बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Investmentसरकारी योजना- अब वृद्ध नागरिकों को हर माह मिल सकती है 10,000 रुपये तक की पेंशन

सरकारी योजना- अब वृद्ध नागरिकों को हर माह मिल सकती है 10,000 रुपये तक की पेंशन

वरिष्ठ नागरिकों को राहत देने के लिए मोदी सरकार ने प्रधानमंत्र वय वंदन योजना शुरू की है।

Govt doubles PMVVY pension investment limit to 15 lakh, सरकारी योजना- अब वृद्ध नागरिकों को हर माह मिल सकती है 10,000 रुपये तक की पेंशन

न्यूज डेस्क। वृद्धा अवस्था में नागरिकों को राहत देने के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री वय वंदन योजना शुरू की है। इस योजना के तहत 60 साल और उससे अधिक उम्र के नागरिकों को हर माह पेंशन देने का प्रावधान है। न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार हाल ही में सरकार ने इस योजना में निवेश सीमा को दोगुना कर दिया गया है। अब निवेश सीमा 15 लाख रुपए तक हो गई है। अगर कोई व्यक्ति PMVVY योजना में 15 लाख रुपए का निवेश करता है तो उसे पेंशन के रूप में हर माह 10 हजार रुपए मिलेंगे। इस योजना में निवेश की समय सीमा पहले 4 मई, 2017 से 3 मई, 2018 थी, जिसे बढ़ाकर 31 मार्च, 2020 कर दिया गया है।

 

क्या हैं PMVVY

60 वर्ष और उससे ज्यादा उम्र के वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार ने एक पेंशन योजना  शुरू की है, जिसका नाम है प्रधानमंत्र वय वंदन योजना यानी PMVVY. इस योजना में वरिष्ठ नागरिकों को हर माह पेंशन विकल्प चुनने पर 10 वर्षों के लिए 8% की गारंटी के साथ रिटर्न की व्यवस्था की गई है। इस योजना में अगर कोई व्यक्ति वार्षिक पेंशन का विकल्प चुनता है तो उसे 10 वर्षों तक 8.3% की दर से पेंशन मिलेगी। इस पॉलिसी में ऑनलाइन और ऑफलाइन, दोनों तरीकों से निवेश किया जा सकता है।

 

जानिए इस पॉलिसी की कुछ और खास बातें…

- इस योजना में एक बार एकमुश्त पैसा जमा करवाना होता है। यह रकम कम-से-कम 1.50 लाख रुपए और ज्यादा-से-ज्यादा 15 लाख रुपये हो सकती है। निवेश करने वाले को ये अधिकार होगा कि वह ब्याज की रकम पेंशन के रूप में या एकमुश्त ले सकता है।

- ये योजना 60 साल और उससे अधिक उम्र के नागरिकों के लिए है। निवेश सीमा बढ़ने से वरिष्ठ नागरिकों को हर माह अधिकतम 10 हजार रुपए और न्यूनतम 1,000 रुपए पेंशन प्रतिमाह मिलेगी।

- पेंशन की पहली किस्त रकम जमा कराने के एक साल, छह महीने, तीन महीने या एक महीने के बाद ही मिलने लगती है। यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आप इनमें से किस विकल्प का चयन करते हैं।

- 10 वर्ष के पॉलिसी टर्म तक पेंशनर के जिंदा रहने पर जमा रकम के साथ-साथ पेंशन भी दी जाती है।

- पॉलिसी टर्म के 10 वर्षों में पेंशनर की मृत्यु होने पर जमा रकम उत्तराधिकारी को वापस की जाती है। अगर पेंशनर खुदकुशी कर लेता है तब भी जमा रकम वापस मिल सकती है।

- योजना का लाभ लेने की शर्तें इस प्रकार हैं। व्यक्ति ने कम-से-कम 60 साल की उम्र पूरी कर ली हो।  60 साल के बाद उम्र की कोई अधिकतम सीमा नहीं। पॉलिसी का टर्म 10 वर्ष रहेगा।

- इस स्कीम की संचालक एलआईसी की वेबसाइट के अनुसार पेंशन की अधिकतम सीमा एक पेंशनर नहीं, बल्कि उसके पूरे परिवार पर लागू होती है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत एक परिवार से जितने भी लोग पेंशन प्लान लेंगे, उन सबको मिलनेवाली पेंशन की रकम कुल मिलाकर 10,000 रुपये से ज्यादा नहीं होगी। पेंशनर के परिवार में पेंशनर के अलावा जीवनसाथी और उनके आश्रित शामिल हैं।

- योजना में मच्योरिटी से पहले पैसा निकलने का भी विकल्प भी है। अगर पेंशनर को कोई गंभीर बीमारी हो जाती है तो उसके इलाज के लिए जमा की गई रकम का 98% मिल सकता है।

- इस योजना में तीन साल पूरे होने के बाद जमा की गई रकम का 75 प्रतिशत तक लोन मिल सकता है। लोन ली गई रकम पर निर्धारित दर से ब्याज देना होता है।

इस योजना से जुड़ी और अधिक जानकारी एलआईसी की वेबसाइट पर भी मिल सकती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट