बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Property » Updateइन 5 सोलर प्रोजेक्‍ट की बदौलत दुनिया में 'चमकेंगे' मोदी, ऐसे मिलेगा आपको फायदा

इन 5 सोलर प्रोजेक्‍ट की बदौलत दुनिया में 'चमकेंगे' मोदी, ऐसे मिलेगा आपको फायदा

सोलर पावर सेक्‍टर में भारत का दबदबा बढ़ता जा रहा है।

1 of

नई दिल्‍ली। सोलर पावर सेक्‍टर में भारत का दबदबा बढ़ता जा रहा है। 121 का इंटरनेशनल सोलर अलायंस बनाने में भारत की महत्‍वपूर्ण भूमिका रही है और अब इस की अगुवाई भी भारत ही कर रहा है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सोलर पावर का जनरेशन टारगेट पांच गुणा बढ़ा कर पूरी दुनिया को चौंका दिया है और सभी अंतर्राष्‍ट्रीय कंपनियों ने भारत में इन्‍वेस्‍टमेंट के लिए फोकस कर दिया। भारत तेजी से टारगेट हासिल करने की दिशा में बढ़ भी रहा है। उम्‍मीद जताई जा रही है कि भारत 2022 तक एक लाख मेगावाट सोलर पावर का जनरेशन शुरू कर देगा। इस कारण ग्‍लोबल वार्मिंग जैसी समस्‍या से जूझ रहे विश्‍व को भी भारत से बहुत उम्‍मीदें जगी है। 

 

आज हम आपको बताएंगे कि कैसे भारत के पांच बड़े सोलर प्रोजेक्‍ट्स की वजह से पूरी दुनिया में चर्चित है और इस वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि हरित आंदोलन के नेता के तौर पर पूरे विश्‍व में छा जाएगी। 

 

इस प्‍लांट ने खींचा दुनिया का ध्‍यान 
सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर में सोलर पावर प्‍लांट का इनागरेशन किया। 382 एकड़ में लगे इस प्‍लांट की लागत 650 करोड़ रुपए है और 18 महीने में बनकर तैयार हुआ है।  यह प्लांट छानबे दादर कला गांव में बना है। फ्रांस की कंपनी एनवॉयर सोलर प्राइवेट लिमिटेड और नेडा की मदद से यह सोलर प्लांट तैयार किया गया है। इसे उत्‍तर प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट माना जा रहा है। ये पूरी तरह से ऑटो मैटिक है। इसे स्वीच ऑन या ऑफ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे लगभग 20 हजार लोगों को बिजली मिलेगी। 

 

इस सोलर पार्क में बनेगी 2000 MW बिजली 
इससे पहले कर्नाटक के तुमाकुरु जिले में दुनिया का सबसे बड़े सोलर पार्क बनना शुरू हुआ। इस पर 16500  करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इसकी क्षमता 2000 मेगावाट होगी, जिसे शक्ति स्‍थल के नाम से जाना जाएगा। यह पार्क 13 हजार एकड़ में 5 गांवों की जमीन पर फैला है। इसे कर्नाटक सोलर पार्क डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा बनाया जा रहा है। 

 

दुनिया का सबसे बड़ा सिंगल लोकेशन प्‍लांट 
जहां भारत में दुनिया का सबसे बड़ा सोलर पार्क बन रहा है, वहीं भारत में सबसे बड़ा सिंगल लोकेशन सोलर प्‍लांट भी है। यह प्‍लांट तमिलनाडु के कमुठी इलाके में बन रहा है। इसकी क्षमता 648 मेगावाट है और लगभग 10 वर्ग किलोमीटर में फैला है। इससे छोटा कैलिफोर्निया के टोपाज सोलर फार्म में सिंगल लोकेशन प्‍लांट है, जिसकी कैपेसिटी 550 मेगावाट है। 

 

आगे पढ़ें : 10 हजार एकड़ में फैला है यह पार्क 

 

10 हजार एकड़ में फैला है यह पार्क 
राजस्‍थान के जोधपुर जिले में बन रहा भाडला सोलर पार्क लगभग 10 हजार एकड़ में फैला है। इस पार्क से 2255 मेगावाट बिजली पैदा होगी। इसमें से एनटीपीसी 125 मेगावाट कैपेसिटी का सोलर प्‍लांट कमीशन भी कर चुका है।  

 

आगे पढ़ें : आंध्र में बन रहा है यह पार्क 

 

 

 

आंध्र में बन रहा है यह पार्क 
इसी तरह आंध्रप्रदेश में बन रहा कुरनुल अल्‍ट्रा मेगावाट सोलर पार्क भी दुनिया भर में चर्चित है। यह पार्क कुरनुल जिले में बन रहा है। इसकी कैपेसिटी 1000 मेगावाट है। यह पार्क 5932.32 एकड़ में फैला है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट