Home » Personal Finance » Property » Updateटूट सकता है योगी का होम बायर्स को दिया वादा

टूट सकता है योगी का वादा, दिसंबर तक डेवलपर्स 50 हजार अटके फ्लैट देने को तैयार नहीं

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ द्वारा होम बायर्स के साथ किया गया वादा पूरा होता नहीं दिख रहा है।

1 of

नई दिल्‍ली। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ द्वारा होम बायर्स के साथ किया गया वादा पूरा होता नहीं दिख रहा है। रियल एस्‍टेट डेवलपर्स का कहना है कि दिसंबर तक 50 हजार फ्लैट्स नहीं बन सकते। हालांकि कई डेवलपर्स गंभीरता से प्रयास कर रहे हैं, लेकिन 20 हजार फ्लैट ही दिसंबर तक पूरे हो पाएंगे। डेवलपर्स इसकी वजह अथॉरिटी द्वारा सपोर्ट न मिलना बता रहे हैं। वहीं, बायर्स का कहना है कि डेवलपर्स बहाने बनाकर सरकार से छूट लेना चाहते हैं। 

 

क्‍या है वादा 

उत्‍तर प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने होम बायर्स के मुद्दे को उठाते हुए कहा था कि पूरा पैसा देने के बावजूद बायर्स को उनके घर दिलाने में अखिलेश सरकार विफल रही। प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद होम बायर्स को उम्‍मीद थी कि प्रधानमंत्री के दखल के बाद उन्‍हें उनके घर मिल जाएंगे। ऐसा ही कुछ हुआ भी। योगी ने अपने मंत्रियों की तीन सदस्‍यीय कमेटी का गठन किया। जो बायर्स और डेवलपर्स से मिलकर प्रयास करेगी कि बायर्स को उनके घर दिलाए जाएंगे। स्‍वयं मुख्‍यमंत्री ने डेवलपर्स की मीटिंग लेकर निर्देश दिए थे कि 31 दिसंबर तक अटके पड़े प्रोजेक्‍ट्स के 50 हजार फ्लैट बनकर बायर्स को सौंपे जाएं। 

 

20 हजार ही संभव 
कंफेडरेशन ऑफ रियल एस्‍टेट डेवलपर्स एसोसिएशन्‍स (क्रेडाई), पश्चिम उत्तर प्रदेश क्रेडाई के उपाध्यक्ष एवं एबीए कॉर्प के डायरेक्‍टर अमित मोदी ने कहा कि कर्इ डेवलपर्स तेजी से अपना काम कर रहे हैं और लगभग 20 हजार फ्लैट्स दिसंबर तक बन कर तैयार हो जाएंगे। अभी भी यदि अथॉरिटी कुछ रियायत दे दे तो 30 हजार फ्लैट्स बन सकते हैं। 

 

क्‍या है वजह 
मोदी ने कहा कि कई ऐसी दिक्‍कतें हैं, जिसे अथॉरिटी और सरकार को दूर करना चाहिए। जैसे कि फार्मर कॉम्पन्सेशन 500 रुपए प्रति वर्ग मीटर था, लेकिन इस पर ब्‍याज, पेनल्‍टी लगाकर 3000 रुपए प्रति वर्ग मीटर कर दिया गया। जबकि इसमें बिल्‍डर्स का कोई दोष नहीं है। हम मांग कर रहे हैं कि इसे ठीक किया जाए, लेकिन अब तक कोई हल नहीं निकाला गया है। 

 

पजेशन देना शुरू 
बावजूद इसके, कई डेवलपर्स अपने वादे पर खड़े हैं और पजेशन देना शुरू कर दिया है। हम (एबीए कॉर्प) ही एक प्रोजेक्‍ट (क्लियो काउंटी) का पजेशन समय से पहले देने जा रहे हैं। इसी तरह कई और डेवलपर्स भी अगले महीने कई प्रोजेक्‍ट्स का पजेशन शुरू कर देंगे। 

 

फायदा उठाना चाहते हैं बिल्‍डर्स 
नोएडा एस्‍टेट फ्लैट ऑनर्स मेन एसोसिएशन (नेफोमा) के अध्‍यक्ष अन्‍नू खान ने कहा कि सरकार ने डेवलपर्स को सितंबर में 50 हजार फ्लैट तैयार करने के लिए तीन माह का समय दिया था, लेकिन डेवलपर्स ने काम करने की बजाय सरकार और अथॉरिटी पर दबाव बनाकर इस मौके का फायदा उठाना चाहते हैं और ब्‍याज व पेनल्‍टी माफ कराना चाहते हैं। खान ने कहा कि हो सकता है डेवलपर्स की कोई परेशानी हो तो सरकार, अथॉरिटी और डेवलपर्स को कोई बीच का रास्‍ता निकालना चाहिए, लेकिन बायर्स को उनके फ्लैट मिलने चाहिए। 

 

4 को होगी बैठक 
उत्‍तर प्रदेश के मंत्रियों की तीन सदस्‍यीय कमेटी ने 4 दिसंबर को एक बैठक बुलाई है। बैठक में तीनों मंत्री, अथॉरिटी के अधिकारी और डेवलपर्स शामिल होंगे। बैठक में 50 हजार फ्लैट्स बनाने के वादे की समीक्षा होगी, लेकिन बैठक में न बुलाए जाने पर बायर्स नाराज हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट