Home » SME » Service SectorNational disaster agency issues 72-hour warning for 9 states

आंधी-तूफान ने 130 लोगों की जान : घर में रहें तो क्या करें, न रहें तो क्या करें?

अगले 72 घंटों में नॉथ इंडिया के कुछ राज्यों में आंधी-तूफान की आशंका जताई गई है।

1 of

न्यूज डेस्क। नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) ने शुक्रवार को वॉर्निंग जारी की है। अगले 72 घंटों में नॉथ इंडिया के कुछ राज्यों में आंधी-तूफान की आशंका जताई गई है। अगले तीन दिन में उत्तराखंड में आंधी-तूफान, बिजली गिर सकती है।

 

जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली में भी इसका प्रभाव दिख सकता है। आईएमडी की इंफॉर्मेशन के आधार पर एनडीएमए ने वॉर्निंग जारी की है। पिछले दो दिनों में आंधी-तूफान से 130 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। डिजास्टर मैनेजमेंट एक्सपर्ट डॉ. शाईन डेविड (DAVV, इंदौर) ने बताया कि कुछ Tips का ध्यान रखा जाए तो हम खुद को काफी हद तक सेफ कर सकते हैं। सभी को यह टिप्स पता होना चाहिए। आज हम इन्हीं की जानकारी आपको दे रहे हैं।  

 

तूफान के बनने के पीछे ये तीन कारण रहे 

 

भीषण गर्मी: उत्तर भारत में 40 डिग्री से अधिक तापमान। 

 

जबरदस्त नमी: वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से उत्तरी पाक, जम्मू-कश्मीर से और बंगाल की खाड़ी से नमी आई। 

 

जलवायु में जल्दी-जल्दी होने वाले छोटे-बड़े बदलाव। इसका कारण भी पश्चिमी विक्षोभ रहा। 

 

घर में हों तो क्या करें, देखिए अगली स्लाइड में....

घर में हों तो क्या करें

 

- डोरी वाले फोन, इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे कम्प्यूटर, पावर टूल्स का यूज न करें। 


- आंधी चलने के दौरान सेलफोन को स्विच ऑफ कर दें।


- हाथ न धोएं, शॉवर न करें, बर्तन न धोएं और लॉन्ड्री न करें। दरअसल पानी के टच में होने से इलेक्ट्रिक शॉक लग सकता है। इसलिए बिजली विभाग भी पावर ऑफ कर देता है ऐसा होने पर। 


- खिड़की, दरवाजों से दूर रहें। तेज हवा में यह गिर सकते हैं। 
 

बाहर हो तो क्या करें


- काल बादल नजर आए, बादल गरजें और आंधी चले तो खुली जगह के बजाए किसी सुरक्षित स्थान पर ठहर जाएं। 


- किसी बंद बिल्डिंग में चले जाएं। ओपन एरिया में न रुकें।


- कहीं ऐसी बिल्डिंग नहीं है तो किसी कार, ट्रक या एसयूवी में बैठ सकते हैं। 


- साइकिल या बाइक से हैं तो गाड़ी को साइड में पार्क कर दें। 


- यदि आप भींगे हुए हैं तो मेटल को टच न करें। पानी और मेटल इलेक्ट्रिकल करेंट पैदा करते हैं।


- यदि ग्रुप में हैं तो अलग-अलग सुरक्षित स्थान पर खड़े हो जाएं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट