Home » SME » Financinggovt will pay 50 thousand PA to your business place

​शुरू करना चाहते हैं अपना बिजनेस तो इस राज्‍य में आधा किराया देगी सरकार

भारत में एक राज्‍य ऐसा है, जहां बिजनेस प्‍लेस का आधा किराया सरकार देती है

1 of


नई दिल्‍ली। अगर आप कोई छोटा या कम इन्‍वेस्‍टमेंट वाला बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो ऑफिस या फैक्‍ट्री के किराये को लेकर आप परेशान हो सकते हैं। लेकिन यदि आपको यह कहा जाए कि आधा किराया सरकार भर देगी तो शायद आपके लिए बिजनेस करना आसान होगा। जी हां, भारत में एक राज्‍य ऐसा है, जहां बिजनेस प्‍लेस का आधा किराया सरकार देती है, ताकि राज्‍य में नए बिजनेस मैन की संख्‍या बढ़ सके। यह राज्‍य ईज ऑफ डुइंग बिजनेस में अव्‍वल नंबर पर रहता है। साथ ही, इस राज्‍य की सरकार द्वारा और भी कई सहूलियतें दी जाती हैं, जिससे इस राज्‍य में बिजनेस काफी आसान है। 

 

कौन सा है राज्‍य 

दरअसल, गुजरात में नया बिजनेस करने पर सरकार द्वारा यह स्‍कीम शुरू की गई है। इसे असिस्‍टेंस इन रेंट टू एमएसई (माइक्रो, स्‍मॉल एंटरप्राइजेज) कहा जाता है। इस स्‍कीम की घोषणा गुजरात सरकार ने एमएसएमई इंडस्ट्रियल पॉलिसी 2015 में की थी। 

 

कितना मिलता है किराया 
अगर आप म्‍युनिस्पिल कॉरपोरेशन या अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी एरिया में बिजनेस करते हैं तो सरकार आपको आधा किराया या 50 हजार रुपए सालाना भुगतान करेगी। अन्‍य इलाकों में बिजनेस शुरू करने पर आपको 50 फीसदी या 25 हजार रुपए सालाना भुगतान किया जाएगा। 

 

आगे पढ़ें : कितने समय तक मिलेगा किराया 

 

कितने समय तक मिलेगा किराया 
गुजरात सरकार की नीति के मुताबिक, यह फाइनेंशियल असिस्‍टेंस आपको 3 साल तक प्रोवाइड कराई जाएगी। इसका मकसद आपके प्रोजेक्‍ट की लिक्विडिटी को इम्‍प्रूव करना है। साथ ही, यह बैंक लोन को मंजूरी मिलने में भी सहायक साबित होता है। 

आगे पढ़ें : कैसे कर सकते हैं अप्‍लाई 

 

 

कैसे कर सकते हैं अप्‍लाई 
अगर आप गुजरात में रहते हैं या गुजरात में बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो उस लोकेशन की पहचान कीजिए, जहां आप बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। इसके बाद आप बिजनेस की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार कर जिला उद्योग केंद्र में संपर्क करें और उन्‍हें रेंट में असिस्‍टेंस की डिमांड करें। आपकी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के आधार पर इस असिस्‍टेंस को मंजूरी मिल सकती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट