बिज़नेस न्यूज़ » SME » Opportunity2 दिन में सीखें ऑर्गेनिक फार्मिंग के साथ एग्री बिजनेस के गुर, सरकार दे रही है ट्रेनिंग, 7000 रु. है फीस

2 दिन में सीखें ऑर्गेनिक फार्मिंग के साथ एग्री बिजनेस के गुर, सरकार दे रही है ट्रेनिंग, 7000 रु. है फीस

पिछले कुछ सालों में एग्री प्रोडक्‍ट्स (Agri Business) खासकर ऑर्गेनिक (Organic) की डिमांड काफी बढ़ी है।

1 of


नई दिल्‍ली. पिछले कुछ सालों में एग्री प्रोडक्‍ट्स (Agri Business) खासकर ऑर्गेनिक (Organic) 

की डिमांड काफी बढ़ी है। एक रिपोर्ट बताती है कि साल 2020 तक देश में ऑर्गेनिक मार्केट 12 हजार करोड़ रुपए को छू लेगा। देश ही नहीं, विदेशों में भी ऑर्गेनिक प्रोडक्‍ट्स की डिमांड बढ़ रही है। इसी संभावना को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओं को एग्री बिजनेस के गुर सिखाए जा रहे हैं। इसमें,ऑर्गेनिक फार्मिंग की बारीकियां भी बताई जाएंगी। आप भी दो दिन की यह ट्रेनिंग ले सकते हैं। ट्रेनिंग मिनिस्‍ट्री ऑफ स्किल डेवलपमेंट द्वारा संचालित निसबड इंस्‍टीट्यूट द्वारा दी जा रही है। इस दो दिन की ट्रेनिंग के लिए 7000 रुपए फीस ली जा रही है। आइए, आज आज हम आपको बताएंगे कि ऑर्गेनिक फार्मिंग क्‍या है और इसका बिजनेस कैसे किया जा सकता है। सबसे पहले जानते हैं, क्‍या है ऑर्गेनिक फार्मिंग - 

 

क्‍या है ऑर्गेनिक फार्मिंग 
ऑर्गेनिक फार्मिंग टॉक्सिक लोड कम करती है। हवा, पानी, मिट्टी से केमिकल को हटाकर फसल पैदा करने की प्रक्रिया को ऑर्गेनिक फार्मिंग कहा जाता है। जो इन्‍वायरमेंट फ्रेडली होती है, नेचर को नुकसान नहीं पहुंचाती और हमारे शरीर के लिए पूरी तरह फिट होती है।  पिछले कुछ सालों में हमारे देश वासी अपनी हेल्‍थ के प्रति काफी जागरूक हो गए हैं और ऐसे प्रोडक्‍ट्स को अपना रहे हैं, जो उनके शरीर के साथ-साथ इन्‍वायरमेंट को नुकसान नहीं पहुंचाते हों। हालांकि कैमिकल के इस्‍तेमाल से पैदा होने वाले फूड प्रोडक्‍ट्स सस्‍ते होते हैं। बावजूद इसके, जागरूकता के चलते ऑर्गेनिक फार्मिंग से पैदा प्रोडक्‍ट्स की डिमांड बढ़ रही है। 

 

सरकार दे रही है ट्रेनिंग 
सरकार ने देश में ऑर्गेनिक फार्मिंग बिजनेस को प्रमोट करने के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम तैयार किया है। केंद्र सरकार की मिनिस्‍ट्री ऑफ स्किल डेवलपमेंट के अंतर्गत चल रहे इंस्टिट्यूट निसबड ने यह प्रोग्राम तैयार किया है। निसबड द्वारा 18 व 19 अगस्‍त को इसकी ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसकी फीस 7000 रुपए रखी गई है। 

 

क्‍या मिलेगी ट्रेनिंग 
- ऑर्गेनिक फार्मिंग का सिद्धांत 
- ऑर्गेनिक एग्रीकल्‍चर का वर्तमान परिदृश्‍य 
- ऑर्गेनिक फार्मिंग क्‍यों 
- ऑर्गेनिक फार्मिंग के फायदे 
- पारंपरिक खेती को ऑर्गेनिक खेती में कैसे बदलें
- इनपुट मैनेजमेंट 
- सीड एवं प्‍लांटिंग मैनेजमेंट 
- ऑर्गेनिक फार्मिंग सर्टिफिकेशन कैसे हासिल करें 
- न्‍यूट्रिशियन मैनेजमेंट 
- ऑफ फार्म टैक्‍नोलॉजी इनपुट 
- ऑर्गेनिक फील्‍ड एवं क्रॉप मैनेजमेंट 

 

आगे पढ़ें : कैसे करें अप्‍लाई 

यह भी पढ़ें : घर में सामान बनाकर सरकार के पोर्टल पर ऑनलाइन करें बिजनेस, नहीं देना होगा कोई चार्ज

कैसे शुरू करें बिजनेस 
आप ऑर्गेनिक फार्मिंग की बेसिक बातें सीखकर एग्री बिजनेस शुरू कर सकते हैं। ट्रेनिंग के दौरान एग्री बिजनेस के बारे में बताया जाएगा। जैसे कि - 
- स्‍टार्ट अप इंडिया मुहिम के तहत एग्री बिजनेस को कैसे जोड़ा जाए 
- एग्री एंटरप्रेन्‍योर कौन हो सकते हैं 
- एग्री बिजनेस का ओवरव्‍यू, मार्केट साइज, संभावनाएं, डेयरी, ऑर्गेनिक फार्मिंग प्रोडक्‍ट्स, फूड प्रोसेसिंग, पॉल्‍यूटरी एवं सहायक मार्केट 
- कैसे शुरू किया जाए एग्री बिजनेस 
- फार्म से रिटेल यूनिट तक सप्‍लाई चेन कैसे बनाएं 
- अपने प्रोडक्‍ट्स को बेचने के लिए सोशल मीडिया का इस्‍तेमाल कैसे करें 
- ऑर्गेनिक फूड प्रोडक्‍ट्स के लिए फॉरेन मार्केट तक कैसे पहुंच बनाएं 
- अपने बिजनेस का बढ़ाने के लिए सरकारी स्‍कीमों का लाभ कैसे लें।
इसके अलावा ट्रेनिंग के दौरान डेयरी बिजनेस की भी बारीकियां बताई जाएंगी। 

आगे पढ़ें : कैसे करें अप्‍लाई 

 

कैसे करें अप्‍लाई 

 

अगर आप इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में शामिल होना चाहते हैं तो आप इस लिंक पर क्लिक करके रजिस्‍ट्रेशन संबंधी जानकारी ले सकते हैं या फार्म भर सकते हैं। http://www.niesbud.nic.in/docs/2018-19/Programmes/August/EDP-on-Agri-Business-18%20Aug-to-19-Aug-2018.pdf​

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट