बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Banking » Updateसमय पर नहीं चुका पाए हैं लोन तो न हों परेशान, आपके पास हैं ये 5 राइट्स

समय पर नहीं चुका पाए हैं लोन तो न हों परेशान, आपके पास हैं ये 5 राइट्स

कुछ लोग जानबूझकर लोन नहीं चुकाते हैं। हालांकि मिडिल क्लास फैमिली में अधिकांश लोग फाइनेंशियल दिक्कतों के चलते ऐसा करते हैं।

1 of
 
नई दि‍ल्ली। कुछ लोग जानबूझकर लोन नहीं चुकाते हैं। हालांकि मिडिल क्लास फैमिली में अधिकांश लोग फाइनेंशियल दिक्कतों के चलते ऐसा करते हैं। अगर आप भी किसी कारण बस लोन चुकाने में असमर्थ हैं और बैंक ने आपको डिफॉल्टर घोषित करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए नोटिस भेजा है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपके पास ऐसी स्थिति से निपटने के लिए कई राइट्स हैं।
 
 
नोटिस मिलने से परेशान मत हो
 
अगर आपको लोन नहीं चुकाने को लेकर बैंक से कोई नोटिस मिला है तो परेशान हुए बिना नोटिस को पढ़ें। बैंक से नोटिस मिलने के बाद आपके पास लोन चुकाने के लिए 60 दिन का समय होता है। बैंक के लिए 60 दिन का वक्त देना जरूरी होता है। अगर इस अवधि के अंदर भी आप लोन नहीं चुकाते हैं तो बैंक आपको एक नया नोटिस भेजेगा। इस नोटिस की समय सीमा 30 दिन होगी। यानी, नोटिस मिलने के 30 दिन के अंदर आपको लोन की रकम चुकानी होगी। अगर, इसके बाद भी आप लोन नहीं चुकाते हैं तो बैंक आपके ऊपर सरफेसी एक्‍ट के तहत प्रॉपर्टी की नीलामी की प्रक्रिया शुरू कर सकता है।
 
बैंक अधिकारी से कर सकते हैं सवाल
 
बैंक से नोटिस मिलने पर आप उस बैंक के अधिकारी से मिलकर इसके बारे में पूछ सकते हैं और आपत्ति जता सकते हैं। आपके द्वारा उठाए गए सवाल पर बैंक अधिकारी को सात दिन के अंदर जवाब देना होगा। अगर, अधिकारी आपकी आपत्ति को खारिज करता है तो इसके लिए उसे सही वजह बतानी होगी।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें नीलामी की नोटिस में क्‍या देखें...
तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है। 
प्रॉपर्टी की सही कीमत सुनिश्चित करें
 
अगर, बैंक आपकी प्रॉपर्टी की नीलामी की प्रक्रिया शुरू करता है तो आपको फिर से एक नया नोटिस भेजेगा। इस नोटिस में नीलामी का समय, दिन प्रॉपर्टी की कीमत,रिजर्व प्राइस आदि का ब्योरा होगा। अगर, आपको लगता है कि आपकी प्रॉपर्टी की सही कीमत नीलामी के लिए नहीं लगाई गई है तो आप इसको लेकर आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। फिर आप मार्केट से कोई दूसरा खरीददार जो अधिक कीमत दे रहा है उसे बैंक के सामने प्रपोज कर सकते हैं।
 
नीलामी में मिला ज्यादा पैसा लौटाएगा बैंक
 
बैंक द्वारा की जाने वाली नीलामी को आप ट्रैक कर सकते हैं। वैसे आज कल सभी बैंक ई-नीलामी ही करते हैं। इसलिए नीलामी में पारदर्शिता को लेकर कोई शंका नहीं होती है। अगर,बैंक को आपकी प्रॉपर्टी की नीलामी से  लोन अमाउंट से अधिक पैसा मिलता है तो बैंक आपको वह शेष रकम लौटाएगा।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें बैंक एजेंट गलत व्‍यवहार करें तो क्‍या करें...
बैंक एजेंट गलत व्यवहार नहीं कर सकता
 
बैंक से आपने लोन ले रखा इसके बावजूद बैंक के एजेंट आपसे गलत तरीके से पेश नहीं आ सकता है। बैंक एजेंट आपसे सही शिष्‍टाचार से मिलेगा। साथ ही आपके द्वारा दिए गए समय और स्थान पर आकर ही आपसे मिलेगा। अगर, बैंक एजेंट आपसे गलत व्यवहार करता है तो इसकी शिकायत आप आरबीआई या बैंकिंग लोकपाल कर सकते हैं। आपकी शिकायत पर बैंक के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट