Home » Personal Finance » Property » UpdateGovt increase home loan interest subsidy upto 200 sq meter homes

4BHK तक का घर खरीदना हुआ सस्‍ता, 5 से 6% पर मिलेगा होम लोन

मोदी सरकार ने लोगों को सस्‍ते घर (अफोर्डेबल होम्‍स) मुहैया कराने की दिशा में एक और बड़ा कदम उठाया है।

1 of

नई दिल्‍ली. मोदी सरकार ने लोगों को सस्‍ते घर (अफोर्डेबल होम्‍स) मुहैया कराने की दिशा में एक और बड़ा कदम उठाया है। इससे यदि आप 3 या 4 बेडरूम हॉल किचन (BHK) वाला घर खरीदना चाहते हैं तो आप सरकार की अफोर्डेबल हाउसिंग स्‍कीम का फायदा उठा सकते हैं। इसका फायदा यह होगा कि आपको 3 से 4 फीसदी कम ब्‍याज दर पर होम लोन मिल जाएगा, साथ ही सरकार की अफोर्डेबल हाउसिंग पॉलिसी के तहत मिलने वाले फायदे भी आपको मिलेंगे। 

 

आइए, जानते हैं कि कैसे आप सरकार की स्‍कीम का फायदा उठाते हुए बड़े से बड़ा घर खरीद सकते हैं। 

 

खरीदें 200 वर्ग मीटर साइज का घर  
मंगलवार को केंद्रीय आवास एंड शहरी मामलों के मंत्रालय ने एक बेहद महत्‍वपूर्ण घोषणा की। घोषणा के मुताबिक,  यदि आप 200 वर्ग मीटर यानी लगभग 2152 वर्ग फुट कारपेट एरिया साइज का घर खरीदना चाहते हैं तो आपको प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत मिलने वाली क्रेडिट लिंक्‍ड सब्सिडी स्‍कीम (CLSS) का फायदा मिलता है। अगर आप होम लोन लेते हैं तो आपको होम लोन पर 3 फीसदी कम ब्‍याज देना होगा। यानी कि आपको सीधे-सीधे 2 लाख 30 हजार रुपए की सब्सिडी सरकार देगी। इतने एरिया में 4 बीएचके का फ्लैट आसानी से मिल सकता है। हालांकि इसके लिए आपकी सालाना इनकम 12 से 18 लाख रुपए होनी चाहिए। 

 

160 वर्ग मीटर का घर भी हुआ सस्‍ता 
इसी घोषणा के मुताबिक, यदि आपकी सालाना इनकम 6 से 12 लाख रुपए के बीच में है तो आप 160 वर्ग मीटर तक का घर खरीद सकते हैं। इस पर आपको होम लोन के ब्‍याज में 4 फीसदी (2.35 लाख रुपए) की सब्सिडी मिलेगी। यानी कि आप 1722 वर्ग फुट कारपेट एरिया वाला फ्लैट खरीद सकते हैं। गौरतलब है कि इस साइज में किसी भी एरिया में 3 बीएचके फ्लैट आसानी से मिल जाएगा। 

 

आगे पढ़ें ... 

अब तक मिलता था यह फायदा 
मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिडिल इनकम ग्रुप को दो कैटेगिरी में बांटा हुआ है। सालाना 6 से 12 लाख रुपए इनकम वाले ग्रुप को एमआईजी-वन और 12 से 18 लाख रुपए सालाना इनकम वाले ग्रुप को एमआईजी-2 कैटेगिरी में शामिल किया गया है। अब तक एमआईजी-वन कैटेगिरी को 120 वर्ग मीटर तक कारपेट एरिया वाले घर खरीदने पर सब्सिडी मिलती थी, जबकि एमआईजी-2 कैटेगिरी के लोगों को 160 वर्ग मीटर तक के कारपेट एरिया वाला घर खरीदने पर सब्सिडी मिलती थी। 

 

आगे पढ़ें ... 

 

RBI ने भी दिया तोहफा 
पिछले दिनों आरबीआई ने इकोनॉमिक वीकर सेक्‍शन (ईडब्‍ल्‍यूएस) के लिए हाउसिंग लोन की लिमिट को 28 लाख से बढ़ाकर 35 लाख रुपये कर दिया है। यह लिमिट मेट्रो शहरों के लिए है, जबकि अन्य शहरों में यह सीमा 20 लाख की बजाय अब 25 लाख रुपये कर दी। अनारॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि लिमिट को बढ़ाए जाने से पहली बार घर खरीदने वाले लोगों को बड़ा लाभ होगा, जो अफोर्डेबल हाउस की तलाश में हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट