बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Property » Updateइन शहरों में बनेंगे 7650 किमी लंबे एक्‍सप्रेस-वे, 120 की स्‍पीड से दौड़ सकेगी गाड़ी

इन शहरों में बनेंगे 7650 किमी लंबे एक्‍सप्रेस-वे, 120 की स्‍पीड से दौड़ सकेगी गाड़ी

मोदी सरकार ने हाई-वे के साथ-साथ एक्‍सप्रेस-वे बनाने को भी खासी प्राथमिकता दी है।

1 of

नई दिल्‍ली। देश के विकास में हाई-वे का बड़ा रोल होता है, मोदी सरकार ने इसी को देखते हुए हाई-वे के साथ-साथ एक्‍सप्रेस-वे बनाने को भी खासी प्राथमिकता दी है। एक्‍सप्रेस-वे, जहां गाड़ी बेहद तेज गति से दौड़ती है। साथ ही, इन एक्‍सप्रेस-वे के किनारे बसे इलाकों का तेजी से विकास होता है। कुछ साल पहले बने यमुना एक्‍सप्रेस-वे की वजह से ग्रेटर नोएडा व उसके आसपास के इलाकों का तेजी से विकास हुआ है, जो एक उदाहरण मात्र है। यही वजह है कि मोदी सरकार ने देश में एक्‍सप्रेस-वे की संख्‍या बढ़ाने का निर्णय लिया है। 

 

 

कितने बन रहे हैं एक्‍सप्रेस-वे 
मोदी सरकार अभी 6 एक्‍सप्रेस-वे  अंडर कंस्ट्रक्शन है। इसमें से एक एक्‍सप्रेस-वे ( दिल्‍ली ईस्‍टर्न पेरिफेरल) बन कर तैयार है और कुछ दिन बाद प्रधानमंत्री इस एक्‍सप्रेस वे का उद्धाटन करने वाले हैं। इसके अलावा सरकार देश भर में 14 एक्‍सप्रेस-वे बनाने की योजना पर काम कर रही है। आज हम आपको बताएंगे कि ये एक्‍सप्रेस-वे किन शहरों में बनेंगे। 

 

दिल्‍ली से सटे शहरों को होगा फायदा 
दिल्‍ली के चारों ओर दो एक्‍सप्रेस-वे बन रहे हैं। हालांकि इस मकसद दिल्‍ली पर ट्रैफिक का बोझ कम करना है। लेकिन ये एक्‍सप्रेस-वे जिन शहरों में बन रहे हैं, उनको इन एक्‍सप्रेस-वे का जबरदस्‍त फायदा होगा। वेस्‍टर्न एक्‍सप्रेस-वे सोनीपत के उपनगर कुंडली से शुरू होकर गुड़गांव के मानेसर से होते हुए फरीदाबाद के पलवल तक जाता है। इसी तरह ईस्‍टर्न एक्‍सप्रेस-वे पलवल से शुरू होकर गाजियाबाद से होते हुए कुंडली पर मिलेगा। 

 

यूपी में इन शहरों में रहते हैं आप तो ... 
मोदी सरकार ने उत्‍तर प्रदेश के विकास पर खास ध्‍यान दिया है। उत्‍तर प्रदेश में कई नए एक्‍सप्रेस-वे बनाने की योजना पर काम किया जा रहा है। अगर आप दिल्‍ली-हापुड़ हाईवे के आसपास रहते हैं तो आपके लिए सरकार दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेस वे बना रही है। यह एक्‍सप्रेस-वे बनने से रियल एस्टेट सेक्टर में रिवाइवल की उम्मीद है, ऐसा इसलिए हैं कि नोएडा एक्सटेंशन, गाजियाबाद के ज्यादा प्रोडेक्ट इस एक्सप्रेस वे के करीब हैं।वहीं, इस एरिया में रहने वालों के लिए ट्रांसपोर्टेशन भी आसान हो जाएगा।

 

यूपी के इन शहरों में बनेंगे एक्‍सप्रेस-वे 
कानपुर लखनऊ एक्‍सप्रेस-वे : इस एक्‍सप्रेस वे बनने के बाद कानपुर व लखनऊ की दूरी 30 मिनट की रह जाएगी। अभी दो घंटे लगते है। 
बुंदेलखंड एक्‍सप्रेस-वे : यह एक्‍सप्रेस-वे आगरा, झांसी, चित्रकूट व इलाहाबाद से होकर गुजरेगा। 
गंगा एक्‍सप्रेस-वे : यह बनारस, मिर्जापुर, इलाहाबाद, प्रतापगढ़, रायबरेली, उन्‍नाव, कानपुर, कन्‍नौज, हरदोई, फरुखाबाद, शहजहांपुर, बदायूं, बुलंदशहर से होकर गुजरेगा। 
अपर गंगा कनाल एक्‍सप्रेस-वे : यह बुलंदशहर, हरिद्वार, मुजफ्फर नगर, रूड़की से होकर गुजरेगा। 
पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे : 343 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस-वे लखनऊ से बलिया, बाराबंकी, सुल्‍तानपुर, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ व गाजीपुर से होकर गुजरेगा। 

आगे पढ़ें ...

 

 

इन शहरों में बन रहे हैं नए एक्‍सप्रेस-वे 
मुंबई - वड़ोदरा एक्‍प्रेस-वे : लगभग 380 किलोमीटर लंबे इस एक्‍सप्रेस-वे से गुजरात और महाराष्‍ट्र के कई शहरों को फायदा होगा। 
चैन्‍नई पोर्ट- मदुरावैल एक्‍सप्रेस-वे : लगभग 19 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस-वे चैन्‍नई पोर्ट गेट नंबर-10 से शुरू होगा जो कोयुम नदी के साथ-साथ होते हुए कोयमबेडू से मदुरावैल तक जाएगा। 
दिल्‍ली-कटरा एक्‍सप्रेस-वे : जो दिल्‍ली, हरियाणा, पंजाब और जम्‍मू कश्‍मीर के शहरों से होकर गुजरेगा। 
दिल्‍ली-जयपुर एक्‍सप्रेस-वे : 191.5 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस-वे कई शहरों से गुजरेगा। 

 

आगे पढ़ें ... 
 

इन राज्‍यों को भी होगा फायदा 

 

दिल्‍ली-मुंबई एक्‍सप्रेस-वे : यह करीब 1400 किमी लंबा होगा। जो हरियाणा, राजस्‍थान गुजरात, महाराष्‍ट्र के शहरों से होकर गुजरेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट