Home » SME » Opportunityearn approx one lakh rupees to start this business इस बिजनेस को शुरू कर कमा सकते हैं 1 लाख रुपए

लगाएं डिस्‍पोजेबल कैटरिंग प्रोडक्‍ट्स की यूनिट, हो सकती है 1 लाख तक मंथली इनकम

डिस्‍पोजेबल कप, प्‍लेट, बाउल जैसे प्रोडक्‍ट्स की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है।

1 of

नई दिल्‍ली। डिस्‍पोजेबल कप, प्‍लेट, बाउल जैसे प्रोडक्‍ट्स की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है। अगर आप बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप ये डिस्‍पोजेबल कैटरिंग प्रोडक्‍ट्स बनाने की यूनिट लगा सकते हैं। इस पर खर्च भी ज्‍यदा नहीं आएगा। केवल 2 से 3 लाख रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट से आप यह बिजनेस शुरू कर सकते हैं। पहले पहल आपको 50 हजार रुपए महीना इनकम होगी, लेकिन बाद में काम जमने के बाद आप 1 लाख रुपए तक की इनकम कर सकते हैं। 

 

आज हम आपको बताएंगे कि यह यूनिट कितने में शुरू की जा सकती है और कैसे आप इसे आगे बढ़ा सकते हैं। 

 

छोटी मशीन से काम करें शुरू 
डिस्‍पोजेबल कैटरिंग प्रोडक्‍ट की मांग अर्बन और रूरल दोनों में होती है। रूरल एरिया में अधिकतर पेपर प्‍लेट की मांग होती है। इसके लिए छोटी मशीनों से काम किया जा सकता है।  पेपर कप-प्‍लेट ऑटोमैटिक मशीन का बाजार में प्राइस 2 से 3 लाख रुपए के बीच है। मशीन लेने के बाद आपको रॉ मटेरियल खरीदना होता है इसके बाद आप काम शुरू कर सकते हैं।

 

थर्मोकॉल  प्‍लेट में होता है फायदा 
थर्मोकोल प्रोडक्‍ट में है बड़ा फायदा। पॉलीथिन के विभिन्‍न जगहों पर प्रतिबंध लगने के बाद थर्मोकॉल  व पेपर प्रोडक्‍ट का चलन बढ़ा है। थर्मोकॉल  कप-प्‍लेट बनाने की मशीन खरीदने के लिए भी आपको 2 से 3 लाख रुपए खर्च करने होंगे। अपनी मार्केटिंग क्षमता के अनुसार आपको चुनाव करना होगा कि पहले आप क्‍या प्रोडक्‍ट बेच सकते हैं। इसके बाद आप रॉ मटेरियल खरीद कर अपने घर या किसी दुकान में बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें : कैसे कमाएं 1 लाख रुपए 

 

कैसे कमाएं 1 लाख रुपए 
मैन्‍युफैक्‍चरिंग शुरू करने के बाद आपको मार्केटिंग भी अच्‍छी करनी होगी जिससे आप हर जगह अपने माल को इंट्रोड्यूस करा सकें। थर्मोकॉल की प्‍लेट को ही अगर मॉडल माने तो एक किलोग्राम रॉ मटेरियल से 300 प्‍लेट तैयार होती हैं। एक किलो थर्मोकॉल  का मटेरियल 200 से 250 रुपए प्रति किलोग्राम मिलता है जबकि, प्‍लेट की बिक्री 200 से 300 रुपए प्रति 100 प्‍लेट होती है। इस तरह कम से कम अगर आप दिन में 1 हजार प्‍लेट भी बनाते हैं तो 60 से 80 हजार रुपए महीना होता है। इसमें से खर्च निकालकर मुनाफा देखें तो शुरूआती समय में 50 हजार रुपए महीना तक कमा सकते हैं। माल तैयार होने के बाद जो वेस्‍टेज बचती है वह भी रिसाइक्लिंग के लिए 50 फीसदी प्राइस पर बिक जाती है।
कंपनियों व रेस्‍टोरेंट से करार कर

 

बढ़ा सकते हैं बिजनेस
‍थर्मोकॉल  के अलावा पेपर कप व बॉउल बनाने की मशीन भी 3 लाख रुपए तक में मिल जाती है। बाजार में कॉफी और कोल्‍डड्रिंक्‍स के लिए पेपर कप व गिलास का इस्‍तेमाल किया जाता है। ऐसे में अगर आप रेस्‍टोरेंट या कंपनियों से करार करने में सक्षम हैं तो उनके लेबल के साथ माल तैयार कर आप सप्‍लाई कर सकते हैं। इस तरह आप लंबे समय तक और सुनिश्चित कमाई का स्रोत तैयार कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें : सरकार भी करती है सपोर्ट 

 

 

सरकार भी करती है सपोर्ट 
सरकार प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत 90 फीसदी तक लोन देती है। खादी ग्रामोद्योग में भी डिस्‍पोजेबल कैटरिंग प्रोडक्‍ट मेकिंग व्‍यवसाय को लिस्‍ट किया गया है। इन सभी योजनाओं में व्‍यवसाय करने के लिए आपको 90 फीसदी तक लोन मिलता है। खादी ग्रामोद्योग व अन्‍य कई योजनाओं में लोन राशि पर देय ब्‍याज पर सब्सिडी का प्रावधान भी मौजूद है। इस प्रोजेक्‍ट को 25 फीसदी तक सब्सिडी भी दी जाती है।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट