बिज़नेस न्यूज़ » SME » Service Sectorलड़का-लड़की शादी की उम्र के योग्य नहीं तो भी लिव इन रिलेशनशिप में रह सकते हैं : SC

लड़का-लड़की शादी की उम्र के योग्य नहीं तो भी लिव इन रिलेशनशिप में रह सकते हैं : SC

शादी के बाद भी वर या वधू दोनों में से किसी की उम्र विवाह योग्य नहीं है तो वह लिव इन रिलेशनशिप में साथ रह सकते हैं।

1 of

न्यूज डेस्क। सुप्रीम कोर्ट ने लिव इन रिलेशनशिप को लेकर एक महत्वपूर्ण फैसला दिया है। एक मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि, शादी के बाद भी वर या वधू दोनों में से किसी की उम्र विवाह योग्य नहीं है तो वह लिव इन रिलेशनशिप में साथ रह सकते हैं। इससे उनकी शादी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। 

 

शादी के लिए 21 साल की उम्र होना जरूरी
भारत में शादी के लिए लड़के की उम्र 21 साल और लड़की 18 साल होना जरूरी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर किसी युवक की उम्र शादी योग्य यानि 21 साल नहीं हुई और उसकी शादी कर दी गई है तो वह अपनी पत्नी के साथ लिव इन में रह सकता है। लड़का-लड़की चाहें तो शादी के योग्य उम्र होने पर विवाह बंधन में बंध सकते हैं और ऐसा नहीं चाहते तो लिव इन रिलेशनशिप में ही ताउम्र रह सकते हैं। 

 

जीवनसाथ चुनने का अधिकार कोई छीन नहीं सकता
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जीवनसाथी चुनने का अधिकार युवक-युवती से कोई छीन नहीं सकता। कोई सामाजिक संगठन, संस्था या फिर कोर्ट भी ऐसा नहीं कर सकता। सुप्रीम कोर्ट केरल की एक 19 वर्षीय युवती की शादी 20 साल के युवक से होने के मामले में सुनवाई कर रहा था। कोर्ट ने कपल को साथ रहने के लिए लिव इन का विकल्प दिया है। 

 

क्या है लिव इन रिलेशनशिप के नियम, देखिए अगली स्लाइड्स में...

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट