बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Property » Updateप्रॉपर्टी लेन-देन को आधार से लिंक करने का अभी कोई प्रपोजल नहीं: सरकार ने संसद में बताया

प्रॉपर्टी लेन-देन को आधार से लिंक करने का अभी कोई प्रपोजल नहीं: सरकार ने संसद में बताया

नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि बेनामी प्रॉपर्टी के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए आधार का सहारा लिया जा सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली.    प्रॉपर्टी के लेनदेन को फिलहाल आधार कार्ड से जोड़ने की अभी कोई प्लानिंग नहीं और न ही ऐसा कोई प्रपोजल है। यह जानकारी मंगलवार को केंद्र सरकार ने संसद में एक सवाल के जवाब में दी। शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ऐसी सलाह दी गई है, लेकिन ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है।

 

 

ग्रामीण विकास मंत्रालय ने पहले क्या कहा था? 
- कुछ दिन पहले ग्रामीण विकास मंत्रालय ने ऐसी सलाह दी थी कि 1908 के रजिस्ट्रेशन एक्ट के प्रावधानों के तहत प्रॉपर्टी की खरीद को आधार कार्ड से जोड़ा जाना चाहिए।  इसके अलावा, केंदीय मंत्री पुरी ने  इस आइडिया को बेहतर बताया था। कहा था- " जब सरकार बैंक अकाउंट्स से आधार को लिंक कर रही है तो इससे आगे बढ़कर प्रॉपर्टी को भी आधार से लिंक करने पर विचार किया जा सकता है। 

 

पीएम ने भी दिए थे संकेत 
- इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी संकेत दिया था कि बेनामी प्रॉपर्टी के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए आधार का सहारा लिया जा सकता है। तब भी यह माना गया था कि सरकार प्रॉपर्टी  लेनदेन में आधार को जरूरी कर सकती है। 

 

92 स्कीम्स पर अमल आधार के जरिए

- केंद्र के 19 मंत्रालयों की 92 स्कीम्स में आधार का इस्तेमाल हो रहा है। इनके जरिए एलपीजी सब्सिडी, फूड सब्सिडी और मनरेगा के तहत मिलने वाले फायदे आधार के जरिए मिल रहे हैं।
 

यहां आधार जरूरी
 

1) आइडेंटिटी: केंद्र और राज्य सरकार की कई सर्विसेस में आधार को आइडेंटिटी के तौर पर मंजूर किया जा रहा है। इनमें पासपोर्ट एप्लिकेशन, बैंक या इन्श्योरेंस अकाउंट खोलने, मोबाइल या फोन कनेक्शन लेने जैसी सर्विसेस शामिल हैं।
 

2) वोटर आईडी: वोटर लिस्ट में कई बार एक ही शख्स का नाम कई जगह दर्ज रहता है। इसकी जांच के लिए आधार का इस्तेमाल हो रहा है। अब इलेक्शन कमीशन ने वोटर आईडी पर आधार नंबर देना भी शुरू कर दिया है।
 

3) बैंक: अकाउंट खोलने और 50 हजार से ज्यादा के ट्रांजैक्शन पर भी आधार जरूरी कर दिया गया है।
 

4) पीएफ: इम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (ईपीएफओ) ने इम्प्लॉई को यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) अलॉट किया है। इसका मकसद यह है कि इम्प्लॉई के कंपनी छोड़ने के बाद उसका पैसा आसानी से उसके खाते में ट्रांसफर हो सके। यूएएन को आधार से लिंक किया गया है। इस फैसिलिटी से इम्प्लॉई अपना पीएफ का पैसा सीधा अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर सकता है।
 

5) आईटी रिटर्न: बीते दो सालों से इनकम टैक्स (अाईटी) डिपार्टमेंट ने आधार बेस्ड मेकैनिज्म तैयार किया है। इससे डिजिटल साइन किए जा सकते हैं और आईटी रिटर्न ऑनलाइन भरा जा सकता है। इस साल से सरकार ने पैन के साथ आधार लिंक करना जरूरी कर दिया है, ताकि टैक्स बचाने के लिए एक से ज्यादा अधार का इस्तेमाल नहीं किया जा सके।
 

6) उज्ज्वला योजना: नरेंद्र मोदी सरकार ने गरीबों को फ्री एलपीजी कनेक्शन देने के लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना शुरू की है। इसमें फायदा लेने वाले को आधार देना जरूरी है। इसी से उसकी सब्सिडी ट्रांसफर हो रही है।
 

7) डिजिटल पेमेंट: यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस और हाल ही में लॉन्च किया गया भीम एप आधार बेस्ड मनी ट्रांसफर को सपोर्ट करता है। आईडीएफसी बैंक ने हाल ही में आधार पे शुरू किया है। इसमें मर्चेंट (दुकानदार) को पेमेंट करने के लिए कस्टमर के फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल किया जाता है।
 

8) डीबीटी: डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) आधार बेस्ड सर्विस है। यह ऐसा मेकैनिज्म है, जिसमें सब्सिडी की रकम फायदा पाने वाले के अकाउंट में जाती है। पहले यह कैश या चेक के जरिए दी जाती थी।
 

9) पीडीएस: पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन स्कीम (पीडीएस), यानी राशन कार्ड के जरिए सब्सिडी वाला सामान लेना है, तो उसके लिए भी आधार जरूरी किया गया है।
 

कितनी बढ़ गई आधार की अहमियत
- देशभर में 110 करोड़ में से करीब 67 करोड़ बैंक अकाउंट को आधार से लिंक कर दिया गया है। आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने यह जानकारी दी थी।

 

बैंकों से आधार बनवाने के सेंटर खोलने को कहा गया
- गुरुवार को यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) ने प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर की बैंकों से आधार एनरोलमेंट फैसिलिटी शुरू करने को कहा है। यह फैसिलिटी 10 में से कम से कम एक ब्रांच में शुरू करनी होगी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट