विज्ञापन
Home » Personal Finance » InvestmentKnow about liquid fund and when to invest in it

पर्सनल फाइनेंस / सेविंग्स अकाउंट की बजाय लिक्विड फंड करें निवेश, मिलता है दोगुना तक रिटर्न

जानिए क्या हैं लिक्विड फंड और कैसे शॉर्ट टर्म इंवेस्टमेंट से आप बढ़ा सकते हैं अपना पैसा

Know about liquid fund and when to invest  in it
  • लिक्विड फंड में निवेश के हैं एक से अधिक फायदे। 

नई दिल्ली.

पैसे से पैसा बनाने के लिए निवेश में कई रास्ते हैं। इन्हीं में से एक है लिक्विड फंड। यह एक शॉर्ट टर्म इंवेस्टमेंट स्ट्रैटजी है, जिसमें आप जब चाहें अपना पैसा निकाल सकते हैं। यह पांच मिनट से लेकर 24 घंटे का प्रोसेस होता है, इसके बीच आपके अकाउंट में पैसा आ जाता है। सीए व टैक्स एक्सपर्ट हिमांशु कुमार के मुताबिक अगर आपके सेविंग्स अकाउंट में कुछ पैसा पड़ा है, जिसे आपको आने वाले कुछ दिनों में कहीं इस्तेमाल करना है, तो उसे पैसे को आप थोड़े समय के लिए लिक्विड फंड में निवेश कर सकते हैं। इससे आपको काफी अच्छे रिटर्न्स मिलेंगे।

 

क्या हैं लिक्विड फंड

सरकार के सर्वाधिक रेटिंग वाले प्रोडक्ट, जैसे कि कमर्शियल पेपर, सरकारी बॉन्ड, ट्रेजरी बिल, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट आदि, जिसमें म्युचुअल फंड कंपनियां शेयर मार्केट के जरिए अपने पैसे लगाती हैं, वे लिक्विड फंड कहे जाते हैं। यह डेट म्युच्युअल फंड का एक हिस्सा है जिसमें शॉर्ट टर्म मैच्योरिटी के पेपर्स खरीदे जाते हैं। इसमें भी आपको म्युच्युअल फंड की तरह 6 से 9 फीसदी के बीच इंटरेस्ट मिलता है। यह निवेश में सबसे सुरक्षित फंड कहा जाता है। इसमें 91 दिनों तक की मैच्योरिटी हो सकती है। इस पर शॉर्ट टर्म कैपीटल गेन टैक्स और लॉन्ग टर्म कैपीटल गेन टैक्स लगता है।

 

क्या हैं लिक्विड फंड के फायदे

सबसे पहला फायदा तो यह है कि आपका पैसा इसमें लिक्विड रहता है, यानी जब आप चाहें तब आपका पैसा आपके अकाउंट में आ सकता है। दूसरी बात यह है कि इसमें रिस्क काफी कम रहता है क्योंकि आपका पैसा सिर्फ ऐसे फंड्स में लगाया जाता है जिन्हें सर्वाधिक रेटिंग्स मिली होती हैं। तीसरा फायदा यह है कि यह सेविंग्स अकाउंट से बेहतर है क्योंकि रिटर्न इसमें काफी ज्यादा है और लिक्विडिटी लगभग सेविंग अकाउंट जैसी ही है। इसका चाैथा फायदा यह है कि यह 100 फीसदी ओपन रहता है, जिससे आप कभी भी इसे बाजार में ट्रेड भी कर सकते हैं।

 

उदाहरण के तौर पर अगर आपने एक लाख रुपए एक साल के लिए अपने सेविंग्स अकाउंट में छोड़ रखे हैं, तो उसे लिक्विड फंड में डालना काफी फायदेमंद होता क्योंकि बैंक आपकाे 4 फीसदी इंटरेस्ट देता जबकि लिक्विड फंड में आपको 8 फीसदी तक इंटरेस्ट मिलता।

 

कब करें लिक्विड फंड में निवेश

इस फंड में निवेश सिर्फ तभी करना बेहतर होता है जब आपके पास सरप्लस अमाउंट हो। यानी जब आपकी कोई पॉलिसी मैच्योर हुई हो या आपको कहीं से कोई पैसा मिला हो और उस पैसे को कहीं और निवेश करने में वक्त हो, तो आप उस पैसे को लिक्विड फंड में डाल सकते हैं। अगर आपका पैसा कुछ समय के लिए खाली पड़ा हो तभी इसमें निवेश करना फायदेमंद होता है। ऐसे में अपने पैसे को सेविंग्स या करंट अकाउंट में रखने की बजाय उसे लिक्विड फंड में डाल दें।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन