Home »Personal Finance »Property »Update» Nabard May Finance 10000 Crore For Affordable Housing Schemes

नाबार्ड भी देगा घर बनाने के लिए लोन, 10 हजार करोड़ रुपए का टारगेट रखा

नाबार्ड भी देगा घर बनाने के लिए लोन, 10 हजार करोड़ रुपए का टारगेट रखा
 
नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत रूरल एरिया में बनने वाले घरों के लिए नाबार्ड फाइनेंस करने की योजना तैयार कर रहा है। इस पर करंट फिसकल में नाबार्ड ने लगभग 10 हजार करोड़ रुपए जारी करने का टारगेट रखा है। नाबार्ड द्वारा सरकार से बातचीत की जा रही है कि रूरल एरिया में घर बनाने के लिए एक एसपीवी का गठन किया जाए, जिसे नाबार्ड फाइनेंस करेगा।
 
डायरेक्‍ट अप्रोच का रास्‍ता
 
नाबार्ड के एक अधिकारी ने बताया कि रूरल हाउसिंग एक बड़ा चैलेंज है और हम इस सेक्‍टर को फाइनेंस करने के लिए नया रास्‍ता तलाश रहे हैं। अभ्‍ज्ञी तक नाबार्ड द्वारा रूरल अफोर्डेबल हाउसिंग के लिए लेंडर्स को रिफाइनेंस किया जाता है, लेकिन अब नाबार्ड डायरेक्‍ट अप्रोच का रास्‍ता निकाल रहा है।
 
अधिकारी का कहना है कि शेल्‍टर रिपेयर के साथ साथ नई यूनिट्स के कंस्‍ट्रक्‍शन की पहचान कर ली गई है, जिसे इस योजना में शामिल किया जाएगा।
 
कितने बनने हैं घर
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूरल और अर्बन एरिया के लिए अलग अलग आवास योजना लॉन्‍च की है। अर्बन एरिया में 2 करोड़ और रूरल एरिया में 4 करोड़ घर बनाए जाने हैं और सरकार का टारगेट है कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर 2022 तक देश में ये 6 करोड़ घर बना दिए जाएं।
 
कहां से आएगा पैसा
 
नाबार्ड द्वारा पैसा कहां से लाया जाएगा के जवाब में अधिकारी ने बताया कि सरकार ने इस बार बजट में नाबार्ड का कैपिटल इन्‍फ्यूजन लगभग दोगुना कर दिया है। इसके अलावा नाबार्ड द्वारा लॉन्‍ग टर्म बॉन्‍ड जारी किए जाएंगे, जो 15 साल के लिए होंगे। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY