बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Retirement » UpdatePAN CARD में छपा हो गलत नाम, ये है इसे बदलने का तरीका

PAN CARD में छपा हो गलत नाम, ये है इसे बदलने का तरीका

केंद्र सरकार और आरबीआई ने तकरीबन हर लेन-देन में पैन कार्ड को अनिवार्य कर रखा है।

1 of
 
सरकार जल्द ही एक ऐसी व्यवस्था लागू करने जा रही है जिसकी मदद से आप महज 48 घंटों के भीतर पैन (Permanent Account Number) कार्ड बनवा सकते हैं। आम तौर पर पैन कार्ड बनवाने में 15 दिन का समय लगता है। बिना पैन कार्ड के न तो बेहतर बचत का रास्ता खुलता है और न अधिकतर कंपनियों में सैलरी मिल पाती है। आज हम आपको इन्हीं से जुड़ी काम की बातें बताने जा रहे हैं।
 
दिलचस्प है कि केंद्र सरकार और आरबीआई ने तकरीबन हर लेन-देन में पैन कार्ड को अनिवार्य कर रखा है। पैसों के इन्वेस्टमेंट के समय भी पैन कार्ड लगाना बेहद जरूरी है। हमनें अपनी पिछली सीरीज में आपको बताया था कि आखिर पैन कार्ड कैसे चुटकियों में बनवाया जा सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर आपने पैन कार्ड बनवा रखा है और उसमें आपका नाम या अन्य जानकारी गलत छप गई हो तो कैसे चंद मिनटों में आप अपना नाम पूरी तरह से सही करवा सकते हैं।
 
ये हैं कुछ आसान स्टेप्स
 
1. दरअसल, ई-मेल के जरिए पैन कार्ड पर अपना नाम सही करवाने के लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा। इस फॉर्म को आप http://www.incometaxindia.gov.in/archive/changeform.pdf से डाउनलोड कर सकते हैं।
 
2. इस फॉर्म के साथ आपको नाम सही करवाने के लिए सबूत के तौर पर दस्तावेज भी देने पड़ेंगे। अगर इनकम टैक्स विभाग की तरफ से हुई गलती के कारण पैन कार्ड पर गलत नाम छपा है तो आप उस दस्तावेज का हवाला दे सकते हैं जिस पर आपका नाम सही छपा है।
 
3. अगर आपने अपना नाम बाद में बदला है तो आपको उस आधिकारिक गजट की कॉपी देनी पड़ेगी जिसमें नाम में बदलाव छापा जाता है।
 
4. इसके बाद आपको ई-मेल के जरिए आयकर विभाग से एक मेल प्राप्त होगा। जिसमें आपके बदले हुए नाम का विवरण दिया जाएगा। बस उसे अप्रूव करने के बाद आपका नाम और पता बदल जाएगा। इसमें कुछ दिन का ही समय लगता है।
 
आगे की स्लाइड में जानिए PAN CARD खो जाने पर कैसे बनवाएं डुप्लिकेट कार्ड...
 
नोटः तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।
 
 
कैसे बनवाएं डुप्लीकेट कार्ड
 
यदि किसी व्यक्ति का पैन कार्ड गायब हो जाए या खो जाए, तो उसका परेशान होना लाजमी है। लेकिन, ऐसे में परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, क्योंकि पैन कार्ड भी डुप्लिकेट बन सकता है। इसके लिए आसान से चार स्टेप्स अपनाने होंगे और आपका पैन कार्ड फिर से आपकी जेब में होगा।
 
जानिए क्या हैं वो चार स्टेप्सः
 
स्टेप 1.

इनकम टैक्स पैन सर्विसेज यूनिट की वेबसाइट पर जाएं। यहां आपको कई विकल्प दिखाई देंगे। इनमें से आप ‘रीप्रिंट ऑफ पैन कॉर्ड’ का विकल्प अपनाना चाहिए। यह उन लोगों के लिए होता है जिन्हें पहले से परमानेंट एकाउंट नंबर (पैन) एलॉट किया जा चुका है, लेकिन उन्हें फिर से पैन कार्ड की जरूरत होती है। इस विकल्प को अपनाने के बाद उस आवेदक को एक नया पैन कार्ड जारी किया जाता है, जिस पर वही नंबर होता है।
 
आगे की स्लाइड में जानिए अन्य 3 स्टेप्स के बारे में...
 
स्टेप 2.
आपको इस फॉर्म के सभी कॉलम भरने होंगे, लेकिन बायें मार्जिन के बॉक्स में किसी पर भी सही का निशान नहीं लगाना है। उसके बाद आपको 105 रुपए का पेमेंट करना होगा। आप चाहें तो क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, डिमांड ड्राफ्ट या चेक के जरिए यह भुगतान कर सकते हैं। यह सारी प्रक्रियाएं पूरी करने के बाद आप जब यह फॉर्म जमा करेंगे, तो आपके सामने एकनॉलेजमेंट रिसीट आएगा।

स्टेप 3.
आप इस रिसीट का प्रिंट निकालें। इस पर 2.5 सेमी गुणे 3.5 सेमी आकार का रंगीन फोटोग्राफ चिपकाएं। अपने हस्ताक्षर करें। अगर आप डिमांड ड्राफ्ट या चेक के जरिए भुगतान किया है, तो उसकी प्रति साथ में लगाएं। फिर इसे आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ और डेट ऑफ बर्थ के प्रूफ के साथ एनएसडीएल के पुणे स्थित कार्यालय में भेज देना चाहिए।

स्टेप 4.
ऑनलाइन आवेदन के 15 दिनों के भीतर एनएसडीएल के कार्यालय में पहुंच जाना चाहिए। इसके 15 दिनों के भीतर आपको अपना डुप्लीकेट पैन कार्ड मिल जाएगा। आप चाहें तो अपने पैन कार्ड की स्थिति जान सकते हैं। इसके लिए आप NSDLPAN टाइप करें, स्पेस छोड़ कर प्राप्ति सूचना नंबर डालें और उसे 57575 पर भेज दें।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट