबिनेट ने बुधवार को ग्रामीण डाक सेवक की बेसिक सैलरी बढ़ाकर 14,500 रुपए महीने किए जाने को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही डाक सेवकों की बेसिक सैलरी लगभग 3 से 4 गुना तक बढ़ गई है। सरकार का यह फैसला इसलिए भी अहम है, क्योंकि इस पोस्ट के लिए लगभग 744 वैकेंसी भी निकली हुई हैं जिनके लिए 20 जून तक आवेदन किया जा सकता है।

 

 

उत्तराखंड के लिए निकली हैं 744 जॉब

दरअसल उत्तराखंड सर्किल में ग्रामीण डाक सेवकों की 744 पोस्ट निकली हुई हैं। इसके लिए 10वीं पास लोग आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज होना जरूरी है और आवेदन को सलेक्शन के 60 दिन के भीतर कंप्यूटर ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट भी देना होगा। इन पोस्ट्स के लिए 20 जून तक आवेदन किया जा सकता है। आवेदन करने वालों का साइकिल चलाना आना चाहिए। सलेक्शन पूरी तरह से मेरिट के आधार पर किया जाएगा।

 

 

किस्तों में मिलेगा एरियर

ग्रामीण डाक सेवकों की सैलरी में बढ़ोत्तरी का फैसला 1 जनवरी, 2016 से लागू होगा। इससे साफ है कि पहले से नौकरी कर रहे ग्रामीण डाक सेवक को लगभ डेढ़ साल का एरियर भी मिलेगा। हालांकि यह किस्तों में दिया जाएगा।

कैबिनेट मीटिंग के बाद टेलिकॉम मिनिस्टर मनोज सिन्हा ने रिपोर्टर्स से बातचीत में कहा, ‘ग्रामीण डाक सेवक (जीडीएस) जिन्हें अभी तक 2,295 रुपए प्रति महीना मिल रहे थे, उन्हें अब 10,000 रुपए मिलेंगे। वहीं जिन्हें अभी तक 2,775 रुपए मिल रहे थे, उन्हें अब 12,000 रुपए मिलेंगे। इसके साथ ही जिन जीडीएस को अभी तक 4,115 रुपए मिल रहे थे, उन्हें अब 14,500 रुपए मिलेंगे। ’

 

 

बदल जाएगा डाक सेवकों का जीवन

सिन्हा ने कहा कि जीडीएस को मिलने वाला वेतन पर्याप्त नहीं था और वेतन में बढ़ोत्तरी का यह फैसला उनके जीवन में व्यापक बदलाव लाएगा। वेज स्ट्रक्चर में बदलाव से 2018-19 में सरकार पर 1,257 करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इसमें 860.95 करोड़ रुपए का एकमुश्त खर्च और 396.80 करोड़ रुपए का बोझ पूरे साल के दौरान पड़ेगा।

 

 

कैरियर के तौर पर काम करेंगे डाक सेवक

सिन्हा ने कहा, ‘इंडिया पोस्ट का चेहरा बदल रहा है। हमने पार्सल डायरेक्टोरेट तैयार किया है और इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक शुरू होने जा रहा है। आने वाले दिनों में डाक विभाग के अधीन एक इन्श्योरेंस कंपनी भी काम करेगी। जीडीएस हमारे कैरियर के तौर पर होंगे।’

 

 

आगे भी पढ़ें 

 

 

 

औसतन 56 फीसदी बढ़ेगा वेतन

भले ही दी बेसिक पे तीन गुनी से ज्यादा बढ़ाई गई है, हालांकि पूरे बोर्ड में कुल वेज में औसतन 56 फीसदी की बढ़ोत्तरी होगी। सरकार वर्तमान में दिए जा रहे 142 फीसदी महंगाई भत्ते (डीए) के बजाय बेसिक पे पर 7 फीसदी डीए का भुगतान करेगी।

 

 

देश में हैं 2.6 लाख ग्रामीण डाक सेवक

देश में लगभग 2.6 लाख ग्रामीण डाक सेवक हैं, जो देश के लगभग 1.3 लाख ग्रामीण डाक घरों में काम करते हैं। मंत्री ने कहा कि जीडीएस अब 3 घंटे, 3.5 घंटे, 4 घंटे, 4.5 घंटे और 5 घंटे की शिफ्ट में काम करेंगे और वह 65 साल की उम्र तक काम करेंगे।

सिन्हा ने कहा कि कैबिनेट ने जीडीएस के आश्रितों के लिए कम्पन्सेट्री अप्वाइंटमेंट को भी मंजूरी दे दी है, जो पहले नहीं था।


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट