Home » SME » Opportunityyou can start your own cold storage plant

बिजनेस के लिए सरकार देती है 10 करोड़ की सब्सिडी, आप भी उठाएं फायदा

अगर आप कोई ऐसा बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, जिसमें सरकार का सपोर्ट मिले तो आप कोल्‍ड स्‍टोरेज का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

1 of
 
नई दिल्‍ली। अगर आप कोई ऐसा बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, जिसमें रिस्‍क भी कम हो और सरकार का भी सपोर्ट मिले तो कोल्‍ड स्‍टोरेज का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। इस बिजनेस को सरकार 50 फीसदी तक की सब्सिडी देती है, जो अधिकतम 10 करोड़ रुपए तक होती है। इस बिजनेस में काफी संभावनाएं हैं। सरकार की ही एक रिपोर्ट बताती है‍ कि देश भर में 6.1 करोड़ टन कोल्‍ड स्‍टोरेज कैपेस्टिी की डिमांड है, जबकि अभी तक केवल 2.9 करोड़ टन की कैपेसिटी डेवलप हो पाई है। सरकार भी चाहती है कि देश में कोल्‍ड स्‍टोरेज की कैपेसिटी तेजी से बढ़े, इसलिए सरकार छोट से छोटे प्रोजेक्‍ट को प्रमोट कर रही है। सरकार फूड प्रोसेसिंग मिनिस्‍ट्री के माध्‍यम से कोल्‍ड स्‍टोरेज प्लांट लगाने वालों को सपोर्ट करती है। आइए जानते हैं, क्‍या सरकार की स्‍कीम और आप कैसे इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें – क्‍या है कोल्‍ड स्‍टोरेज बिजनेस 
 
क्‍या है कोल्‍ड स्‍टोरेज बिजनेस
 
कोल्‍ड स्‍टोरेज से आशय ऐसे प्लांट से है, जहां फूड और डेयरी प्रोडक्‍ट्स को प्रिजर्व कर सकते हैं। देश कोल्‍ड स्‍टोरेज प्‍लांट्स न होने के कारण काफी सामान खराब हो जाता है, इसलिए इस तरह के यूनिट्स की डिमांड बढ़ती जा रही है। आप किसी भी शहर में कोल्‍ड स्‍टोरेज प्लांट लगाकर बिजनेस शुरू कर सकते हैं, जहां किसान व ट्रेडर्स एक तय कीमत देकर अपने प्रोडक्‍ट्स रख सकते हैं।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें – कितना  आएगा खर्च 
 
कितना आएगा खर्च
 
अगर आप कोल्‍ड स्‍टोरेज प्लांट लगाना चाहते हैं तो नेशनल हार्टिकल्‍चर बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक आपको 6000 रुपए प्रति टन से लेकर 8000 रुपए प्रति टन तक का खर्च आएगा। आपको कम से कम 5000 मीट्रिक टन का प्लांट लगाना चाहिए, जिस पर लगभग 3 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें – सरकार कितनी देती है सब्सिडी 
 
सरकार कितनी देती है सब्सिडी
 
मिनिस्‍ट्री ऑफ फूड प्रोसेसिंग के मुताबिक सामान्‍य इलाकों में फूड प्रोसेसिंग प्रोजेक्‍ट लगाने पर प्‍लांट एंड मशीनरी और टैक्निकल सिविल वर्क पर खर्च कुल रकम का 50 फीसदी सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है, जबकि हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड, जम्‍मू कश्‍मीर, सिक्किम सहित नॉर्थ ईस्‍ट रीजन के इलाके में आप ऐसा प्‍लांट लगाते हैं तो आपको सरकार 75 फीसदी ग्रांट देती है। सरकार अधिकतम 10 करोड़ रुपए तक की ग्रांट देती है। जिसका मतलब है कि आप 20 करोड़ रुपए तक का प्रोजेक्‍ट शुरू कर सकते हैं।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें – और क्‍या मिलता है सपोर्ट
 
और क्‍या मिलता है सपोर्ट
 
अगर आप कोल्‍ड स्‍टोरेज प्‍लांट लगाना चाहते हैं तो सरकार आपको बैंकों से प्रोजेक्‍ट लोन दिलाने में भी सहयोग करती है। आप इसके लिए नेशनल कॉओपरेटिव डेवलपमेंट कॉरपोरेशन से संपर्क कर सकते हैं। आप कॉरपोरेशन की वेबसाइट से लोन एप्‍लीकेशन या इस लिंक से http://www.ncdc.in/downloads/CLF-Processing.pdf डाउनलोड कर सकते हैं। आप नेशनल हॉर्टिकल्‍चर बोर्ड से भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा टैक्‍निकल और मार्केटिंग की ट्रेनिंग भी देती है। आप स्‍कीम के बारे में और अधिक जानने के लिए इस लिंक पर भी क्लिक कर सकते हैं - http://mofpi.nic.in/Schemes/cold-chain
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट