बिज़नेस न्यूज़ » SME » E-Commerceई-कॉमर्स सेक्टर के लिए बनाई जाए रेग्युलेटरी अथॉरिटी, ट्रेडर्स एसोसिएशन ने सरकार के आगे रखी अपनी मांगें

ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए बनाई जाए रेग्युलेटरी अथॉरिटी, ट्रेडर्स एसोसिएशन ने सरकार के आगे रखी अपनी मांगें

देश का ट्रेडर्स वर्ग ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए रेग्युलेटरी अथॉरिटी बनाने की मांग कर रहा है।

traders demand to makes regulatory authority for Ecommerce sectors

नई दिल्ली। देश का ट्रेडर्स वर्ग ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए रेग्युलेटरी अथॉरिटी बनाने की मांग कर रहा है। इसके लिए ट्रेडर्स ने गोलमेज सम्मेलन आयोजित किया है। इस सम्मेलन में ट्रेडर्स ई-कॉमर्स सेक्टर से उनके कारोबार को ही रही परेशानी, सही ट्रेड प्रेक्टिस और इसके लिए ग्युलेटरी अथॉरिटी बनाए जाने को लेकर चर्चा चल रही है। ट्रेडर्स एसोसिएशन सरकार से ई-कॉमर्स पॉलिसी और रेग्युलेटरी अथॉरिटी बनाए जाने की मांग कर रहे हैं।

 

बनाई जाए अथॉरिटी

 

 

ई-कॉमर्स सेक्टर को लेकर देश के अलग-अलग ट्रेडर्स एसोसिएशन ने मिलकर गोलमेज सम्मेलन का आयोजन किया है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया (CAIT) ट्रेडर्स सरकार से ई-कॉमर्स के लिए एक सुदृढ़ नीति बनाने, व्यापार के समान अवसर दिए जाने, डाटा की सुरक्षा और छोटे व्यापारियों को ई-कॉमर्स सेक्टर से जोड़ने की मांग की है। अगर कोई भी कंपंनी नियमों का उल्लघंन करती है उसे सजा दी जाए। ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए रेग्युलेटरी अथॉरिटी का गठन किया जाए।

 

घरेलू व्यापार को किया जाए सुरक्षित

 

CAIT जनरल सेक्रेटरी खंडेलवाल ने कहा की साल 2022 तक देश में डिजिटल इकोनॉमी एक ट्रिलियन डॉलर की हो जाएगी। साल 2030 तक यह कुल अर्थव्यवस्था का आधा हिस्सा यानी 50 फीसदी हिस्सा बन जाएगी। ऐसे में ई-कॉमर्स के लिए एक ठोस, समग्र और मजबूत नीति बनाए जाने की जरूरत है। इससे घरेलू कारोबार भी सुरक्षित रहेगा।

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट