Home » SME » OpportunityBusiness plan : fruit jam and squash business will start with low investment

9 लाख रु. में शुरू करें फ्रूट जेम, स्‍क्‍वॉश का बिजनेस, हर साल हो सकता है 10 लाख प्रॉफिट

मार्केट संभावनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार भी इस प्रोजेक्‍ट को उद्यमी मित्र स्‍कीम के तहत लोन भी दे रही है

Business plan : fruit jam and squash business will start with low investment

नई दिल्‍ली. देश में 2018 से 2023 के बीच फ्रूट जैम, स्‍क्‍वॉश और कॉकटेल मार्केट 3.5 फीसदी की दर से बढ़ेगा। मिनिस्‍ट्री ऑफ एमएसएमई के एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। जैम और जैली को फूड सप्‍लीमेंट आयटम के तौर पर इस्‍तेमाल किया जाता है, इसलिए जिस तेजी से रेडी-टू-ईट प्रोडक्‍ट्स की मार्केट बढ़ रही है, उसी तेजी से जैम, स्‍क्‍वॉश का मार्केट बढ़ रहा है। ऐसे में, यदि आप कोई बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं तो आपको फ्रूट जैम, स्‍क्‍वॉश का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। मार्केट संभावनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार भी इस प्रोजेक्‍ट को उद्यमी मित्र स्‍कीम के तहत लोन भी दे रही है। 

 

कितने में शुरू होगा बिजनेस 
उद्यमी मित्र स्‍कीम के तहत सरकार द्वारा तैयार किए गए मॉडल प्रोजेक्‍ट के मुताबिक, फ्रूट जैम, स्‍क्‍वॉश और कॉकटेल की यूनिट लगाना चाहते हैं तो आपके पास 9.08 लाख रुपए होने चाहिए। जबकि पूरे प्रोजेक्‍ट की कॉस्‍ट 36.30 लाख रुपए आएगी। इसमें 12 लाख रुपए की प्‍लांट एंड मशीनरी, फर्नीचर पर 1.5 लाख, अन्‍य एसेट पर 1.2 लाख और वर्किग कैपिटल के तौर 21.60 लाख रुपए शामिल हैं। इसमें से 27.23 लाख रुपए का आपका बैंक से लोन सेंक्‍शन हो जाएगा। 

 

कौन सी मशीनरी चाहिए 
अगर आप यह यूनिट लगाना चाहते हैं तो आपको कई तरह की मशीनरी की जरूरत पड़ेगी। जैसे कि - पल्पियर, जूस एक्‍सट्रेक्‍टर, मिक्‍सर, ग्राइंडर, सलाइसर, कैप सीलिंग मशीन, बॉटल वाशिंग मशीन, कार्टून सीलिंग मशीन की जरूरत होगी। इस तरह की यूनिट आप लगभग सालाना लगभग 30 टन प्रोडक्‍शन कर सकते हैं। यदि आप इससे बड़ी यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो आपको पूरी तरह ऑटोमेटिक प्रोडक्‍शन यूनिट लगाना होगा। 

 

कितना होगा प्रॉफिट 
इस रिपोर्ट के मुताबिक, यदि आप पहले साल में अपनी कैपेसिटी का 60 फीसदी यूटिलाइजेशन ही कर पाते हैं तो आपकी कुल सेल्‍स्‍ा 64.80 लाख रुपए होगी। इसमें से रॉ मैटिरियल और अन्‍य खर्चे 44.64 लाख रुपए के होंगे। इसी तरह ग्रोस मार्जिन 20.16 लाख रुपए होगा, इसमें ओवरहेड 3.90 लाख रुपए और लोन पर ब्‍याज (10 फीसदी) 2.72 लाख और डेप्रिशिएसन (30 फीसदी) 3.60 लाख रुपए को कम कर दिया जाए तो आपका नेट प्रॉफिट 9.93 लाख रुपए होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले साल कैपेसिटी का 70 फीसदी यूटिलाइजेशन होने पर 14.13 लाख रुपए नेट प्रॉफिट होगा। 


यहां से मिलेगा सपोर्ट 
यदि आप बिजनेस को लेकर संशय में हैं तो आप http://www.udyamimitra.in पोर्टल के माध्‍यम से सरकारी सपोर्ट भी ले सकते हैं। जैसे कि आपको लोन के लिए अप्‍लीकेशन फाइलिंग, प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार करना, एंटरप्रेन्‍योरशिप डेवलपमेंट, फाइनेंशियल ट्रेनिंग, स्किल डेवलपमेंट, मेंटरिंग जैसे सपोर्ट इस पोर्टल के माध्‍यम से मिल सकते हैं। इतना ही नहीं, आपको यूनिट शुरू करने के लिए मशीनरी कहां से ली जाए आदि जानकारी भी दी जा रही है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट