बिज़नेस न्यूज़ » Business Mantra1.28 लाख रु में शुरू करें फ्रूट बार बिजनेस, 5 लाख तक सालाना हो सकती है इनकम

1.28 लाख रु में शुरू करें फ्रूट बार बिजनेस, 5 लाख तक सालाना हो सकती है इनकम

सरकारी स्कीम से आसानी से मिल जाएगा 11 लाख रुपए तक का लोन

1 of


नई दिल्‍ली. हैल्दी स्नैक्‍स का बिजनेस बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसा ही एक बिजनेस है, फ्रूट बार। अगर आप फ्रूट बार का बिजनेस शुरू करते है तो आप प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP) के तहत 90 फीसदी तक लोन ले सकते हैं। इतना ही नहीं, आपको 15 से 25 फीसदी तक सब्सिडी भी मिलेगी। PMEGP के लिए सरकारी एजेंसी खादी विलेज इंडस्‍ट्री कमीशन (KVIC)  द्वारा बनाए गए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, यह बिजनेस 12.82 लाख रुपए में शुरू हो सकता है और इसके लिए आपको लगभग 11.55 लाख रुपए तक का लोन मिल जाएगा। यह प्रोजेक्‍ट लगाने के लिए आपके पास लगभग 1.28 लाख रुपए होने चाहिए। आइए, जानते हैं कि KVIC की इस प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट में क्‍या है और कैसे आप इसके आधार पर अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। 

 

क्‍या है फ्रूट बार 
हर कोई फलों को पसंद करता है, लेकिन फल अलग-अलग सीजन में उपलब्‍ध होते हैं। हालांकि देश में फलों को प्रिजर्विंग के अलग-अलग तरीके हैं। इनमें से एक है फ्रूट बार। पल्‍पी फ्रूट जैसे केला, आम, अमरूद, सेब का फ्रूट बार बनाना आसान होता है। आप भी फ्रूट बार मेकिंग यूनिट लगाकर अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। 

 

 

कैसे बनेगी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट 
अगर आप यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो सबसे पहले लोन के लिए आपको प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार करनी होगी। KVIC के प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, आप लगभग 60 टन फ्रूट बार तैयार करने की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बनाते हैं तो आपको लगभग 100 वर्ग मीटर जमीन की जरूरत होगी, जहां वर्क शेड बनाया जाएगा। इसके अलावा आपको लगभग 4.32 लाख रुपए के इक्‍विपमेंट की जरूरत पड़ेगी। अगर आप, वर्क शेड किराये पर लेते हैं तो आपको किराये के तौर पर लगभग 2.50 लाख रुपए के खर्च का अनुमान लगाना होगा। यानी कि आपका कैपिटल खर्च 6.82 लाख रुपए का प्रावधान करना होगा। 

 

 

लेने होंगे कौन-से इक्‍विपमेंट 
रिपोर्ट के मुताबिक, आपको फ्रूट वाशिंग टब, पल्‍प एक्‍सट्रेक्‍टर्स, स्‍टीम केतली, बेबी बॉयलर, फ्रूट मिल, ट्रे ड्रायर, तोलने की मशीन, यूटेंसिल, टेस्टिंग इंस्‍ट्रुमेंट आदि लेने होंगे। 

 

 

कितनी चाहिए वार्किंग कैपिटल 
आपको प्रोजक्‍ट रिपोर्ट में अपनी वर्किंग कैपिटल का जिक्र करना होगा, जिसमें साल भर का रॉ मैटेरियल 17.60 लाख रुपए, लेबल पैकेजिंग 2 लाख, वेजेज एंड सैलरी लगभग 11 लाख रुपए, एडमिनिस्‍ट्रेटिव खर्च 1.5 लाख, ओवरहेड 2 लाख, अन्‍य खर्च 1.25 लाख, ओवरहेड 2 लाख, डेप्रिशिएसन 55 हजार रुपए, इंश्‍योरेंस, ब्‍याज पर 1.73 लाख रुपए खर्च होंगे। यानी कि आपको साल भर की वर्किंग कैपिटल के तौर पर 37 लाख रुपए की जरूरत होगी और लोन के लिए बनाई जाने वाली प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट में आपको दो माह के लिए वर्किंग कैपिटल के तौर 6 लाख 22 हजार रुपए का खर्च दिखाना होगा। यानी आपको कुल प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट 12 लाख 82 हजार रुपए हो जाएगी। 

 

आगे पढ़ें : कितना होगा फायदा 

यह भी पढ़ें : Amul के साथ बिजनेस का मौका, फ्रेंचाइजी के लिए नहीं देनी होगी रॉयल्‍टी फीस, होगा ज्‍यादा फायदा

 

कितना होगा फायदा 
प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट में आपको बताना होगा कि आपकी प्रोजेक्‍टेड सेल्‍स कितनी होगी। KVIC की रिपोर्ट के मुताबिक आपकी साल भर की प्रोजेक्‍टेड सेल्‍स 43 लाख रुपए होगी और आपका कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन 37 लाख 36 हजार रुपए आएगा। यानी आप साल भर में लगभग 5.63 लाख रुपए का लाभ कमा सकते हैं। 
 

आगे पढ़ें : कैसे करें अप्‍लाई 

 

 

कैसे करें अप्‍लाई 
अगर आप प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत लोन लेना चाहते हैं तो इसके लिए ऑनलाइन अप्‍लाई कर सकते हैं। जिसका लिंक है : https://www.kviconline.gov.in/pmegpeportal/jsp/pmegponline.jsp पूरी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें : https://www.kviconline.gov.in/pmegp/pmegpweb/docs/commonprojectprofile/PROJECT%20PROFILE%20ON%20FRUIT%20BARS.pdf

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट