Home » SME » FinancingWhat is the rate of interest of business loan in Bank of Baroda

छोटे कारोबारियों को सस्‍ता लोन देगा बैंक ऑफ बड़ौदा, यह है शर्त

जिन कारोबारियों का सिबिल अच्‍छा होगा, उन्‍हें कम ब्‍याज दर पर मिलेगा लोन

1 of

 

नई दिल्ली. छोटे एवं मझोले दर्जे के कारोबारियों (एमएसएमई) को बैंक ऑफ बड़ौदा ने सस्‍ते ब्‍याज दर पर लोन देने की घोषणा की है। बैंक ने कहा है कि जिन कारोबारियों का सिबिल अच्‍छा होगा, उन्‍हें कम ब्‍याज पर लोन दिया जाएगा। बैंक ने इसके लिए सिबिल एमएसएमई रैंक (सीएमआर) को आधार बनाया है। आइए, जानते हैं कि सीएमआर क्‍या है और कैसे आप बैंक की इस घोषणा का फायदा उठा सकते हैं।

 

क्‍या है सीएमआर

सीएमआर, 1 से 10 तक के एक पैमाने पर एमएसएमई की क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर उसे रैंक प्रदान करता है, जिसमें सीएमआर-1 सबसे कम जोखिम वाले एमएसएमई के लिए सर्वोत्तम रैंकिंग होती है और सीएमआर-10 सबसे अधिक जोखिम वाले एमएसएमई की रैंकिंग होती है। सीएमआर जितना कम होगा, एमएसएमई के एनपीए होने की संभावना भी उतनी ही कम होगी। सीएमआर पर आधारित एमएसएमई लोन के जोखिम-आधारित प्राइसिंग को अपनाकर, बैंक ऑफ बड़ौदा देश के अच्छे प्रदर्शन करने वाले एमएसएमई को अब सस्ते ऋण दे सकेगा।


 

क्‍या कहते हैं अधिकारी

बैंक ऑफ बड़ौदा की कार्यकारी निदेशक पपिया सेनगुप्ता ने कहा, ‘‘बैंक ऑफ बड़ौदा, कारोबार को आगे बढ़ाने और ऋण को अधिक सुलभ कराने में इनोवेशन एवं टेक्‍नोलॉजी का उपयोग करता है। हम सिबिल स्कोर के आधार होम लोन पर जोखिम-आधारित प्राइसिंग प्रदान करने वाले भारत के पहले बैंकों में से एक थे और अब हम सिबिल एमएसएमई रैंक के आधार पर एमएसएमई ऋणों पर जोखिम-आधारित प्राइसिंग प्रदान करने वाले अग्रणी बैंकों एवं ऋण-प्रदाता संस्थाओं में से एक हैं।


 

कम सीएमआर वालों को भी मिलता है लोन

इस पॉलिसी के आधार पर कम सीएमआर वाले एमएसएमई को बैंक ऑफ बड़ौदा से 1 वर्ष के एमसीएलआर पर 0.05 प्रतिशत अधिक ब्‍याज दर पर लोन मिल सकता है। सीएमआर आधारित प्राइसिंग से हमें जोखिमों से बेहतर तरीके से निपटने में मदद मिलेगी और पात्र एमएसएमई के लिए शानदार ऋण अवसर भी उपलब्ध होंगे।’’

 

आगे पढ़ें : कितने कारोबारियों को होगा फायदा


 

21 लाख कारोबारियों को मिल सकता है फायदा

ट्रांसयूनियन सिबिल के कॉमर्शियल ब्यूरो के एक विश्लेषण में दिखाया गया है कि सीएमआर-6 या इससे बेहतर सीएमआर वाली 21 लाख ऐसी एमएसएमई हैंजो इस ब्याज दर पॉलिसी का लाभ उठाने के लिए पात्र हैं। नीचे दी गयी सारिणी में सिबिल एमएसएमई रैंक में वितरित देश भर के सभी एमएसएमई का वितरण दिखाया गया है। ऐसे 21 लाख एमएसएमई हैं जिनका सीएमआर रेंज से के बीच है और ये देश के कुल एमएसएमई के 80 प्रतिशत से अधिक हैं।

 

आगे पढ़ें : सस्‍ता लोन लेना हुआ आसान 

 

 

लोन लेना हुआ आसान

ट्रांसयूनियन सिबिल के एमडी एवं सीइओ सतीश पिल्लै ने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने एमएसएमई को रिस्‍क बेस्‍ड प्राइसिंग करके एक अच्‍छा कदम उठाया है। इससे सही दावेदार को लोन मिलने में न केवल आसानी होगीबल्कि उन्‍हें सस्‍ता लोन भी मिलेगा। इससे बैंक को भी लोन के एनपीए होने का खतरा नहीं रहेगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट