विज्ञापन
Home » Personal Finance » InvestmentELSS will take only in April, with tax saving, much profit returns

निवेश प्लानिंग / अप्रैल में ही ले लेंगे ELSS तो टैक्स सेविंग के साथ मिलेगा ज्यादा मुनाफे का रिटर्न

एसआईपी में इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ELSS) वाले प्लान चुनेंगे तो तीन फायदे होंगे

ELSS will take only in April, with tax saving, much profit returns
  • ईएलएसएस से आपको तीन फायदे मिलते हैं। एक तो बाजार जब सस्ता होता है तो ज्यादा खरीदारी होती है, और दूसरा बचत की योजना आपके बजट को तनाव में डालने से बचाती है और तीसरा पूरे साल के दौरान आप टैक्स बचा सकते हैं।

नई दिल्ली.  नया वित्तीय वर्ष शुरू हो चुका है। यही वह समय है जब निवेश की सही प्लानिंग से साल भर रिटर्न के साथ टैक्स की बचत का मैनेजमेंट भी सही हो सकेगा। इसलिए हर बार की तरह मार्च आने का इंतजार न करें। बाजार में नए विकल्प आए हैं जो निश्चित ही ज्यादा फायदेमंद हैं। 


ELSS से तीन फायदे  

इस साल में आप टैक्स बचाने के लिए जल्दी से जल्दी मासिक निवेश एसआईपी के जरिए इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ईएलएसएस) में शुरुआत कर सकते हैं। इसके जरिए आपको तीन फायदे मिलते हैं। एक तो बाजार जब सस्ता होता है तो ज्यादा खरीदारी होती है, और दूसरा बचत की योजना आपके बजट को तनाव में डालने से बचाती है और तीसरा पूरे साल के दौरान आप टैक्स बचा सकते हैं।

यह भी पढ़ें : मौजे दान करने के आइडिया से 22 गुना टर्नओवर भी बढ़ा, 24 घंटे में मिल गए 17 लाख रुपए

डेढ़ लाख रुपए का टैक्स बचा सकते हैं 

 इक्विटी में निवेश यानी  ईएलएसएस में निवेश करने से आयकर की धारा 80 सी के तहत सालाना 1,50,000 रुपये का टैक्स बचा सकते हैं। 80 सी के सभी विकल्पों में से ईएलएसएस सबसे कम लॉक इन अवधि वाला विकल्प है जो 3 साल का है, जहां झंझटमुक्त रूप से आप पूंजी का निर्माण कर सकते हैं। साथ ही फंड प्रबंधक के पास यह विकल्प होता है कि वह उन शेयरों का चयन करे, जो आपको अच्छा रिटर्न और लाभांश दे।

यह भी पढ़ें - मोबाइल, लैपटॉप हैक या करप्ट हो जाए तो साइबर बीमा से लें क्लेम

जानिए ईएलएसएस कौनसा सही रहेगा?

सही ईएलएसएस का चयन करना महत्वपूर्ण है और इसके लिए सही रास्ता यह है कि आपको एक वित्तीय सलाहकार की मदद लेनी चाहिए। तमाम म्यूचुअल फंड हाउसों के पास ईएलएसएस उत्पाद हैं लेकिन एक ऐसी स्कीम है जिसका लंबी अवधि में अच्छा ट्रैक रिकॉर्ड है और वह है आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लांग टर्म इक्विटी फंड (टैक्स सेविंग)। इस फंड ने 3, 5, 7 और 10 साल की अवधि में अन्य म्यूचुअल फंडों की तुलना में उचित रिटर्न दिया है। पांच साल की अवधि में इस फंड ने 10.54 फीसदी एक्सआईआरआर की दर से रिटर्न दिया है जबकि 10 साल में ईलएसएस ने 14.3 फीसदी की दर से रिटर्न दिया है। स्थापना के समय से इसने एसआईपी के रूप में 19.6 फीसदी का रिटर्न दिया है जबकि निफ्टी 500 टीआरआई ने 15.4 फीसदी की दर से रिटर्न दिया है। इस फंड ने 3 साल में 10.2 फीसदी, निफ्टी 500 टीआरआई ने 11.6 फीसदी, 7 साल में 14.2 और 13.5 फीसदी, 15 साल में 15.3 और 12.9 फीसदी का रिटर्न दिया है।

यह भी पढ़ें: अनछुए पहलु / कभी खंभों पर केबल के तार खींचते थे, अब बनाया राजधानी का विजन डॉक्यूमेंट

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन