Home » SME » OpportunitySTATES MISSED TARGET OF PMEGP

PMEGP पर मोदी सरकार को झटका, एमपी, छतीसगढ़ सहित 12 राज्‍यों का परफॉर्मेंस खराब

रोजगार के लिए प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम पर फोकस कर रही मोदी सरकार को 12 राज्‍यों ने झटका दिया है

1 of

 

नई दिल्‍ली। रोजगार के लिए प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम पर फोकस कर रही मोदी सरकार को 12 राज्‍यों ने झटका दिया है। इनमें भाजपा शासित राज्‍य भी शामिल हैं। मिनिस्‍ट्री ऑफ माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज एमएसएमई) की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये राज्‍य प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉमेंट जनरेशन प्रोग्राम के टारगेट को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। 

 

कौन से राज्‍य पिछड़े 
इस रिपोर्ट के मुताबिक, मध्‍यप्रदेश, छतीसगढ़, गोवा, झारखंड, तेलंगाना, अरुणाचल प्रदेश, असम, सिक्किम, मिजोरम, मेघालय, दिल्‍ली और लक्ष्‍य द्वीप शामिल हैं। 

 

इन राज्‍यों का परफॉर्मेंस अच्‍छा 

रिपोर्ट में प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम में बेस्‍ट परफॉर्म करने वाले राज्‍यों को नाम भी दिया गया है। इनमें आंध्रप्रदेश, गुजरात, नागालैंड, तमिलनाडु, जम्‍मू कश्‍मीर, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, वेस्‍ट बंगाल और यूपी का नाम शामिल हैं। 

 

क्‍या है राज्‍यों का परफॉरमेंस 
पीएमईजीपी के ई-पोर्टल के मुताबिक, राज्‍यों में युवा बेरोजगार प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (प्रधानमंत्री रोजगार योजना) का लाभ लेने के लिए अप्‍लाई तो कर रहे हैं, लेकिन जिला स्‍तर पर बनी डिस्ट्रिक्‍ट लेबल टास्‍क फोर्स कमेटी द्वारा बैंकों को अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड करने के मामले में 12 राज्‍यों का परफॉर्मेंस खराब है। पोर्टल के मुताबिक - 
- मध्‍यप्रदेश में अप्रैल 2017 से लेकर 25 फरवरी 2018 तक 7794 अप्‍लीकेशन बैंकों को फॉरवर्ड की गई। 
- छतीसगढ़ में 10487 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- झारखंड में 10229 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- गोवा में केवल 74 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- तेलंगाना में 8100 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- अरुणाचल प्रदेश में 508 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- दिल्‍ली में 1692 अप्‍लीकेश फॉरवर्ड की गई। 

 

इन राज्‍यों का परफॉरमेंस है अच्‍छा 

रिपोर्ट बताती है कि कुछ राज्‍य अच्‍छा परफॉर्म कर रहे हैं। जैसे - 
- उत्‍तर प्रदेश में अप्रैल 2017 से लेकर 25 फरवरी 2018 तक 32405 अप्‍लीकेशन बैंकों को फॉरवर्ड की गई। 
- पश्चिम बंगाल में 16275 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 
- तमिलनाडु में 11927 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई। 

 

आगे पढ़ें : क्‍या है पीएमईजीपी 

 

 

क्‍या है पीएमईजीपी 
पीएमईजीपी को प्रधानमंत्री रोजगार योजना भी कहा जाता है। इस स्‍कीम की शुरुआत साल 2008-09 में हुई थी। इस स्‍कीम का मकसद सेल्‍फ इम्‍प्‍लॉयमेंट को बढ़ाना था। इस स्‍कीम के तहत 18 साल से अधिक उम्र का कोई भी व्‍यक्ति सर्विस सेक्‍टर में 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए तक और मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में 10 लाख रुपए से 25 लाख रुपए तक का प्रोजेक्‍ट लगाने के लिए सरकार से लोन ले सकता है। इस स्‍कीम के तहत 90 फीसदी तक लोन दिया जाता है, जबकि रूरल एरिया में प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट का 25 फीसदी और अर्बन एरिया में 15 फीसदी सरकार की ओर से सब्सिडी दी जाती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss