Advertisement
Home » स्माल बिज़नेस » ऑपर्च्यूनिटीMSMEs of Maharashtra and Uttarpradesh benefited of credit guarantee scheme

2.63 लाख छोटे कारोबारियों को मोदी सरकार ने दी क्रेडिट गारंटी, महाराष्‍ट्र, यूपी ने उठाया फायदा

मोदी सरकार ने साल 2017-18 के दौरान 2.63 लाख छोटे कारोबारियों को 19 हजार करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी।

1 of

 
नई दिल्‍ली। मोदी सरकार ने साल 2017-18 के दौरान 2.63 लाख छोटे कारोबारियों को 19 हजार करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी। महाराष्‍ट्र, उत्‍तर प्रदेश, गुजरात के छोटे कारोबारियों ने केंद्र सरकार की क्रेडिट गारंटी स्‍कीम का फायदा उठाया, हालांकि हरियाणा, राजस्‍थान जैसे राज्‍य इस स्‍कीम का फायदा नहीं उठा पाए। एमएसएमई डेवलपमेंट कमिश्‍नर की फाइनेंशियल एंड फिजिकल परफॉरमेंस रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। 

 

प्रपोजल घटे 
दिलचस्‍प बात यह है कि रिपोर्ट के मुताबिक साल 2016-17 में 452127 कारोबारियों का क्रेडिट प्रपोजल अप्रूव किया, जबकि साल 2017-18 में 263196 कारोबारियों का क्रेडिट प्रपोजल अप्रूव किए गए। हालांकि 2016-17 में 19931 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई, जबकि साल 2017-18 में 19065 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई। 

 

क्‍या है वजह 
फेडरेशन ऑफ इंडियन माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (फिस्‍मे) के डायरेक्‍टर (पॉलिसी) देवाशीष बंधोपाध्‍याय ने कहा कि पिछले साल मुद्रा स्‍कीम के तहत ज्‍यादातर छोटे कारोबारियों को लोन दिया गया, इसलिए बैंकों ने बड़े लोन को क्रेडिट गारंटी स्‍कीम के तहत लोन दिया, इससे क्रेडिट गारंटी अमाउंट में तो कमी नहीं आई, लेकिन क्रेडिट प्रपोजल लगभग आधे हो गए। इसके अलावा सरकार और आरबीआई के प्रयासों से 25 लाख से कम राशि के लोन पर बैंक क्रेडिट गारंटी स्‍कीम में लोन नहीं देते, इसलिए भी बैंकों ने बड़े अमाउंट वाले लोन को स्‍कीम में जगह दी। 

Advertisement

 

इन राज्‍यों को हुआ फायदा 
क्रेडिट गारंटी स्‍कीम के तहत कुछ बड़े राज्‍यों के कारोबारियों ने अच्‍छा फायदा उठाया। रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार ने सबसे अधिक महाराष्‍ट्र के कारोबारियों को क्रेडिट गारंटी दी। महाराष्‍ट्र के 20224 कारोबारियों को 2386 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई। इसके बाद कर्नाटक के 20845 कारोबारियों को 1967 करोड़ रुपए, तमिलनाडु के 30282 कारोबारियों को 1784 करोड़ रुपए और उत्‍तर प्रदेश के 29266 कारोबारियों को 1666 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई। जबकि गुजरात के 9640 कारोबारियों को 1525 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई। 

Advertisement

 

 

ये राज्‍य पिछड़े 
रिपोर्ट के मुताबिक कई राज्‍य के कारोबारी क्रेडिट गारंटी स्‍कीम का फायदा उठाने के मामले में पिछड़ गए। हरियाणा के 4185 कारोबारियों को 487 करोड़, बिहार के 10572 कारोबारियों को 528 करोड़, आसाम के 7165 कारोबारियों को 467 करोड़, जम्‍मू कश्‍मीर के 11538 कारोबारियों को केवल 259 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी दी गई। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss