Home » SME » OpportunityLow cost Business: How can start a Ayurvedic products unit

आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट्स के बिजनेस के लिए सरकार दे रही 90% लोन, 4 लाख तक हो सकती है इनकम

4 से 7 लाख रुपए में शुरू हो सकती हैं Ayurvedic products बनाने की यूनिट

1 of


नई दिल्‍ली. मोदी सरकार के प्रयासों के देश में योग और आयुर्वेद का चलन बढ़ा है। इसको और बढ़ावा देने के लिए सरकार आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट्स (Ayurvedic Products) बनाने की यूनिट लगाने के लिए प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP) के तहत 90 फीसदी तक लोन और 15 से 25 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है। अगर आप भी कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप सरकार की इस स्‍कीम का फायदा उठा सकते हैं। खादी विलेज इंडस्‍ट्रीज कमीशन (KVIC) के सैंपल प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल में चार तरह के आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट्स के प्रोजेक्‍ट्स शामिल किए गए हैं। इनकी प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट 4 से 7 लाख रुपए है और आप साल भर में 4 लाख रुपए तक कमा सकते हैं। 

 

1- शुरू करें आयुर्वेदिक वटी गुटिका 
आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट्स में वटी गुटिका की अच्‍छी खासी डिमांड है। अगर आप वटी गुटिका बनाने की यूनिट लगाना चाहते हैं तो KVIC के प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, आपके प्रोजेक्‍ट की कॉस्‍ट लगभग 5.06 लाख रुपए आएगी, जिसमें मशीनरी-इक्विपमेंट, वर्किंग कैपिटल, वर्कशॉप का किराया आदि शामिल है। इस कॉस्‍ट में आप साल भर में लगभग 20 हजार वाटिका तैयार करेंगे, जिसे बेचकर आपका सालाना टर्नओवर 15 लाख रुपए आएगा और आपकी साल भर का कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन लगभग 11.54 लाख  रुपए आएगा। यानी आप लगभग 3.45 लाख रुपए का प्रॉफिट हो सकता है। 

 

2- शुरू करें आयुर्वेदिक चूर्ण बनाने की यूनिट 
केवीआईसी की रिपोर्ट के मुताबिक आप 4.76 लाख रुपए की प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट में आयुर्वेदिक चूर्ण बनाने की यूनिट शुरू कर सकते हैं। इसमें शेड का किराया, इक्विपमेंट्स और एक माह की वर्किंग कैपिटल शामिल है। इस प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट से आप लगभग 65 हजार कंटेनर्स का प्रोडक्‍शन कर सकते हैं, जिसकी प्रोडक्‍शन कॉस्‍ट 13.41 लाख रुपए आएगी। आपकी टोटल सेल्‍स 16 लाख रुपए होगी। यानी कि आपको लगभग 2.58 लाख रुपए की इनकम होगी। 

 

आगे पढ़ें : और प्रोडक्‍ट्स के बिजनेस के बारे में 

3- शुरू करें आयुर्वेदिक अश्‍वा, अरिस्‍ता, क्‍वथा, सिरप की यूनिट 
केवीआईसी ने आयुर्वेदिक अश्‍वा, अरिस्‍ता, क्‍वथा, सिरप की यूनिट की भी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार की है। इसके मुताबिक, 7 लाख 65 हजार रुपए की प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट से आप लगभग 18 हजार बोतल सिरप तैयार कर सकते हैं। इसकी कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्शन 16 लाख 90 हजार रुपए आएगी और कुल सेल्‍स 20 लाख रुपए होगी। यानी कि आप लगभग 3 लाख 9 हजार रुपए की बचत कर सकते हैं। 

 

 

 

4- शुरू करें आयुर्वेदिक कैप्‍सूल बनाने की यूनिट 
खादी एवं विलेज इंडस्‍ट्री कमीशन ने ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए प्रोजेक्‍ट प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल तैयार किए हैं। इसके मुताबिक, अगर आप आयुर्वेदिक कैप्‍सूल बनाने की यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो आपकी प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट 4 लाख 47 हजार रुपए आएगी। इस कॉस्‍ट से आप 20 लाख कैप्‍सूल बना सकते हैं। प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट में शेड का किराया, इक्विपमेंट्स और एक माह की वर्किंग कैपिटल शामिल है। इस प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के आधार पर पीएम रोजगार योजना के तहत लोन ले सकते हैं। प्रोजेक्‍ट शुरू होने के बाद कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन लगभग 11 लाख 72 हजार रुपए होगी, जबकि आप सेल्‍स लगभग 15 लाख रुपए होगी। यानी कि लगभग 3 लाख 28 हजार रुपए का ग्रोस सरप्‍लस होगा।

 

आगे पढ़ें : कैप्‍शूल की यूनिट के बारे में 

4- शुरू करें आयुर्वेदिक कैप्‍सूल बनाने की यूनिट 
खादी एवं विलेज इंडस्‍ट्री कमीशन ने ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए प्रोजेक्‍ट प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल तैयार किए हैं। इसके मुताबिक, अगर आप आयुर्वेदिक कैप्‍सूल बनाने की यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो आपकी प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट 4 लाख 47 हजार रुपए आएगी। इस कॉस्‍ट से आप 20 लाख कैप्‍सूल बना सकते हैं। प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट में शेड का किराया, इक्विपमेंट्स और एक माह की वर्किंग कैपिटल शामिल है। इस प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के आधार पर पीएम रोजगार योजना के तहत लोन ले सकते हैं। प्रोजेक्‍ट शुरू होने के बाद कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन लगभग 11 लाख 72 हजार रुपए होगी, जबकि आप सेल्‍स लगभग 15 लाख रुपए होगी। यानी कि लगभग 3 लाख 28 हजार रुपए का ग्रोस सरप्‍लस होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट