Home » SME » Service SectorHigh Uric Acid Problem and Cure

ज्वाइंट पेन से लेकर किडनी स्टोन तक, यूरिक एसिड से हो सकती हैं 5 प्रॉब्लम

सोर्स : स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन, मैरीलैंड मेडिकल सेंटर की रिसर्च।

1 of

हेल्थ डेस्क। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन और मैरीलैंड मेडिकल सेंटर की रिसर्च के अनुसार दुनिया में हर पांच में से एक व्यक्ति में यूरिक एसिड का लेवल हाई होता है। लेकिन इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता। परंतु इसके हेल्थ पर इम्पैक्ट काफी सीरियस होते हैं जो जिंदगी भर के लिए परेशानी बन सकते हैं।


 
यूरिक एसिड हाई प्रोटीन वाले फूड्स में मौजूद प्यूरीन से बनता है। महिलाओं में यूरिक एसिड का नॉर्मल लेवल 2.4 से 6.0 mg/dL और पुरुषों में 3.4 से 7.0 mg/dL होना चाहिए। इसका बनना इतना खतरनाक नहीं है। आमतौर पर हर व्यक्ति में यह कम या ज्यादा बनता है और यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है। यह खतरनाक तब साबित होता है, जब बॉडी में रुकने लगता है और यूरिन के जरिए बाहर नहीं निकल पाता है। ऐसी स्थिति में यूरिक एसिड क्रिस्टल्स के रूप में बॉडी में जमा होने लगता है।
 
इन वजहों से बढ़ता है यूरिक एसिड का लेवल...
 
>हाई प्रोटीन वाले फूड (खासकर बीफ/मटन या एनिमल ऑर्गन्स जैसे कलेजी ) ज्यादा लेने से बॉडी में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सकती है।
>किडनी की खराबी के कारण भी बॉडी से यूरिक एसिड पूरी तरह बाहर नहीं निकल पाता है। इससे भी लेवल बढ़ जाता है।  
>ज्यादा उपवास करने या हद से ज्यादा डाइटिंग करने से भी यूरिक एसिड का लेवल बढ़ सकता है। 
 
यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या होगा?
 
यूरिक एसिड का लेवल बढ़ने से कई तरह की प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, मुंबई की चीफ डायटिशियन श्रीमती सुवर्णा सावंत  बता रही हैं बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ने से होने वाली पांच प्रॉब्लम्स और इसका लेवल कम करने के तरीके। 
 
ऊपर दिए गए वीडियो में जानिए बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ने से होने वाली हेल्थ प्रॉब्लम्स के बारे में...
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट