बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Property » Updateहोम बायर्स के लिए प्रस्‍ताव तैयार करेगा जेपी ग्रुप, सुप्रीम कोर्ट को देगा जवाब

होम बायर्स के लिए प्रस्‍ताव तैयार करेगा जेपी ग्रुप, सुप्रीम कोर्ट को देगा जवाब

जेपी की प्रमुख कंपनी जेपी एसोसिएट्स लिमिटेड जल्‍द ही सुप्रीम कोर्ट के समक्ष एक प्रस्ताव पेश करेगा

Last month, JAL was directed by the court to deposit Rs 1,000 crore

नई दिल्ली. रियल एस्‍टेट ग्रुप जेपी की प्रमुख कंपनी जेपी एसोसिएट्स लिमिटेड (जेएएल) जल्‍द ही सुप्रीम कोर्ट के समक्ष एक प्रस्ताव पेश करेगा। हालांकि इस प्रस्‍ताव की डिटेल पता नही चल पाई है, लेकिन कहा जा रहा है कि इसमें होम बायर्स के हितों का पूरा ख्‍याल रखा जाएगा। 

 

1000 करोड़ जमा कराने के निर्देश 

पिछले महीने, सुप्रीम कोर्ट ने जेएएल को 15 जून तक रजिस्ट्री में 1,000 करोड़ रुपये जमा करने का निर्देश दिया था। यह उस 750 करोड़ रुपये के अतिरिक्त था कि कंपनी पहले से ही होम बायर्स को पैसा लौटाने की बात सुनिश्चित करने के लिए अदालत की रजिस्ट्री में जमा कर चुकी थी।

 

1 माह पहले दिए थे निर्देश

16 मई को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि इस राशि को जमा करने पर भी जेएएल की सहायक कंपनी जेपी इंफ्राटेक लिमिटेड (जेआईएल) के खिलाफ लिक्विडेशन प्रोसिडिंग जारी रहेगी।

 

रिवाइवल की मांग कर रहा है जेपी ग्रुप 

जेएएल इस बात की मांग कर रहा है कि उसे जेआईएल को रिवाइव करने की अनुमति दी जानी चाहिए, क्योंकि इसकी लिक्विडेशन न तो लेनदारों के हित में होगा और न ही होम बायर्स के हित में होगा। 


बायर्स ने दायर की थी याचिका 
जेआईएल के होम बायर्स ने आवास परियोजनाओं को पूरा करने में महत्वपूर्ण देरी के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट से राहत की मांग की थी। याचिका में आगे कहा गया था कि पिछले साल 10 अगस्त को एनसीएलटी में मामला जाने के बाद होम बायर्स को अकेला छोड़ दिया गया था। एनसीएलटी ने 526 करोड़ रुपये का लोन न चुकाने पर आईडीबीआई बैंक द्वारा दायर याचिका स्वीकार करत हुए जेआईएल के खिलाफ इन्‍सोलवेंसी प्रोसेस शुरू करने को कहा था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट