Home » SME » Service SectorDo You Know: Text Neck Syndrome Symptoms

गर्दन झुकाकर फोन यूज करने से हो सकती है टेक्स्ट नेक नाम की खतरनाक बीमारी

ये बीमारी गर्दन को झुकाकर लगातार गैजेट्स का यूज करने से होती है।

1 of

हेल्थ डेस्क। टेक्स्ट नेक नाम की बीमारी गर्दन को झुकाकर लगातार गैजेट्स का यूज करने से होती है। इस बीमारी को लेकर सबसे बड़ा खतरा यंगस्टर्स को है क्योंकि वे ही गैजेट्स का सबसे ज्यादा यूज करते हैं।

ऑस्ट्रेलियन स्पाइनल रिसर्च फाउंडेशन के पूर्व गवर्नर डॉ जेम्स कार्टर की रिपोर्ट के अनुसार टेक्स्ट नेक बीमारी से स्पाइन 4 से मी तक झुक सकती है। साथ ही इससे सर्वाइकल स्पाइन यानि की गर्दन की हड्डी को स्थाई रूप से नुकसान हो सकता है और अपना सारा जीवन गर्दन दर्द के साथ बिताना पड़ सकता है।  

 

एक रिसर्च के अनुसार 18 से 44 उम्र तक की उम्र के लगभग 79% लोग जागते समय सिर्फ 2 घंटे छोड़कर हर समय सेलफोन का किसी न किसी रूप में यूज करते रहते हैं। 

 

क्या है टेक्स्ट नेक 
इस बीमारी में गर्दन का झुकाव आगे की तरफ हो जाता है। इसमें गर्दन की हडि्डयों में चेंज आने से उनके डैमेज होने का डर बना रहता है। इससे हडि्डयां घिस जाती हैं। जिससे रोगी को सिर, गर्दन, कंधे और पीठ में दर्द बना रहता है। इन अंगों की मसल्स भी अकड़ जाती हैं। 

 

आगे की स्लाइड्स पर जानिए इस बीमारी के संकेत...

 

संकेत

>इस बीमारी के होने पर पेशेंट के पीठ के ऊपर के हिस्से में तेज दर्द होने लगता है और वहां की मसल्स में स्ट्रेस आ जाता है। 

 

>पेशेंट को पता नहीं चल पाता कि चैट करने या लैपटॉप पर मूवी देखते समय गर्दन को झुकाए रखने से उसकी गर्दन की मसल्स को नुकसान हो रहा है और वे अकड़ती जा रही हैं। 

 

>हमेशा टेंशन और एंजाइटी फील करना। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि फोन पर लगातार देखने से हमारी रीढ़ की हड्‌डी और ब्रेन स्टेम में खिंचाव होता है। जिससे दिल की धड़कनों और ब्लड प्रेशर पर भी इफेक्ट होता है। इससे बॉडी में  हैप्पी हार्मोन्स का सिक्रेशन बंद हो जाता है। 

ऐसे बच सकते हैं इस बीमारी से
>मोबाइल लैपटॉप और टैबलेट को जितना हो सके अपनी आंखों के सामने रखें। अगर यूज करते वक्त मसल्स में पेन हो तो अपनी पोजिशन चेंज कर दें। 

>पूरे दिन अपने सिर को झुकाकर लैपटॉप पर काम करना इस बीमारी के लिए खतरनाक है। काम करते वक्त बीच-बीच में ब्रेक लेते रहे। 

>कम्प्यूटर पर काम करते वक्त टेबल और कुर्सी की ऊंचाई का रेशियो ठीक रखें ताकि कमर सीधी रहे।  

>रीढ़ की हड्‌डी की मसाज करवाएं और रेगुलर तौर पर योग और एक्सरसाइज करें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss