Home »SME »Policy» A Parliamentary Panel Has Asked The Labour Ministry To Go For Random Checking Of Returns Filed By Private EPF Trusts To Detect Any Misuse Of The Facility And Impose Heavy Penaly For Default

निजी ईपीएफ ट्रस्ट पर समिति ने दिया सुझाव, हो आकस्मिक जांच

निजी ईपीएफ ट्रस्ट पर समिति ने दिया सुझाव, हो आकस्मिक जांच
नई दिल्‍ली। एक पार्लियामेंट्री पैनल ने लेबर मिनिस्‍ट्री को प्राइवेट ईपीएफ ट्रस्ट द्वारा दायर की गई रिटर्न की आकस्मिक जांच करने के लिए कहा है। इसके साथ ही बोर्ड ने सुविधा का किसी भी तरह के दुरुपयोग होने पर भारी पेनाल्‍टी लगाने को भी कहा है। ईपीएफओ द्वारा रेग्‍यूलेट होने वाली प्राइवेट ईपीएफ ट्रस्टों कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट को मेंटेन करती हैं। इसके साथ ही उनकी रिटायरमेंट सेविंग को मैनेज करती हैं। इन्हें छूट प्राप्त संगठन कहा जाता है, क्योंकि वे अपने कर्मचारियों के ईपीएफ अंशदान को ईपीएफओ के पास जमा नहीं कराते। संसद में आज पेश श्रम पर संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस कानून का धड़ल्ले से उल्लंघन हो रहा है और समिति का मानना है कि सिर्फ रिटर्न फाइल करना ही कामगारों के हितों के संरक्षण के लिए काफी नहीं है। इन तरह के प्रतिष्ठानों द्वारा दाखिल रिटर्न की जांच में और सुधार की गुंजाइश है।
 
समिति ने सुझाव दिया है कि इन छूट प्राप्त संगठनों द्वारा दाखिल रिटर्न की जांच की जानी चाहिए जिससे इस सुविधा के दुरपयोग का पता चल सके और चूक करने वाले प्रतिष्ठानों पर उचित कार्रवाई की जा सके।
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY