Advertisement
Home » Personal Finance » Income TaxBeware of fake refund messages claiming to be from the Income Tax Department

अगर आपके पास भी आया है इनकम टैक्स का ये मैसेज तो हो जाएं सावधान, नहीं तो हो जाएंगे कंगाल

मैसेज में रिफंड के लिए आवेदन की बात कही जा रही है।

Beware of fake refund messages claiming to be from the Income Tax Department

नई दिल्ली। आजकल इनकम टैक्स विभाग की ओर से लोगों को एक मैसेज भेजा जा रहा है। इस मैसेज में इनकम टैक्स  विभाग की ओर से रिफंड क्लेम करने के लिए कहा जा रहा है। इसके लिए विभाग की ओर मैसेज में एक लिंक भी दिया जा रहा है। लेकिन हैरत की बात यह है कि यह मैसेज लोगों के अकाउंट खाली कर रहा है। दरअसल, यह मैसेज इनकम टैक्स विभाग के बजाए हैकर्स की ओर से भेजा जा रहा है। मैसेज में दिए लिंक पर क्लिक करते ही आपकी पूरी जानकारी हैकर्स के पास चली जा रही है।

 

क्या है मैसेज में 

 

दरअसल, लोगों को भेजे जा रहे मैसेज में कहा जा रहा है कि आप इनकम टैक्स रिफंड के लिए फॉर्मल रिक्वेस्ट कर सकते हैं। मैसेज के साथ एक लिंक भी दिया जा रहा है। मैसेज में रिफंड रिक्वेस्ट के लिए इस लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जा रहा है। इस मैसेज में रिफंड होने वाली राशि का भी जिक्र किया जा रहा है। मैसेज में अधिकांश लोगों को https://bit.ly/2UDXocu लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जा रहा है। यह मैसेज अधिकांश उन लोगों को भेजे जा रहे हैं जिनका मोबाइल नंबर इनकम टैक्स ई-फाइलिंग अकाउंट में दर्ज है।

 

ये होता है क्लिक करने पर 


जब कोई व्यक्ति मैसेज में दिए गए लिंक पर क्लिक करता है तो एक नई विंडो खुल जाती है। इस विंडो पर ऊपर की ओर लिंक में कुछ गड़बड़ की बात कही जाती है। साथ ही नीचे एक दूसरे लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है। इस लिंक पर क्लिक करते ही दूसरा पेज खुल जाता है, जो इनकम टैक्स विभाग की साइट जैसा दिखता है। यहां पर आपसे बैंक की डिटेल मांगी जाती है। जहां पर पांच बैंकों के नाम दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त अन्य बैंक का भी विकल्प दिया गया है। 

 

आरबीआई के नाम से की जा रही धोखाधड़ी

 

जब आप लिंक में दिए गए बैंक को चुनते हैं तो आपसे नेटबैंकिग के जरिए लॉग इन करने के लिए कहा जाता है। यदि आप अन्य बैंक का विकल्प चुनते हैं तो फिर नया पेज खुल जाता है। यह पेज भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पेज जैसा है। यहां पर आपको फिर दोबारा से देश में संचालित अन्य बैंकों का विकल्प देकर नेटबैंकिग आईडी और पासवर्ड मांगा जाता है। जैसे ही आप यहां लॉग इन करते हैं, वैसे ही आपकी सारी जानकारी हैकर्स के पास पहुंच जाती है। इसके बाद आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है।

 

इनकम टैक्स विभाग ने किया इनकार

 

इनकम टैक्स रिफंड को लेकर बड़ी संख्या में मैसेज भेजे जाने की जानकारी मिलने के बाद विभाग ने लोगों को चेताया है। विभाग ने कहा है कि उनकी ओर से रिफंड के संबंध में कोई मैसेज नहीं भेजा है। साथ ही विभाग ने मैसेज के साथ भेजे जा रहे लिंक पर क्लिक करने से मना किया है। विभाग का कहना है कि इस प्रकार के लिंक फिशिंग हो सकते हैं जो आपकी जानकारी चुरा सकते हैं। विभाग ने लोगों से कहा है कि वह किसी को भी अपने बैंक अकाउंट, डेबिट कार्ड और सीवीवी की जानकारी न दें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss