Home » SME » Service SectorEverything Know About Phone Memory Cards and SD Card

यूज कर रहे हैं या खरीदने वाले हैं मेमोरी कार्ड, तो 5 बातें होना चाहिए पता

ऐसे कई यूजर्स होते हैं जो बिना जानकारी के मेमोरी कार्ड खरीद लेते हैं और बाद में उनमें प्रॉब्लम आने लगती है।

1 of

गैजेट डेस्क।  ऐसे कई यूजर्स हैं जो अपने फोन में मेमोरी कार्ड यानी SD कार्ड का यूज करते हैं। इस तरह के कार्ड का यूज फोन के साथ टैबलेट, DSLR कैमरे में भी किया जाता है। ऐसे में आपको इन कार्ड्स से जुड़ी उन छोटी-छोटी बातों के बारे में पता होना चाहिए जिससे आगे ये कार्ड प्रॉब्लम नहीं करें। ऐसे कई यूजर्स होते हैं जो बिना जानकारी के मेमोरी कार्ड खरीद लेते हैं और बाद में उनमें प्रॉब्लम आने लगती है।

 

# कई तरह के होते हैं मेमोरी कार्ड

 

कई लोगों को ऐसा लगता है कि सभी मेमोरी कार्ड एक जैसे होते हैं। इनमें सिर्फ मेमोरी का अंतर होता है, जबकि ऐसा नहीं है। मेमोरी कार्ड के अलग-अलग टाइप होते हैं। यानी मेमोरी के साथ इनके फॉर्मेट और क्लास होती है। साथ ही, इनकी स्पीड भी अलग-अलग हो जाती है। यानी ये डाटा को कितनी तेजी से एक्सेस करते हैं। इसके अलावा, यदि आपने कैमरे के लिए गलत मेमोरी कार्ड सिलेक्ट कर लिया तब हो सकता है कि उससे आप HD या फुल HD वीडियो रिकॉर्डिंग भी नहीं कर पाएं।

 

# 3 तरह के होते हैं मेमोरी कार्ड

 

मेमोरी कार्ड की स्टोरेज के हिसाब से उनके टाइप भी होते हैं। यानी मेमोरी कार्ड 128MB से 4GB तक है, तब उसका टाइप SDSC (secure digital standard capacity) होता है। ठीक इसी तरह, 4GB से 32GB तक स्टोरेज वाले कार्ड का टाइप SDHC (secure digital high capacity) होता है। वहीं, इससे ज्यादा मेमोरी वाली कार्ड का टाइप SDXC (secure digital extended capacity) होता है।

 

# सेम मेमोरी लेकिन प्राइस में अंतर

 

आपने देखा होगा कि कई बार एक जैसी स्टोरेज वाले मेमोरी कार्ड की प्राइस में बहुत बड़ा अंतर होता है। यानी 16GB का कार्ड अगर 500 रुपए का रहा है, तब उतनी ही मेमोरी वाला कार्ड 700 रुपए में भी मिलता है। इसके पीछे इन कार्ड की स्पीड का अंतर होता है। जैसे, यदि 16GB के कार्ड पर C के अंदर 4 लिखा है तब उसकी प्राइस कम होगी, लेकिन उस कार्ड पर 10 लिखा है तब उसकी प्राइस ज्यादा हो जाती है। यहां पर 4 या 10 उस कार्ड की क्लास है, यानी उस कार्ड की स्पीड 4MB/S या फिर 10MB/S होगी।

 

आगे की स्लाइड्स पर जानिए कार्ड की स्पीड और सिलेक्शन से जुड़ी अन्य बातें...

 

 

# जितनी क्लास उतनी स्पीड

 

मेमोरी कार्ड लेते वक्त हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसकी डाटा ट्रांसफर स्पीड कितनी है। इसके लिए जरूरी है कि उस पर लिखी क्लास को देखें। क्लास जितनी होती डाटा ट्रांसफर स्पीड भी उतनी ही होगी। क्लास स्पीड 2MB/S से लेकर 30MB/S तक होती है। जिन कार्ड की क्लास UHS होती है उनकी स्पीड 30MB/S तक होती है।

 

 

# DSLR रिकॉर्डिंग से जुड़े कार्ड

 

DSLR कैमरे के लिए मेमोरी कार्ड लेते समय बहुत सावधानी दिखाना चाहिए, क्योंकि गलत मेमोरी कार्ड से HD या फुल HD वीडियो रिकॉर्डिंग में प्रॉब्लम आ सकती है। जैसे, 2 क्लास वाले कार्ड नॉर्मल यूज के लिए होता है, ये HD या फुल HD वीडियो रिकॉर्डिंग को सपोर्ट नहीं करता। 4 क्लास वाला कार्ड सिर्फ HD रिकॉर्डिंग को सपोर्ट करता है। वहीं, 10 क्लास वाला कार्ड फुल HD वीडियो रिकॉर्डिंग को सपोर्ट करता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट