बिज़नेस न्यूज़ » SME » Opportunityपेपरबैग यूनिट लगाने की यह है सरकारी स्‍कीम, 1 करोड तक मिल जाएगा लोन

पेपरबैग यूनिट लगाने की यह है सरकारी स्‍कीम, 1 करोड तक मिल जाएगा लोन

पेपर कैरी बैग का इस्‍तेमाल लगभग हर टाइप के ट्रेड में हो रहा है।

1 of

नई दिल्‍ली। पॉलिथीन में बैन लगने के बाद पेपर बैग और पाउच की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। पेपर कैरी बैग का इस्‍तेमाल लगभग हर टाइप के ट्रेड में हो रहा है। टैक्‍सटाइल शॉप, बैकरी, शू, चप्‍पल शॉप, ग्रोसरी शॉप, फैसी शॉप, बुक शॉप, स्‍वीट शॉप, मीट-फिश शॉप, वेजिटेबल शॉप, स्‍टेशनरी शॉप, हार्डवेयर शॉप, सभी डिपार्टमेंटल शॉप एवं कंज्‍यूमर शॉप में पेपर बैग का इस्‍तेमाल हो रहा है। कस्‍टमर भी इतने सचेत हो गए हैं कि पेपर बैग की डिमांड करते हैं। ऐसे समय में यदि आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाते हैं तो यह फायदा का बिजनेस हो सकता है। 
अच्‍छी बात यह है कि सरकार भी पेपर बैग यूनिट को सपोर्ट कर रही है, ताकि पॉलिथीन बैग की वजह से पर्यावरण को हो रहे नुकसान पर काबू पाया जा सकता है। अगर आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाना चाहते हैं तो सरकार आपको एक करोड़ रुपए तक का लोन दे सकती है। आज हम आपको इस बिजनेस की बारीकियों के साथ-साथ यह भी बताएंगे कि इस बिजनेस से आपको क्‍या फायदा होगा। 

 

कितने में शुरू होगी यूनिट 
केंद्र सरकार की उद्यमी मित्र योजना के तहत तैयार किए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, अगर आप अपनी यूनिट लगाने के लिए लैंड और बिल्डिंग परचेज करते हैं तो आपको लगभग 32 लाख रुपए इस पर खर्च करने होंगे। हालांकि आप किराये की बिल्डिंग में भी यह यूनिट लगा सकते हैं। इसके अलावा आपको प्‍लांट एंड मशीनरी पर 14.65 लाख रुपए का खर्च करना होगा। विवि‍ध असेट के नाम पर 3 लाख, पीएंडपी एक्‍सपेंस पर 2.15 लाख रुपए, कंटीजैंस पर 4.67 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल मार्जिन के तौर 91.64 लाख रुपए यानी कुल 1 करोड़ 48 लाख रुपए की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बनानी होगी। वर्किंग कैपिटल में रॉ-मैटिरियल भी शामिल होगा। 

 

कितना मिलेगा लोन 
उद्यमी मित्र के मुताबिक आपको प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट का लगभग 1 करोड़ 3 लाख रुपए का लोन मिल जाएगा, जबकि आपको खुद लगभग 45 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। 
 

आगे पढ़ें : और क्‍या सपोर्ट करेगी सरकार 

यह भी सपोर्ट करेगी सरकार 
पेपर पैकेजिंग प्रोडक्‍ट्स के लिए इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग मुंबई और उनकी ब्रांच की ओर से ट्रेनिंग दी जाती है। इसी तरह की ट्रेनिंग नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन अहमदाबाद और उरकी ब्रांच द्वारा बैग और पाउच के डिजाइन की ट्रेनिंग दी जाती है। इसके अलावा आप उद्यमी मित्र की वेबसाइट www.udyamimitra.in  पर हैंड होल्डिंग सर्विसेज जैसे अप्‍लीकेशन फाइलिंग, प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार करना, ईडीपी, फाइनेंशियल ट्रेनिंग, स्किल डेवलपमेंट, मेंटरिंग आदि के बारे में बताया जाता है। 
आगे पढ़ें : कितना होगा प्रॉफिट 

 

कितना होगा प्रॉफिट 

 

प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, पहले साल आपको 1 लाख 76 हजार रुपए का कुल प्रॉफिट होगा। लेकिन दूसरे साल में आपको 6 लाख 7 हजार रुपए का प्रॉफिट होगा, जो अगले साल बढ़कर 10 लाख 78 हजार रुपए, चौथे साल 12 लाख 17 हजार और पांचवे साल आपको क13 लाख 56 हजार रुपए का प्रॉफिट हो सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट