Home » States » DelhiThe worst session in terms of work in 18 years

संसद का बजट सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्‍थगित, काम के लिहाज से 18 साल में सबसे खराब

संसद का बजट सत्र शुक्रवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया।

1 of

 
नई दिल्ली. संसद का बजट सत्र शुक्रवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया। लोकसभा में कुल 23 और राज्यसभा में 28% कामकाज हुआ। लगातार हंगामे की वजह से दोनों सदनों के 250 घंटे बर्बाद हो गए। काम के लिहाल से यह सत्र 18 साल में सबसे खराब रहा। इससे पहले 2000 में लोकसभा में प्रोडक्टिविटी 21% और राज्यसभा की 27% थी। इस बार आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जा की मांग, कावेरी विवाद और नीरव मोदी जैसे मुद्दों कांग्रेस, टीडीपी और एआईएडीएमके समेत विपक्ष पार्टियों ने हंगामा किया। इस पर संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कांग्रेस ने संसद चलने नहीं दी।


 
 
सदन में कांग्रेस का रवैया नकारात्मक
अनंत कुमार ने कहा- ''भाजपा लोगों को जोड़ने के लिए काम कर रही है, जबकि कांग्रेस अपनी नकारात्मक राजनीति के जरिए उन्हें बांटती है। इसीलिए उन्होंने संसद की कार्यवाही नहीं चलने दी। कांग्रेस के इस रवैये के बीच हम 23 दिन तक सदन में बैठे रहे। आज सांसदों ने कांग्रेस के खिलाफ प्रदर्शन करने का फैसला किया। विरोध के दूसरे चरण में भाजपा सांसद अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र में 12 अप्रैल को एक दिन उपवास करेंगे।''
 
 
गांधी प्रतिमा के पास आमने-सामने आए सांसद
शुक्रवार को संसद परिसर में एनडीए के सांसद राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने जुटे और हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया। कुछ ही देर बाद कांग्रेस के सांसद भी उनके सामने आकर नारेबाजी करने लगे। इसके बाद एनडीए के सांसद मार्च निकालते हुए बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा तक गए। कांग्रेस सांसदों ने भी उसी दिशा में मार्च शुरू कर दिया, लेकिन अंबेडकर प्रतिमा तक पहुंचने से पहले ही वापस लौट आए।
उधर, गुरुवार को भी कांग्रेस सांसदों ने गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने संसद में गतिरोध के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे।
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss