बिज़नेस न्यूज़ » SME » Industry Voiceकेरल में थमा कारोबार, टायर इंडस्‍ट्री पर पड़ सकता है बुरा असर

केरल में थमा कारोबार, टायर इंडस्‍ट्री पर पड़ सकता है बुरा असर

केरल से आने वाले नेचुरल रबड़ की सप्‍लाई फिलहाल रूक गई है

Kerala Flood : Industrial output may effect badly

 

नई दिल्‍ली. केरल में आई बाढ़ के कारण जहां प्रदेश में कारोबार पूरी थम गया है। वहीं, केरल से व्‍यापार करने वाले उत्‍तर भारत के व्‍यापरियों पर भी इसका असर दिखने लगा है। खासकर, रबड़ इंडस्‍ट्री पर बुरा असर पड़ा है। केरल से आने वाले नेचुरल रबड़ की सप्‍लाई फिलहाल रूक गई है। इंडस्ट्री सूत्रों का कहना है कि इसका असर आने वाले दिनों में टायर प्रोडक्‍शन पर दिख सकता है।

 

6 लाख टन रबड़ का होता है उत्‍पादन

केरल की नेचुरल रबड़ बहुत प्रसिद्ध है और केरल को विश्‍व का छठा बड़ा रबड़ प्रोड्यूसर माना जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले साल 2017-18 में केरल में लगभग 6 लाख टन रबड़ का प्रोडक्‍शन किया गया, जो देश की लगभग सभी नामी टायर कंपनियां एमआरएफ, सिएट, अपोलो, जेके टायर जैसी कंपनियों को सप्‍लाई किया जाता है।

 

गिर सकता है उत्‍पादन

कोचीन रबड़ मर्चेंट एसोसिएशन के एक बयान में कहा गया है कि वर्तमान में आई बाढ़ के कारण रबड़ का उत्‍पादन प्रभावित हुआ है और रबड़ के आउटपुट में लगभग 13 फीसदी की कमी आ चुकी है।

 

ये कारोबार भी प्रभावित

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रबड़ के अलावा केरल में उत्‍पन्‍न होने वाले चाय, कॉफी व ब्‍लैक पेपर के प्रोडक्शन पर भी असर पड़ रहा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट