Home » SME » Start Upstart papad business with less investment

पापड़ बिजनेस के लिए 4 लाख का सस्ता लोन देगी सरकार, 250 वर्गमीटर स्पेस की है जरुरत

कम इन्वेस्टमेंट में शुरू करें पापड़ बिजनेस

1 of

नई दिल्ली। अगर आप दो लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट से बिजनेस शुरू करना चाहते है, तो पापड़ मेकिंग एक अच्छा बिजनेस हो सकता है। भारत सरकार के उपक्रम नेशनल स्मॉल इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन (NSIC) ने इसके लिए एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है। जिसके जरिए आपको मुद्रा स्कीम के तहत 4 लाख रुपए का लोन सस्ते रेट पर मिल जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार 6 लाख रुपए के टोटल इन्वेस्टमेंट से करीब 30 हजार किलो की प्रोडक्शन कैपेसिटी तैयार हो जाएगी। इस कैपिसिटी के लिए 250 वर्गमीटर जमीन की जरूरत पड़ेगी।

 

टोटल खर्च: 6.05 लाख रुपए

 

टोटल खर्च में फिक्स्‍ड कैपिटल और वर्किंग कैपिटल का खर्च शामिल है।

 

 

फिक्स्‍ड कैपिटल: इसमें हर तरह की डो मशीन, पैकेजिंग मशीन, इक्विपमेंट जैसे तमाम खर्च शामिल है।

 

 

वर्किंग कैपिटल: इसमें स्टाफ की 3महीने की सैलरी, तीन महीने में लगने वाले रॉ मैटेरियल और यूटिलिटी प्रोडक्ट का खर्च शामिल है। इसके अलावा इसमें किराया, बिजली, पानी, टेलिफोन का बिल जैसे खर्च भी शामिल हैं।

 

क्या होना चाहिए जरूरी?

 

 

इसके लिए आपके पास एक जगह होनी चाहिए। अगर आपके पास जगह नहीं है तो इसे रेंट पर लिया जा सकता है, जिसके लिए आपको 3 हजार रुपए महीने तक रेंट देना होगा। मैन पावर में 3 अनस्किल्ड लेबर, 2 स्किल्ड लेबर और एक सुपवाइजर रखना होगा। इन सबकी सैलरी पर 25,000 रुपए खर्च होगा, जो जो वर्किंग कैपिटल में ऐड किया गया है।

 

 

आगे पढ़ें – किन मशीनरी की होगी जरूरत..

लेनी होगी ये मशीनरी

 

शिफ्टर

 

 

डो मिक्सर

 

प्लेटफॉर्म बैलेंस

 

इलेक्ट्रिकली ऑपरेटेड ओवन

 

मार्बल टेबल टॉप, चकला-बेलन

 

एलूमिनियम के बर्तन और रैक्स

 

इतनी चाहिए जगह..

 

पापड़ का बिजनेस करने के लिए 250 वर्ग मीटर का एरिया चाहिए।

 

आगे पढ़ें – सरकार कैसे करेगी मदद..

मुद्रा स्कीम में करें अप्लाई

 

इसमें आपको 2 लाख रुपए अपने पास से लगाना होगा। सरकार की मुद्रा योजना के तहत 4 लाख रुपए तक का लोन मिल जाएगा।

 

कैसे करें अप्लाई?

 

इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें ये डिटेल देनी होगी...

 

नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कि‍तना लोन चाहिए। इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होती। लोन का अमाउंट 5 साल में लौटा सकते हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss