बिज़नेस न्यूज़ » SME » Policyछोटे उद्योगों की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका: नायडू

छोटे उद्योगों की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका: नायडू

नायडू 21वें इंटरनेशनल स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने छोटे कारोबार को मजबूत करने पर बल दिया

नई दिल्‍ली। उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने छोटे कारोबार को मजबूत करने पर बल देते हुए कहा कि इकोनॉमी की ग्रोथ में छोटे एवं मझौले उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके लिए ऐसी तकनीक तलाशने पर जोर देना होगा जो भविष्य की पीढ़ियों के लिए महत्वपूर्ण हो। 

 

इंटरनेशनल कॉन्‍फ्रेंस 
नायडू यहां 21वें इंटरनेशनल स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि छोटे उद्योगों की भारतीय अर्थव्यवस्था में हिस्सेदारी 45 प्रतिशत तक है और इस क्षेत्र में 46 करोड़ लोगों को रोजगार प्राप्त है।

 

ये भी थे मौजूद 
वर्ल्‍ड एसोसिएशन फॉर स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्रादजेज (वास्‍मे) द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु, बंगलादेश के उद्योग मंत्री अमीर हुसैन अमू तथा  मारीशस के  सहकारिता मंत्री सूमिलदूथ भोला मौजूद थे।

 

चुनौतियों से निपटना होगा 
उन्‍होंने कहा कि छोटे उद्योग पूंजी, कुशल श्रमिक, बेहतर प्रबंधन और  प्रौद्योगिकी की कमी से जूझते हैं। छोटे उद्योगों की चुनौतियों से निपटना जरुरी है जिससे ये अपनी पूरी क्षमता के साथ अर्थव्यवस्था में योगदान कर सके।    

 

रोजगार की जरूरत 
उप राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व बैंक के अनुमान के अनुसार अगले 15 वर्ष में 60 करोड़ लोगों को नई नौकरियों की जरुरत होगी। रोजगार के मांग करने वाले अधिकतर लोग  एशिया और अफ्रीका में होंगे। रोजगार के नए अवसरों का सृजन उभरती हुई अर्थव्यवस्था में होंगे। इनमें भी नयी अवसर अनौपचारिक क्षेत्र में बनेंगे। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट